Fire in Covid Hospital: पालघर में कोविड अस्‍पताल में भीषण आग, 13 मरीजों की मौत; PM मोदी ने जताया दुख

महाराष्ट्र में पालघर जिले के वसई में एक कोविड सेंटर में आग

Fire in Covid Center Palghar महाराष्ट्र के एक कोरोना अस्पताल में आइसीयू का एसी फटने से 13 मरीजों को जान से हाथ धोना पड़ा। इसी सप्ताह बुधवार को नासिक के एक कोरोना अस्पताल में आक्सीजन की आपूर्ति बाधित होने से 24 मरीजों की जान जा चुकी है।

Babita KashyapFri, 23 Apr 2021 07:07 AM (IST)

राज्य ब्यूरो, मुंबई। दुर्भाग्य महाराष्ट्र का पीछा नहीं छोड़ रहा है। शुक्रवार को महाराष्ट्र के एक कोरोना अस्पताल में आइसीयू का एसी फटने से 13 मरीजों को जान से हाथ धोना पड़ा। इसी सप्ताह बुधवार को नासिक के एक कोरोना अस्पताल में आक्सीजन की आपूर्ति बाधित होने से 24 मरीजों की जान जा चुकी है। शुक्रवार तड़के करीब तीन बजे मुंबई से सटे विरार के विजय वल्लभ अस्पताल में यह हादसा हुआ। आइसीयू की एसी यूनिट में धमाके के बाद आग लग गई। आग ने पलक झपकते ही पूरे आइसीयू को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे के समय आइसीयू में 17 मरीज भर्ती थे। दरवाजे के पास के बिस्तरों पर लेटे सिर्फ चार मरीजों को किसी तरह बाहर निकाला जा सका। बाकी 13 मरीजों की जलने से मौत हो गई।

पुलिस उपायुक्त किशोर गवास का कहना है कि आग लगने के पांच मिनट के अंदर ही वसई-विरार महानगरपालिका के दमकल विभाग की गाड़ियों ने अस्पताल पहुंचकर आग बुझाना शुरू कर दिया था। दूसरी मंजिल पर स्थित आइसीयू की आग पर 45 मिनट में ही काबू भी पा लिया गया। इसके बावजूद 13 लोगों की जान नहीं बचाई जा सकी। एसी में धमाका होते ही अस्पताल में भगदड़ मच गई। अन्य वार्डो में भर्ती चलने-फिरने में सक्षम मरीज अस्पताल छोड़कर भागने लगे। हादसे में मारे गए मरीजों के परिजन अस्पताल के बाहर हंगामा करते देखे गए। घटनास्थल का दौरा करने गए राज्य सरकार के वरिष्ठ मंत्री एकनाथ शिंदे के सामने भी लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।

दूसरी तरफ, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि अस्पताल में आग लगने की घटना कोई राष्ट्रीय खबर नहीं है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक बयान में कहा कि आग के कारणों की ठीक से जांच की जानी चाहिए। प्रशासन को इस बात की जांच के निर्देश दे दिए गए हैं कि अस्पताल में आगजनी से निपटने के उचित इंतजाम थे या नहीं। मीरा-भायंदर-वसई-विरार के पुलिस आयुक्त सदानंद दाते ने भी कहा है कि उन्होंने क्राइम ब्रांच को हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। राज्य सरकार की नाकामियों पर उसे लगातार घेरते आ रहे नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि यह एक और स्तब्ध करनेवाली घटना है। अस्पताल में आगजनी की घटना से दुखी हूं। अस्पताल के एक कर्मचारी ने कहा है कि गुरुवार दोपहर बाद से एसी काम नहीं कर रहा था और इसकी मरम्मत की जा रही थी।

चार महीनों में चौथा बड़ा हादसा

पिछले चार महीनों में महाराष्ट्र के अस्पतालों में होने वाली यह चौथी बड़ी दुर्घटना है। वर्ष की शुरुआत में ही 16 जनवरी को भंडारा के सरकारी अस्पताल में शार्ट सर्किट से लगी आग में 10 शिशुओं की मौत हो गई थी। 26 मार्च को मुंबई के भांडुप स्थित एक माल की चौथी मंजिल पर चल रहे कोरोना अस्पताल में आग लगने से 10 मरीज मारे गए थे। फिर इसी सप्ताह बुधवार को नासिक में आक्सीजन लीक होने से 24 मरीजों की मौत हो गई। शुक्रवार को हुई चौथी दुर्घटना ने उद्धव सरकार को फिर बचाव की मुद्रा में ला दिया है।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने जताया शोक

अस्पताल में आग लगने की घटना पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, विरार में अस्पताल में आग लगने की घटना बहुत दुखद है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि जिन्होंने अपनों को खोया है, उनके प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। महाराष्ट्र के राज्यपाल ने भी घटना पर शोक जताया है।

केंद्र और राज्य सरकार ने की मुआवजे की घोषणा

केंद्र और राज्य सरकार ने घटना के पीडि़त परिवारों के लिए मुआवजे की घोषणा की है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, पीएम मोदी ने मृत व्यक्ति के स्वजन को दो लाख और गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 50 हजार की सहायता देने को मंजूरी दी है। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये एवं गंभीर रूप से घायलों को एक लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की गई है।

दोषियों को बख्‍शा नहीं जाएगा- एकनाथ शिंदे 

महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ शिंदे ने कोविड अस्‍पताल में हुए इस हादसे पर दुख जताते हुए कहा, यह एक बड़ा हादसा है। दोषी पाये गए लोगों को बख्‍शा नहीं जाएगा। सरकार ने इस हादसे में जान गंवाने वालों के परिवारों को  5-5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। 

प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री ने जताया दुख   

महाराष्ट्र के पालघर में कोविड अस्पताल में आग लगने की घटना में हुई मौतों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narender Modi)और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गहरा दुख जताया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त कीं। उन्होंने घायलों के जल्द स्‍वस्‍थ होने की कामना की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.