Happy India Independence Day 2021: स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर कर सकते हैं इन 4 कामों की शुरुआत

Happy India Independence Day 2021 डिजिटल होती दुनिया में किसी को किसी के बारे में सोचने का वक्त नहीं लेकिन अगर आप खुद के साथ पर्यावरण को भी सुरक्षित रखना चाहते हैं तो जरूरत है इसके उपाय ढूंढने की।

Priyanka SinghFri, 13 Aug 2021 03:06 PM (IST)
पार्क में ध्यान मुद्रा में बैठी हुई महिला

कभी सोचा है कि उन मिलेनियल्‍स की रुचि किस काम में हो सकती है जो डिजिटल नेटिव्‍स की पहली पीढ़ी कहलाते हैं? चूंकि वे अपनी पिछली पीढ़ी के मुकाबले कहीं ज्‍यादा डायनमिक और महत्‍वाकांक्षी भी हैं, ऐसे में स्‍वतंत्रता उनके मन में कई तरह के भाव पैदा करती है। हमने कुछ विशेषज्ञों से इस बारे में बात की, कुछ सफल उद्यमियों से पूछा और कुछ कॉर्पोरेट दिग्‍गजों से भी बातचीत की जिससे हम बता सकें कि मिलेनियल्‍स को इस बार स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर कौन-से काम प्रमुखता से करने चाहिए।

स्‍ट्रेस और एंग्‍ज़ाइटी से मुकाबला

हिमालयन सिद्ध ग्रैंड मास्‍टर अक्षर के मुताबिक, मिलेनियन जेनरेशन इस साल के आगे के समय के लिए स्‍वतंत्रता दिवस को एक महत्‍वपूर्ण मुकाम के तौर पर देख सकती है। लॉकडाउन के दौरान परिवार के साथ बिताए समय ने आपस में नज़दीकियां बढ़ाने का मौका दिया और साथ ही उन्‍हें एकजुटता के मतलब भी समझ आया। इस पूरे हालात पर काफी संवेदनशीलता का परिचय दिया और खुद को स्‍ट्रेस, एंग्‍ज़ाइटी व डिप्रेशन से दूर रखने के लिए योग, ध्‍यान, प्राणायाम के अलावा अन्‍य कई सकारात्‍मक गतिविधियों का सहारा लिया।

सेहत संबंधी चिंताओं को घटाना

भारत के बेबी एवं मदर केयर ब्रैंड मदर स्‍पर्श के सह-संस्‍थापक तथा मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी डॉ हिमांशु गांधी का कहना है, ''महामारी के दौरान, जो मिलेनियल्‍स नई मां बनने के सुख से गुजरीं या गुजरने वाली हैं, उन्‍हें स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी चिंताओं से भी पूरी आजादी चाहिए। उन्‍हें अपनी तथा अपने नवजात की भरपूर देखभाल तथा ग्रूमिंग की जरूरत है, और इसके लिए उन्‍हें रोज़-ब-रोज़ की जिंदगी से केमिकल तथा टॉक्सिन युक्‍त प्रोडक्‍ट्स को निकालना होगा। उन्‍होंने दैनिक स्किन, हेयर या बॉडी केयर में आयुर्वेदिक उत्‍पादों को अपनाने पर सबसे ज्‍यादा ज़ोर देना चाहिए, खासतौर से मिलेनियल मदर्स को ऐसा जरूर करना चाहिए।''

पेपरलैस होने का प्रयास

इन विचारों को आगे बढ़ाते हुए, एमएसबी डॉक्‍स, जिसने स्‍टार्टटप इंडिया प्रोग्राम के तहत् स्‍मार्ट डॉक्‍यू में सॉल्‍यूशन प्रदाता के तौर पर साख बनायी है, के वीपी सेल्‍स श्रीनि डोक्का का कहना है, ''आज के दौर में स्‍वतंत्रता के कई मायने हैं और हर कोई अपने अंदाज़ में इसका जश्‍न मनाने के लिए मुक्‍त है। मिलेनियल उद्यमियों को मेरा संदेश यही है कि वे अपने बिज़नेस और स्‍टार्टअप्‍स के जरिए कार्बन फुटप्रिंट घटाने पर ध्‍यान दें, जो कि सभी जीवित प्राणियों के लिए संकट का कारण बन चुका है। वे डॉक्‍यूमेंट डिजिटाइज़ेशन और स्‍मार्ट सिग्‍नेचर सॉल्‍यूशंस को अपनाकर पेपर आधारित प्रक्रियाओं से स्‍पष्‍ट रूप से इंकार कर सकते हैं। इससे न सिर्फ पर्यावरण की रक्षा होगी बल्कि बिज़नेस प्रक्रियाओं की रफ्तार भी काफी तेज हो जाएंगी। 

सतर्क होने की जरूरत

बहुराष्‍ट्रीय ब्रैंड सूर्या ब्रासिल की संस्‍थापक एवं मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी क्लेलिया सेसिलिया एंजेलॉन का कहना है, ''आज के समय में लोग पहले से ज्यादा जागरूक हो चुके हैं। वो किसी भी बात या इंफॉर्मेशन पर आंख मूंद कर विश्वास नहीं कर लेते। जो अच्छी बात है। तो इस चीज़ को बरकरार रखें और दूसरों को भी इसकी आवश्यकता समझाएं। 

 

Pic credit- unsplash 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.