top menutop menutop menu

OnTime Job: देश का पहला ऑनलाइन रिक्रूटमेंट ड्राइव, जो होगा लाइव ब्रॉडकास्ट

अंशु सिंह। अनलॉक 1 एवं 2 के बाद जैसे-जैसे आर्थिक गतिविधियों ने रफ्तार पकड़ी है, उससे बहुत से लोगों, उद्यमियों ने राहत की सांस ली है। यहां तक कि हायरिंग एक्टिविटी में भी इजाफा दर्ज किया गया है। नौकरी जॉबस्पीक इंडेक्स के अनुसार, जून महीने में 33 प्रतिशत अधिक नियुक्तियां हुई हैं। वहीं, कुछ कंपनियों ने ऑनलाइन हायरिंग के जरिये अब फ्रेशर्स को मौका देने का एक अनूठा तरीका भी निकाला है।

‘ऑनटाइम जॉब’ एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जिसने फ्रेशर्स को रिक्रूटर्स से जोड़ने का निर्णय लिया है। आने वाले 18 जुलाई को यह एक ऐसा इवेंट ऑर्गेनाइज करने जा रहा है, जिसमें 2020 के फ्रेशर्स को नई संभावनाएं तलाशने में मदद मिल सकेगी। लाइव रिक्रूटमेंट ड्राइव के लिए प्लेटफॉर्म ने यूट्यूब के शीर्ष चैनल्स के साथ हाथ मिलाया है।

कंपनी के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट चिराग अग्रवाल के अनुसार, क्विकराइड, टॉपर, एक्सट्रामार्क्स, एमएसएस पेमेंट्स, डॉक्विटी, जेनविनमार्क, अर्बनपाइपर जैसी 100 से अधिक कंपनियां इस ऑनलाइन ड्राइव में हिस्सा ले रही हैं। इसमें स्टूडेंट्स को 24 घंटे के अंदर हायर करने का दावा किया जा रहा है। चिराग बताते हैं, हमारे एप से एक कैंडिडेट फुल टाइम, पार्ट टाइम एवं फ्रीलांस तीनों प्रकार की नौकरियों की जानकारी हासिल कर सकता है। राजस्थान के आबू रोड निवासी चिराग ने आइआइटी बॉम्बे से मास्टर्स किया है। देश की एक शीर्ष एनबीएफसी कंपनी में काम करने के अलावा इन्होंने अपनी एक टेक कंपनी भी शुरू की थी।

कुशल युवाओं की मदद के लिए आगे आया नेशनल करियर सर्विस प्लेटफॉर्म: आज मार्केट में फ्रेश डिप्लोमा होल्डर्स से लेकर कॉलेज एवं पॉलिटेक्निक ग्रेजुएट्स नौकरी की तलाश में हैं। यहां तक कि फ्रेश इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स को भी नौकरी के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। ब्लू कॉलर जॉब्स हों या मैकेनिक, वेल्डर, कारपेंटर, प्लंबर या इलेक्ट्रिशियन के जॉब। यहां भी चुनौतियां बड़ी हैं। ऐसे में अलग-अलग कौशल क्षमता एवं अनुभवी उम्मीदवारों की मदद के लिए केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने नेशनल करियर सर्विस (एनसीएस) प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। यहां कोई भी कैंडिडेट अपने रेज्यूमे के साथ 20 सेकंड के तीन वीडियो भी अपलोड कर सकता है, जिसमें उन्हें अपनी स्किल के बारे में बताना होगा। एनसीएस के इस प्लेटफॉर्म को लॉन्च करने में बेंगलुरु स्थित हायरमी कंपनी की बड़ी भूमिका रही है। यह एक वीडियो कैप्चर प्लेटफॉर्म है, जिसका एनसीएस के रजिस्टर्ड कैंडिडेट्स उपयोग कर सकते हैं। इस समय 10 मिलियन से अधिक यूजर्स एनसीएस पोर्टल का इस्तेमाल कर रहे हैं।

मेट्रो शहरों में ज्यादा घटी हैं नौकरियां: इसमें दो मत नहीं कि होटल, रेस्टोरेंट, ट्रैवल, एयरलाइंस, रिटेल, ऑटो एवं बीएफएसआइ जैसे सेक्टर्स में नई नियुक्तियों में गिरावट आई है। लेकिन बीपीओ, फार्मा, बायोटेक, क्लीनिकल रिसर्च, आइटी, सॉफ्टवेयर आदि क्षेत्रों में उम्मीद बरकरार रही। नौकरी डॉट कॉम के मुख्य बिजनेस अधिकारी पवन गोयल कहते हैं, दिल्ली, मुंबई, चेन्नई जैसे मेट्रो सिटीज में नौकरियां ज्यादा घटी हैं। लेकिन एफएमसीजी, अकाउंटिंग, बीपीओ, आइटी-हार्डवेयर, शिक्षा, सेल्स, बिजनेस डेवलपमेंट जैसे सेक्टर्स में नई नियुक्तियां हुई हैं। सबसे ज्यादा रिक्रूटमेंट हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में हुए हैं।

आंकड़ों पर नजर डालें, तो मुंबई में जून महीने में 56 फीसदी कम हायरिंग हुई, वहीं दिल्ली में 54 फीसद, चेन्नई में 52 फीसद, बेंगलुरु में 46 फीसद, हैदराबाद में 45 फीसद, कोलकाता में 44 फीसद एवं पुण में 42 फीसद की गिरावट दर्ज की गई। पवन गोयल ने नौकरी जॉबस्पीक इंडेक्स तैयार करने की विधि के बारे में बताया कि नौकरी डॉट कॉम पर हर महीने होने वाली जॉब लिस्टिंग के आधार पर गणना की जाती है कि आखिर कितनी हायरिंग हुई यानी इसका उद्देश्य ही यह पता लगाना है कि समय-समय पर विभिन्न उद्योगों, शहरों आदि में कितनी नियुक्तियां होती हैं। ये नौकरियां व्हाइट कॉलर जॉब से लेकर ऑर्गेनाइज्ड सेक्टर के कॉरपोरेट जॉब्स होते हैं, जो सर्विस इंडस्ट्री पर फोकस्ड होते हैं। करीब 76000 से ज्यादा क्लाइंट्स नौकरी डॉट कॉम का प्रयोग करते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.