CBSE Eklavya Series: सीबीएसई और आईआईटी-गांधीनगर ने 30-30 एकलव्य श्रृंखला शुरू की, पढ़ें डिटेल

CBSE Eklavya Series एकलव्य श्रृंखला के तहत प्रत्येक रविवार को एक एपिसोड का आयोजन किया जा रहा है। पहले एपिसोड का आयोजन 26 सितंबर 2021 को किया गया था। जिसमें न्यूटन के गति नियमों के बारे में बताया गया।

Rishi SonwalMon, 27 Sep 2021 11:25 AM (IST)
सीबीएसई और आईआईटी गांधीनगर की साझेदारी से की गई एकलव्य श्रृंखला की शुरुआत

CBSE Eklavya Series: राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) और सेंटर फॉर क्रिएटिव लर्निंग (CCL), आईआईटी गांधीनगर ने 30-30 एकलव्य सीरीज शुरू की है। इस ऑनलाइन इंटरैक्टिव शिक्षा कार्यक्रम को शुरू करने का लक्ष्य स्कूलों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रभावी कार्यान्वयन को डिकोड करना है। इस श्रृंखला के तहत 26 सितंबर, 2021 को पहले एपिसोड में नीरज चोपड़ा एंड न्यूटन्स लॉ ऑफ मोशन के बारे में बताया गया।

बता दें कि एकलव्य सीरीज का आयोजन एनईपी के लक्ष्य को आगे ले जाने के मकसद से किया जा रहा है, जो रटने के बजाय समग्र, अनुभवात्मक और बहु-विषयक शिक्षा पर जोर देती है। साप्ताहिक श्रृंखला का उद्देश्य रचनात्मकता, लीक से हटकर सोच, वैचारिक समझ, अंतःविषय शिक्षा, समस्या को सुलझाने के कौशल और स्कूली छात्रों को सीखने का तरीका बताना है।

प्रत्येक लाइव एपिसोड दिलचस्प वास्तविक दुनिया के उदाहरणों और कहानियों के साथ सिलेबस को कवर करेगा। पहले एपिसोड में न्यूटन के गति के नियमों के बारे में जानकारी दी गई कि क्यों नीरज चोपड़ा ने 36° पर भाला फेंका और पेरिस गन ने 55° पर तोप का गोला क्यों छोड़ा, भले ही पाठ्यपुस्तक कहती है कि प्रोजेक्टाइल 45° पर सबसे दूर जाता है।

30:30 एकलव्य सीरीज के लिए 10 सितंबर से रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं। क्लास का आयोजन यूट्यूब चैनल पर हर रविवार को शाम 4 बजे से 5 बजे तक किया जा रहा है। स्टूडेंट्स और टीचर्स ccl.itgn.ac.in/eklavya पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। क्लास में भाग लेने के लिए कोई फीस जमा नहीं करनी है, लेकिन रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शिक्षकों के लिए पाठ्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा करना और होमवर्क सबमिट करना सीबीएसई द्वारा 30 घंटे के टीचर ट्रेनिंग / कैपेसिटी बिल्डिंग प्रोग्राम के बराबर माना जाएगा। अधिक जानकारी के लिए eklavya@iitgn.ac.in पर ईमेल कर सकते हैं। इस संबंध में सीबीएसई हेड क्वाटर के ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल से भी जानकारी साझा की गई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.