Himachal Pradesh Covid Restriction: हिमाचल प्रदेश में सभी शिक्षण संस्थानों को 1 मई तक बंद करने की घोषणा, पढ़ें डिटेल

1 मई तक नहीं होगा कक्षाओं का संचालन

Himachal Pradesh Covid Restriction सीएम ने कहा कि 22 अप्रैल को कैबिनेट की बैठक में कुछ और महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगेताकि राज्य में संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इससे पहले हिमाचल सरकार ने प्रदेश में सभी शिक्षण संस्थानों को 21 अप्रैल तक बंद रखने की घोषणा की थी

Nandini DubeyTue, 20 Apr 2021 10:58 AM (IST)

Himachal Pradesh Covid Restriction: कोरोनो वायरस के बढ़ते मामले को ध्यान में रखते हुए, हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में सभी शिक्षण संस्थानों को 1 मई तक के लिए बंद करने की घोषणा की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कोविड-19 स्थिति की समीक्षा के लिए एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने नए आदेश जारी किए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में फैकल्टी को अपनी ड्यूटी पर आने की आवश्यकता नहीं है।

सीएम ने कहा कि 22 अप्रैल को स्टेट कैबिनेट की बैठक में कुछ और महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे, ताकि राज्य में संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। बता दें कि इससे पहले, हिमाचल सरकार ने संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए प्रदेश में सभी स्कूलों, कॉलेजों समेत अन्य शिक्षण संस्थानों को 21 अप्रैल तक बंद रखने की घोषणा की थी। यह निर्णय चीफ मिनिस्टर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया था।

वहीं, इससे पूर्व राज्य सरकार ने महामारी के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर 15 अप्रैल तक सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया था। हालांकि, पिछले आदेश में सरकार ने कहा था कि शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारी संस्थानों में आते रहेंगे। वहीं, निकट परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को अपने अभिभावक की सहमति से मार्गदर्शन के लिए स्कूल में आने की अनुमति दी गई थी। इसके अलावा, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी कराने वाले कोचिंग सेंटरों व नर्सिंग, मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में कक्षाओं का संचालन करने की भी छूट दी गई थी।

हालांकि, 9 अप्रैल के आदेश में कहा गया था कि कोचिंग सेंटर, स्कूल और कॉलेज सहित सभी शिक्षण संस्थान 21 अप्रैल तक बंद रहेंगे। गौरतलब है कि महामारी के बढ़ते मामले के बीच कई राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों ने स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी सहित सभी शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.