Coronavirus: महाराष्ट्र में कोरोना के 8010 नए मामले और 170 लोगों की मौत

Coronavirus महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 8010 नए मामले सामने आए 7391 मरीज डिस्चार्ज हुए और 170 लोगों की कोरोना से मौतें दर्ज की गईं। कोरोना के सक्रिय मामले 107205 हैं। कुल 5952192 डिस्चार्ज हुए। प्रदेश में अब तक कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 126560 है।

Sachin Kumar MishraThu, 15 Jul 2021 09:38 PM (IST)
महाराष्ट्र में कोरोना के 8010 नए मामले और 170 लोगों की मौत। फाइल फोटो

मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र में वीरवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 8010 नए मामले सामने आए, 7391 मरीज डिस्चार्ज हुए और 170 लोगों की कोरोना से मौतें दर्ज की गईं। प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामले 1,07,205 हैं। कुल 59,52,192 डिस्चार्ज हुए। प्रदेश में अब तक कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 1,26,560 है। प्रदेश में पहले के मुकाबले कोरोना के नए मामलों और मौतों में कमी आई है। इस बीच, मुंबई में कामा अस्पताल में गर्भवती महिलाओं के लिए वैक्सीनेशन शुरू हुआ। अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने बताया कि गर्भवती महिलाओं के लिए वैक्सीनेशन का आज पहला दिन है। आज एक गर्भवती महिला को वैक्सीन दी गई। गर्भवती महिलाओं को लाइन में खड़े होने की जरूरत नहीं है।

इधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को राज्यों के साथ देश के अनेक हिस्सों में, खासतौर पर हिल स्टेशनों पर कोरोना नियमों के उल्लंघन के मामले को उठाया और महामारी की रोकथाम के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य संबंधी कदम उठाने की जरूरत बताई। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा कि इस समय खुशफहमी पालने से कोरोना के मामले फिर से बढ़ने की आशंका है। उन्होंने कहा कि देश के अनेक भागों, विशेष रूप से हिल स्टेशनों, सार्वजनिक परिवहन और बाजारों में कोविड नियमों का उल्लंघन होते देखा गया है। यह कहने की जरूरत नहीं कि इस समय पर इतनी खुशफहमी संक्रमण के मामलों में एक बार और इजाफा कर सकती है।

भूषण ने कहा कि कोरोना रोकथाम और प्रबंधन के सिद्धांतों का पालन अत्यावश्यक है और जांच, निगरानी, उपचार, टीकाकरण और कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन करने की पांच सूत्री रणनीति पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।कुछ दिन पहले ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हिल स्टेशनों समेत देश के अनेक हिस्सों में कोरोना संबंधी नियमों की अवहेलनाओं के विषय को उठाया था। साथ ही राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई को कहा था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.