Maharashtra Flood: उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने सांगली में बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया दौरा; बचाव दल की नौका में सवार हो जाना पीड़ितों का हाल

Maharashtra Flood Newsमहाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और पीड़ितों को राज्य सरकार की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। राज्य के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार और राज्य मंत्री विश्वजीत कदम पवार भी उनके साथ थे।

Babita KashyapMon, 26 Jul 2021 01:24 PM (IST)
अजीत पवार ने सांगली जिले के विभिन्न बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया साभार : @AJITPAWARSPEAKS/TWITTER

पुणे, पीटीआई। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने सोमवार को सांगली जिले के विभिन्न बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और कुछ इलाकों में बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचने के लिए बचाव दल की नौका पर भी सवार हुए। पवार ने बाढ़ प्रभावित लोगों से भी बातचीत की और उन्हें पुनर्वास और राज्य सरकार की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

राज्य के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल, राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार और राज्य मंत्री विश्वजीत कदम पवार बाढ़ प्रभावित भीलवाड़ी और जिले के अन्य इलाकों के दौरे के दौरान उनके साथ थे। उन्होंने भीलवाड़ी में मानसून की तबाही से प्रभावित लोगों तक पहुंचने के लिए एक नाव का इस्तेमाल किया। जिला प्रशासन के अनुसार पवार स्थिति का जायजा लेने के बाद समीक्षा बैठक करेंगे।

एक अधिकारी ने बताया कि इस बीच इरविन पुल पर कृष्णा नदी का जलस्तर सुबह 11 बजे 52.11 फुट था, जबकि खतरे का निशान 45 फुट पर है। राज्य सरकार ने रविवार को कहा कि उसने रायगढ़ और रत्नागिरी जिलों को दो-दो करोड़ रुपये की आपातकालीन वित्तीय सहायता प्रदान की है। बारिश से प्रभावित सतारा, सांगली, पुणे, कोल्हापुर, ठाणे और सिंधुदुर्ग को भी 50-50 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सोमवार को सतारा जिले की पाटन तहसील के कुछ बारिश प्रभावित इलाकों का भी दौरा करेंगे। मुख्यमंत्री ने रविवार को कोंकण क्षेत्र के रत्नागिरी जिले में भीषण बाढ़ के स्थल चिपलून का दौरा किया और निवासियों, व्यापारियों और दुकानदारों के साथ बातचीत की। उन्होंने क्षेत्र में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए राज्य सरकार से हर संभव मदद का वादा किया। ठाकरे ने कहा था कि उन्हें "दीर्घकालिक शमन उपायों के लिए केंद्रीय सहायता" की आवश्यकता होगी और नुकसान की सीमा का एक व्यापक डेटा तैयार किया जाएगा। पिछले हफ्ते भारी बारिश के कारण महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में बाढ़ और भूस्खलन हुआ, जिसमें रायगढ़ जिले का तलाई गांव में सबसे अधिक प्रभावित हुआ है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.