Barge P305 Accident: बार्ज पी-305 हादसे में मृतकों की संख्या हुई 70, समुद्र में मिले 10 और शव

Barge P305 Accident बार्ज हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 70 हो गई है। नौसेना को अब 16 लापता लोगों की तलाश है। इन 10 शवों की शिनाख्त होने पर लापता लोगों की संख्या और कम हो सकती है।

Sachin Kumar MishraSun, 23 May 2021 09:15 PM (IST)
बार्ज पी-305 हादसे में मृतकों की संख्या हुई 70, समुद्र में मिले 10 और शव। फाइल फोटो

मुंबई, प्रेट्र। Barge P305 Accident: महाराष्ट्र और गुजरात के तटवर्ती इलाकों में समुद्र से दस और शव निकाले गए हैं। आशंका है कि ये शव या तो बार्ज पी-305 के सवार लोगों के हो सकते हैं या इस बार्ज को खींचने वाली नौकाओं पर काम करने वालों के। यह बार्ज पिछले दिनों टाक्टे तूफान के कारण अरब सागर में डूब गया था। इस बीच, बार्ज हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 70 हो गई है। नौसेना को अब 16 लापता लोगों की तलाश है। इन 10 शवों की शिनाख्त होने पर लापता लोगों की संख्या और कम हो सकती है। पुलिस के अनुसार, मुंबई के निकट रायगढ़ जिले की सीमा में पांच शव मांडवा, दो शव अलीबाग और एक शव मुरुद में मिला। इन शवों की अभी शिनाख्त की जानी है। इस बारे में स्थानीय प्रशासन और पुलिस के उच्चाधिकारियों को जानकारी दे दी गई है।

इसी तरह गुजरात के वलसाड में भी रविवार को समुद्र से दो शव मिले हैं। वलसाड के एसपी राजदीप सिंह झाला ने बताया कि शनिवार को मिले चार शवों को मिलाकर अब तक कुल छह शव समुद्र से निकाले जा चुके हैं। डीलडौल और कपड़ों से उन्होंने भी ये शव बार्ज पी-305 पर सवार लोगों के होने की आशंका जताई है। उन्होंने बताया कि शनिवार को तीन शव तिथल बीच पर और एक शव डूंगरी गांव के पास समुद्र में मिला था। वहीं रविवार को तिथल बीच पर दो और शव मिले। उल्लेखनीय है ओएनजीसी के लिए अनुबंध पर काम करने वाले कामगारों के लिए कार्यस्थल पर 261 लोगों की रिहायश के लिए बार्ज पी-305 पर व्यवस्था की गई थी। तूफान के कारण बार्ज के बहने और बाद में डूबने से अब तक 70 लोगों की मौत की पुष्टि की जा चुकी है। हालांकि नौसेना और कोस्टगार्ड ने कई दिन तक अभियान चलाकर 186 लोगों को बचा लिया था। इस बार्ज पर सवार पांच लोग अभी भी लापता हैं। वहीं इस बार्ज को खींचने वाली नौका वरप्रदा पर सवार 11 लोगों की भी तलाश की जा रही है। इस नौका पर कुल 13 लोग सवार थे जिसमें से दो लोगों को बचा लिया गया था। इस बीच, नौसेना ने बताया कि लापता लोगों की तलाश में दिन रात अभियान चलेगा। नौसेना के पोत आइएनएस-मकर ने सोनार तकनीक से बार्ज पी-305 का मलबा समुद्र की तलहटी में तलाश लिया है। नौसेना ने शवों की तलाश में गोताखोर भी तैनात किए हैं।

ओएनजीसी ने बढ़ाया मदद का हाथ

तेल व प्राकृतिक गैस निगम (ओनजीसी) ने बार्ज पी-305 हादसे के शिकार लोगों के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है। इस सरकारी कंपनी ने हादसे से बचे लोगों को एक लाख और मृत व लापता लोगों के परिवार को दो लाख की आर्थिक सहायता दी है। कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि कई टीमें बनाकर हम प्रभावित लोगों के घरों में यह आर्थिक मदद उपलब्ध करा रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.