कपड़ों की खरीददारी करनी हो या घर के सामान की, यहां दिए टिप्स आ सकते हैं बहुत काम

शॉपिंग पर निकलते वक्त शायद ही कोई तैयारी करके निकलता होगा...जो एक गलत आदत है क्योंकि इस चक्कर में कई बार ऐसी चीज़ें भी ले आते हैं जिसकी खास जरूरत भी नहीं होती। तो एक स्मार्ट शॉपर बनने के लिए बेहद जरूरी है इन चीज़ों को फॉलो करना।

Priyanka SinghTue, 16 Nov 2021 01:31 PM (IST)
हाथ में शॉपिंग बैग थामे दो महिलाएं

शॉपिंग करना जहां महिलाओं को अच्छा काम लगता है वहीं पुरुषों को बोरिंग और थकाने वाला। उनकी जल्दबाजी के चलते तो कभी सूझबूझ की कमी के चलते कई बार शॉपिंग के दौरान गैरजरूरी चीज़ें उठा लाते हैं या तो बेकार क्वालिटी की। तो शॉपिंग के लिए सबसे जरूरी है प्लान बनाना...कब जाना है इस प्लान के साथ ही क्या खरीदना है, कहां से खरीदना है जैसी चीज़ें।

सामानों की लिस्ट बनाएं

खरीददारी चाहे ग्रासरी की हो, कपड़ों की, इलेक्ट्रॉनिक्स या फर्नीचर की, पहले घर की जरूरत के अनुसार लिस्ट तैयार करें। फिर अपनी सेविंग को मद्देनजर रख जरूरत के अनुसार सामान खरीदें। इसी प्रकार कपड़ों का वार्डरोब खोलकर सभी कपड़ों पर नजर डाल फैशन अनुसार ड्रेस लें फिर चाहे वह बच्चों के लिए हो, अपने लिए या पति के लिए। इसी प्रकार शूज रैक भी चैक कर लिस्ट बनाएं। कौन सी चप्पल, जूते, सैंडल किसके लिए और कौन से रंग के लेने हैं। लिस्ट बनाएं। किराने, नमकीन, बिस्किट के लिए भी घर के स्टोरेज को चैक करने के बाद लिस्ट तैयार करें।

बजट को भी वरीयता दें

कुछ भी खरीदने से पहले अपने बजट का ध्यान रखना जरूरी होता है। चाहे ईजी ईएमआई में सामान मिल रहा हो पर चुकाना तो आपको ही है। इस बात का ध्यान रखें। बजट के बाहर जाकर स्वयं को तनावग्रस्त न बनाएं। स्मार्ट खरीददार बनें।

ट्रायल है जरूरी

अगर रेडीमेड कपड़े ले रहे हैं तो डमी पर डले कपड़ों को देखकर खरीदने की गलती न करें। घर के जिस भी सदस्य के लिए ड्रेस, जूते ले रहे हैं एक पर पहनकर चैक कर लें कि साइज़, कलर और डिज़ाइन आप पर फब रहा है या नहीं। इनके अलावा ये भी देख लें कि सिलाई वगैरह तो नहीं खुली हुई है हालांकि इसके चांसेज कम ही होते हैं लेकिन फिर भी। दाग या कट की देख लेना जरूरी है।

सेल की शुरुआत में जाएं

अगर सेल की खरीददारी करनी हो तो शुरु के दिनों में जाकर खरीददारी करें जिससे चॉइस करना आसान हो। सुबह के समय जाएं जब भीड़ भी कम होती है और सेल्समैन भी फ्रेश होते हैं। आराम से प्रोडक्ट्स दिखा सकते हैं और ट्रायल की लंबी लाइन में भी नहीं लगना पड़ता।

रिटर्न पॉलिसी और ऑफ्टर सेल सर्विस जान लें

इलेक्ट्रॉनिक्स खरीदते समय दुकानदार से खरीदने के बाद सर्विस किस कंपनी की कैसी है उसकी पूरी जानकारी लें। बाकी चीज़ें जो आप खरीद रहे हैं, पसंद न आने पर क्या वापस हो सकती हैं या उसके स्थान पर कुछ और खरीद सकते हैं या नहीं, इस बारे में पूरी जानकारी लें। कंपनियों की और दुकानदारों की रिटर्न पॉलिसी अलग होती है। उसकी जानकारी रखना आपको स्रमार्ट खरीददारी बना सकता है।

अंत में बिल लेना न भूलें

कोई भी खरीददारी करें तो बिल लेना न भूलें। कभी-कभी कुछ दिन के लिए कोई ऑफर होता है। गर सामान बदलना पड़े तो बिल होने पर आसानी होगी।

Pic credit- freepik

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.