दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

World Hypertension Day 2021: जानें हाइपरटेंशन और कोविड-19 के बीच का संबंध, कैसे करें कंट्रोल

जानें हाइपरटेंशन और कोविड-19 के बीच का संबंध, कैसे करें कंट्रोल

World Hypertension Day 2021 तनाव उच्च रक्तचाप के विकास के लिए योगदान करने वाले कारकों में से एक है। कोरोना वायरस महामारी की वजह से लोगों में हाइपरटेंशन की बीमारी काफी बढ़ गई है। कोविड-19 संक्रमण की गंभीरता एक व्यक्ति के स्वास्थ्य पर अत्यधिक निर्भर करती है।

Ruhee ParvezMon, 17 May 2021 11:30 AM (IST)

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। World Hypertension Day 2021: हाइपरटेंशन को हाई ब्लड प्रेशर भी कहा जाता है, इस स्थिति में एक व्यक्ति के शरीर में ब्लड शुगर स्तर बढ़ा हुआ रहता है। यह अक्सर एक गतिहीन जीवन शैली, तनाव को नज़रअंदाज़ और ख़राब व अस्वस्थ डाइट का परिणाम होता है। हर साल 17 मई को विश्व हाइपरटेंशन दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

इस साल की थीम है "अपने ब्लड प्रेशर को सही तरीके से मांपे, कंट्रोल करें और लंबी आयु जिएं"। इस साल की थीम का उद्देश्य दुनिया भर में हाइपरटेंशन की स्थिति के बारे में जागरूकता बढ़ाना और इसकी सटीक माप और प्रबंधन के तरीके को बढ़ावा देना है।

कोविड-19 और हाइपरटेंशन 

तनाव उच्च रक्तचाप के विकास के लिए योगदान करने वाले कारकों में से एक है। कोरोना वायरस महामारी की वजह से लोगों में हाइपरटेंशन की बीमारी काफी बढ़ गई है। कोविड-19 संक्रमण की गंभीरता एक व्यक्ति के स्वास्थ्य पर अत्यधिक निर्भर करती है। अगर कोविड का मरीज़ पहले से हाइपरटेंशन और डायबिटीज़ का मरीज़ है, तो उसमें संक्रमण काफी गंभीर हो सकता है। 

ICMR ने कोरोना वायरस महामारी और हाइपरटेंशन, डायबिटीज़ व दिल के मरीज़ों को लेकर एक डॉक्यूमेंट जारी किया था, जिसमें लिखा था कि 80 प्रतिशत लोग जिन्हें कोविड-19 होता है, वे रेस्पीरेट्री संक्रमण में हल्के लक्षणों का अनुभव करते हैं, जैसे बुख़ार, गले में ख़राश, खांसी; उनकी रिकवरी 14 दिनों में हो जाती है। कुछ लोग जो डायबिटीज़, हाइपरटेंशन और दिल के मरीज़ है, वे कोरोना के गंभीर लक्षणों से पीड़ित हो सकते हैं। इसलिए ऐसे मरीज़ों को सेहत का ज़्यादा ध्यान रखने की ज़रूरत होती है। 

हाइपरटेंशन का कैसे मैनेज करें?

आज हम बता रहे हैं, कुछ ऐसे तरीके जिनकी मदद से आप हाइपरटेंशन को कंट्रोल कर सकते हैं:

1. ऐसी डाइट लें जिससे इम्यूनिटी और सेहत अच्छी हो। डैश डाइट ( Dietary Approaches to Stop Hypertension), विशेष रूप से हाइपरटेंशन से पीड़ित रोगियों के लिए डिज़ाइन की गई है, जिससे आहार के ज़रिए उच्च रक्तचाप को कंट्रोल में रखा जाता है। दिन में खूब पानी पीना न भूलें।

2. तनाव दूर करने के लिए योग, ध्यान और अरोमाथेरेपी की मदद लें ताकि तनाव दूर हो और आपके शरीर व दिमाग़ को आराम मिल सके। 

3. लंबे समय तक सामान्य रक्तचाप के स्तर का अनुभव करने के बावजूद, जब तक आपका डॉक्टर न कहे, तब तक अपनी दवाओं को न छोड़ें या बंद न करें। दवाएं रोकने से अचानक अस्वस्थ बदलाव आ सकता है, जिसकी वजह से गंभीर परिणाम हो सकते हैं। अपने ब्लड प्रेशर स्तर को हमेशा ट्रेक करते रहें और डॉक्टर के अपॉइंटमेंट को न छोड़ें।

4. स्मोकिंग, शराब पीना या तंबाकू खाने जैसी आदतें न रखें।

5. स्वस्थ वज़न से आपको स्वस्थ ब्लड प्रेशर को बनाए रखने में मदद मिलेगी। सही वज़न के लिए रोज़ाना वर्कआउट करें।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.