अस्वीकरण : यह नक्शा केवल रचनात्मक उदाहरण के तौर पर इस्तेमाल किया गया है, इसे संदर्भ उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए

सहयोग से समाधान: सुरक्षा से संतुष्ट ग्राहकों ने जताया भरोसा तो चमका कारोबार!

मन में हो विश्वास हिम्मत न हार के मंत्र को शिरोधार्य कर लिया जाए तो फिर किसी भी विपदा से बखूबी निकला जा सकता है। फरीदाबाद के साबू एंटरप्राइजेज के प्रोपराइटर आनंद साबू ने इसी मंत्र का सहारा लिया तो उन्होंने कोरोना संकट से भी पार पा लिया।
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 12:43 AM (IST) Author:

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद। मन में हो विश्वास, हिम्मत न हार के मंत्र को शिरोधार्य कर लिया जाए, तो फिर किसी भी विपदा से बखूबी निकला जा सकता है। फरीदाबाद के साबू एंटरप्राइजेज के प्रोपराइटर आनंद साबू ने इसी मंत्र का सहारा लिया, तो उन्होंने कोरोना संकट से भी पार पा लिया। प्लाईवुड, सनमाइका, वॉल पेंटिंग और इंटीरियर वेराइटी के कारोबार से जुड़े साबू एंटरप्राइजेज ने इन्हीं गुणों की बदौलत पूरे जिले में अपनी अलग पहचान भी बनाई है। कोरोना संकट के दौरान सुरक्षा के उपाय किए गए, जिससे संतुष्ट ग्राहकों ने उनके कारोबार की रफ्तार को सुस्त नहीं पड़ने दिया। उन्होंने ग्राहकों का विश्वास जीतकर दो बार लगातार देश भर में ड्यूरो प्लाई की सर्वाधिक बिक्री का भी रिकॉर्ड बनाया है। अपनी इस मेहनत के लिए आनंद साबू को श्रेष्ठ डीलर का अवॉर्ड भी मिला है। 

1986 में शुरू किया कारोबार, धीरे-धीरे कारवां बढ़ता गया

आनंद साबू बताते हैं कि उन्होंने 1986 में एक लाख रुपये की लागत से कारोबार शुरू किया था। शुरुआती दौर में सिर्फ प्लाई का काम किया। धीरे-धीरे काम बढ़ा, तो सनमाइका का भी काम शुरू कर दिया। आज उनके शोरूम में वॉल फीटिंग और इंटीरियर की बहुत वेराइटी है। वर्ष 2005 में उन्होंने 25 लाख रुपये का लोन लेकर कारोबार को गति दी। कोरोना के शुरुआती दिनों में उन्हें भी कुछ नुकसान हुआ, लेकिन फिर वह संभल गए। आइए जानते हैं कि उन्होंने कोरोना से पैदा हुई कठिनाइयों पर कैसे जीत हासिल की: 

समाधान 1: नए शोरूम का काम लॉकडाउन में भी रहा जारी 

कोरोना के शुरुआती लॉकडाउन यानी मार्च में 225 वर्ग गज की एक और दुकान खरीदी गई। नए शोरूम के लिए खरीदे गए इस स्पेस पर काम नहीं रोका गया। सकारात्मक सोच से इसे आगे बढ़ाया गया। आज ये पांच मंजिला शोरूम ग्राहकों की सेवा में तत्पर है। 

समाधान 2: ग्राहक संतुष्टि सर्वोच्च प्राथमिकता

आज नए शोरूम में जब भी कोई ग्राहक आता है, तो सर्वोच्च प्राथमिकता उसकी संतुष्टि की ही रहती है। अब यहां घरेलू इंटीरियर का सारा सामान रखेंगे। फैंसी लाइट, डोर, पर्दे, वॉलपेपर, बिजली उपकरण और हाार्डवेयर का सारा सामान उपलब्ध कराया जाएगा। कोरोना के बाद उपजे हालात में भी संतुष्ट ग्राहकों का साथ उन्हें आगे बढ़ने में मदद कर रहा है। 

समाधान 3: क्वॉलिटी से कोई समझौता नहीं, शिकायतों को तुरंत निपटाया

अक्सर लोग ज्यादा मुनाफे के चक्कर में क्वॉलिटी के साथ समझौता कर देते हैं। यहां गुणवत्ता का खास ध्यान रखा गया। ग्राहकों की कभी छोटी-मोटी शिकायत आती है, तो उसे तुरंत दूर करने की कोशिश करते हैं। उनका सक्सेस मंत्र ग्राहकों की सेवा को सर्वोपरि मानना है, जो कारोबार की बढ़त के लिए अनिवार्य है। 

(साबू एंटरप्राइजेज के प्रोपराइटर आनंद साबू )

समाधान 4: कोरोना से सेफ्टी का पूरा ख्याल 

कोरोना के संकट के दौरान इससे बचाव के सभी उपाय अपनाए जा रहे हैं। सामान लेते समय ग्राहक मास्क पहने हों, शारीरिक दूरी का पालन हो और हाथों को सैनिटाइज करना प्राथमिकता में शामिल है। इसकी वजह से ग्राहक भी शोरूम में आने में सुरक्षित महसूस करते हैं। 

अब काम को मिलने लगी है गति

आनंद साबू बताते हैं कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें कठिनाई जरूर हुई, लेकिन दोस्तों ने साथ दिया। अब तो स्थिति सामान्य हो रही है। अब तक जीवन में आए उतार-चढ़ाव में, जिन्होंने भी उनका कारोबार में साथ दिया, वह ऐसे 150 से अधिक दोस्तों और सहयोगियों को विशेष यात्रा पर ले गए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.