इन छोटी-छोटी आदतों को अपनाकर खुद के साथ ही बचा सकते हैं सैकड़ों लोगों की भी जान

मेडिकल वर्कर स्टे होम का बोर्ड पकड़े हुए

अपनों को बचाने के लिए हमें अब अपना हर कर्तव्य जिम्मेदारी से निभाना होगा जिससे देश में हो रही मौतों का यह आंकड़ा थम जाए। कोई हमारा हमसे बिछुड़ न पाए। अपनों को बचाने की जिम्मेदारी हमारी खुद की होनी चाहिए।

Priyanka SinghThu, 29 Apr 2021 07:48 AM (IST)

देश में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा दो लाख पार कर गया है। संक्रमितों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। सिस्टम, सरकार, शासन, प्रशासन सब कठघरे में हैं। इसके लिए जिम्मेदार जो भी हो, लेकिन अब समय आ गया कि हम खुद जिम्मेदार बनें। खुद पर भरोसा बढ़ाएं। अपनों को बचाने के लिए हम अपना हर कर्तव्य निभाएं जिससे देश में हो रही मौतों का यह आंकड़ा थम जाए। कोई हमारा हमसे बिछुड़ न पाए। अपनों को बचाने की जिम्मेदारी हम खुद उठाएं।

1. न किसी के घर जाइए, न बुलाइए

कोरोना वायरस से बचाव का सबसे बड़ा उपाय बताया गया है सोशल डिस्टेंसिंग। ऐसे में लोगों से दिल से करीबी लेकिन शरीर से दूरी रखिए। इसके बचने का सबसे सरल उपाय है कि न तो किसी के घर जाइए और न ही किसी को अपने घर में इन दिनों इनवाइट करिए। अगर एक व्यक्ति फिजिकल डिस्टेंसिंग न अपनाए तो वह 30 दिन में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है। अगर कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति अपना फिजिकल एक्सपोजर 50 परसेंट कम कर दे तो एक महीने में 15 व्यक्ति और 75 परसेंट कम करने पर ढाई लोगों को ही संक्रमित कर सकेगा।

2. अब डबल मास्किंग को अपनाइए

अमेरिका में कोरोना की दूसरी लहर आई थी तो वहां के एक्सपर्ट्स ने डबल मास्किंग पर जोर दिया था। भारत में कोरोना की दूसरी लहर के बीच सेंटर्स फॉर कंट्रोल डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने डबल मास्किंग को प्रभावी तरीके पर बल दिया है। डबल मास्किंग में मास्क चेहरे पर बेहतर तरीके से फिट हो जाता है। इससे न तो खुद को और न ही दूसरों को किसी तरह के संक्रमण का खतरा रहता है। वहीं डबल मास्किंग से बाहर की हवा फिल्टर होकर नाक में जाती है। एक सर्जिकल मास्क पर एक साधारण या कपड़े का मास्क होना चाहिए। पहले सर्जिकल मास्क ले और फिर दोनों कोने पर छोटी गांठें लगा दें। अब मास्क को पूरा खोलकर नाक के ऊपरी हिस्से से लेते हुए ठुड्डी तक फैलाएं। अब इस पर लगभग समान चौड़ाई का कपड़े का मास्क पहन लें।

3. अफवाह छोड़िए वैक्सीन लगवाइए

एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए भी वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। अब तक जिन लोगों से वैक्सीन ली है उनमें कोरोना संक्रमण लगभग न के बराबर हो रहा है। आंकड़ों के मुताबिक 1.1 करोड़ लोगों ने अब तक कोवैक्सीन ली है उनमें से लगभग 17 लाख लोगों ने दोनों डोज ली है। जिनमें से मात्र 695 लोगों को ही कोरोना का संक्रमण हुआ। अब तक 11.6 करोड़ लोग कोवीशील्ड वैक्सीन ले चुके हैं। जिनमें से लगभग 16 लाख लोगों ने दोनों डोज ली है। इनमें से मात्र 5014 लोगों को ही कोरोना का संक्रमण हुआ।

Pic credit- freepik

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.