top menutop menutop menu

प्रोफेशनल हो या पर्सनल, हर फील्ड में रहेंगे सफल अगर आपके अंदर है ये एक स्किल

कुछ समस्याएं बड़ी तो कुछ छोटी होती हैं कुछ जटिल तो कुछ सामान्य। हर पेशेवर की जि़म्मेदारी का अहम हिस्सा समस्या हल करने के तरीके खोजना है। इसलिए अपनी प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल को पहचानना और उसे तराशना बेहद ज़रूरी हो जाता है।

हर इंसान के भीतर अलग तरह की क्रिएटिविटी होती है। उसे बाहर आने देने के लिए मन को खुला छोड़ दें और किसी भी विचार को आने से न रोकें। लोग क्या कहेंगे? अगर आपका विचार खारिज हुआ तो लोग हंसेगे? इस बात की परवाह न करें। आपकी इमेजिनेशन जितनी स्ट्रॉन्ग होगी समस्या का उतना ही बेहतरीन हल आप तलाश पाएंगे। यूं भी कारोबारी दुनिया में हर सुझाव पर गौर किया जाता है, क्योंकि कई मौकों पर बेकार-से दिखने वाले आइडियाज़ ने कमाल कर दिखाया है।

1- समाधान तलाशते समय मन में नकारात्मक विचार न आने दें। नकारात्मक विचार समाधान और आपके बीच की दूरी बढ़ा देंगे। इससे हल निकलाने में ज्यादा समय लगेगा और वक्त के साथ समस्या ज़्यादा जटिल होती जाएगी।

2- खुद को तकनीकी रूप से दक्ष बनाएं। अपने प्रोफेशन के हिसाब से खुद को टेक्रिकली अपग्रेड करने क लिए वर्कशॉप, एडिशनल कोर्स वर्क और ट्रेनिंग प्रोगाम जॉइन करें।

3- कार्यस्थल पर समस्या समाधान के मौके तलाशें। गाहे-बगाहे खुुद को नई परिस्थिति में डालकर आप यह मौके हासिल कर सकते हैं।

4- अपनी प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल को निखारने के लिए निरंतर अभ्यास करें। आप ऑनलाइन या अपने प्रोफेशन से जुड़ी प्रॉब्लम सॉल्विंग प्रेक्टिस बुक्स के जरिए अभ्यास कर सकते हैं।

5- अफ्तर में अपनी प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल के लिए पहचाने जाने वाले कलीग्स के संपर्क में रहें। जब भी वे किसी समस्या को सुलझाएं तो उनकी कार्यशैली पर गौर करें। उनका तरीकों के आधार पर अपनी स्किल में सुधार लाएं।

 

Pic credit- https://www.freepik.com/free-vector/business-concept-with-flat-labyrinth_2534277.htm#page=1&query=problem+solving+skill&position=7

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.