Maharashtra Lockdown: महाराष्ट्र में ‘वीकेंड लॉकडाउन’ के साथ बाकी दिनों में ‘आंशिक लॉकडाउन’

महाराष्ट्र में लगेगा नाइट कर्फ्यू, केवल आवश्यक सेवाओं की होगी अनुमतिः असलम शेख। फाइल फोटो

Maharashtra Lockdown कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर काबू पाने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने ‘वीकेंड लॉकडाउन’ के साथ अन्य दिनों में आंशिक लॉकडाउन की रविवार को घोषणा कर दी है। वीकेंड लॉकडाउन शुक्रवार शाम आठ बजे से सोमवार सुबह तक व ‘आंशिक लॉकडाउन’ रोज लागू रहेगा।

Sachin Kumar MishraSun, 04 Apr 2021 05:43 PM (IST)

मुंबई, राज्य ब्यूरो। Night Curfew: महाराष्ट्र में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर काबू पाने के लिए उद्धव सरकार ने ‘वीकेंड लॉकडाउन’ के साथ अन्य दिनों में आंशिक लॉकडाउन की रविवार को घोषणा कर दी है। वीकेंड लॉकडाउन शुक्रवार शाम आठ बजे से सोमवार सुबह तक व ‘आंशिक लॉकडाउन’ रोज लागू रहेगा। 15 अप्रैल को फिर इस निर्णय की समीक्षा की जाएगी। महाराष्ट्र में कई दिनों से लॉकडाउन की आशंका व्यक्त की जा रही थी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दो दिन पहले राज्य को संबोधित करते हुए कहा था कि सभी वर्गों से बात करके दो-तीन दिन में वह कोई निर्णय करेंगे। इसके अनुसार ही रविवार को मंत्रिमंडल की बैठक में ‘वीकेंड लॉकडाउन’ का निर्णय किया गया है।

इसके तहत शुक्रवार रात से सोमवार सुबह तक पूरे राज्य में लॉकडाउन रहेगा, लेकिन इस दौरान अत्यावश्यक सेवाएं चालू रहेंगी। सार्वजनिक वाहनों को भी कुछ नियमों के साथ छूट दी गई है। इसके अलावा ‘आंशिक लॉकडाउन’ के तहत सोमवार से रोज रात आठ बजे से अगली सुबह सात बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा, लेकिन इस दौरान भी जरूरी सेवाएं एवं कुछ नियमों के साथ सार्वजनिक वाहन चालू रहेंगे। जैसे ऑटो रिक्शा में ड्राइवर के साथ सिर्फ दो सवारियां, टैक्सी में ड्राइवर के साथ सिर्फ तीन सवारियां, बसों व लोकल ट्रेनों में सिर्फ बैठने की क्षमता भर सवारियां ही सफर कर सकेंगी।

माल, होटल, सिनेमा घर, मल्टीप्लेक्स, जिम व बार 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे, लेकिन सब्जी मंडियां खुली रहेंगी। यहां ग्राहक सीमित संख्या में जाकर खरीदारी कर सकेंगे। रेस्टोरेंट बंद रहेंगे, लेकिन पार्सल सेवा चालू रहेगी। सरकारी कार्यालय अपनी आधी क्षमता के साथ काम करेंगे। विद्यालय व कालेज बंद रहेंगे। निजी कार्यालयों को वर्क फ्राम होम के निर्देश दिए गए हैं। उद्योग चालू रहेंगे, लेकिन उनपर क्षेत्रवार समय का बंधन लागू होगा, ताकि भीड़ पर काबू पाया जा सके। सिनेमा व धारावाहिकों की शूटिंग चालू रखने की अनुमति दी गई है, लेकिन ऐसे सीन से बचने के निर्देश भी दिए गए हैं, जिनमें अधिक भीड़ की संभावना नजर आती हो। अंतिम संस्कारों में 20 लोग व विवाहों में अधिकतम 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

जल्दबाजी में बुलाई गई मंत्रिमंडल की बैठक से पहले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे, कुछ अखबारों के संपादकों, फिल्म व उद्योग क्षेत्र के लोगों से चर्चा की और उनसे सुझाव भी मांगे। उद्धव को इस चर्चा के सकारात्मक परिणाम भी मिले। वीकेंड लाकडाउन व अन्य दिनों में सख्त नियमों की घोषणा के बाद भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के स्वर नरम नजर आए। फडणवीस ने सरकार के निर्णय का समर्थन करते हुए कहा कि पूर्ण लॉकडाउन के बजाय वीकेंड लॉकडाउन व अन्य दिनों में आंशिक लॉकडाउन का जो निर्णय किया गया है, हम उसका पूरा समर्थन करते हैं। भाजपा नेता ने लोगों से भी आह्वान किया कि सरकार द्वारा बताए गए नियमों का ठीक से पालन करें। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से भी राज्य में चल रही वैक्सीनेशन मुहिम में लोगों की मदद करने को कहा है। इससे पहले जब लॉकडाउन की संभावना जताई जा रही थी, तो भाजपा ने इस निर्णय के विरोध में सड़क पर उतरकर विरोध करने की घोषणा की थी। पूर्ण लॉकडाउन को लेकर सरकार की सहयोगी पार्टी कांग्रेस भी विरोध कर रही थी। मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने भी अपने कार्यकर्ताओ ने सरकार के निर्णय में सहयोग करने का आह्वान किया है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में शुक्रवार शाम आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक वीकेंड लॉकडाउन लगेगा। बसों, ट्रेनों, टैक्सियों सहित आवश्यक सेवाओं और परिवहन की अनुमति रहेगी। एसओपी को रविवार शाम आठ बजे से शुरू किया जाएगा। पांच से अधिक व्यक्तियों का इकट्ठा होना प्रतिबंधित है। सरकारी कार्यालय 50 फीसद क्षमता पर काम करेंगे। 50 फीसद बैठने की क्षमता पर निजी वाहनों को चलाने की अनुमति रहेगी। 

वहीं, मंत्री असलम शेख ने रविवार को कहा कि रात आठ बजे से सुबह सात बजे तक रात का कर्फ्यू लगाया जाएगा। केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति होगी। रेस्तरां से केवल ले जाने और पार्सल सेवाओं के लिए अनुमति रहेगी। कार्यालयों के लिए कर्मचारियों को घर से काम करना होगा। उनके मुताबिक, दिन में गाड़ियां चलेंगी लेकिन रिक्शा में एक ड्राइवर और दो लोगों को अनुमति है। टैक्सी 50 फीसद लोगों के साथ चलेगी। बसों में खड़े होकर सफर करना मना है। धार्मिक स्थलों में पुजारी और कर्मचारियों को ही अनुमति होगी। ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने वाली फिल्म के शूटिंग की अनुमति नहीं है। उन्‍होंने कहा कि आने वाले दिनों में शनिवार और रविवार को भी लॉकडाउन जैसी स्थिति रहने की संभावना है। उद्यान, समुद्र तटों, गेटवे ऑफ इंडिया और अन्य स्थानों सहित खुले स्थानों पर शनिवार और रविवार को जाने पर प्रतिबंध होगा।  

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि लॉकडाउन लागू करने के सरकार के फैसले का भाजपा समर्थन करती है। लोगों को प्रतिबंधों और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। अधिकतम टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए भाजपा कार्यकर्ता लोगों को पंजीकरण केंद्र तक पहुंचने और टीकाकरण में मदद करेंगे। 

इस बीच, नागपुर जिले में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 4110 नए मामले सामने आए, 3497 रिकवर हुए और 62 मौतें हुईं। यहां कुल मामले 2,41,606 हैं। कुल 1,94,908 रिकवर हुए। सक्रिय मामले 41,371 हैं। कोरोना से 5327 की मौत हुई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.