बॉडी को फिट रखने के लिए लिवर का फिट एंड फाइन होना है बेहद जरूरी

लिवर हमारी बॉडी में एक नहीं अलग-अलग तरह से बहुत सारे फंक्शंस को ऑपरेट करता है। ऐसे में इसके इन जरूरी कामों को इग्नोर नहीं किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं इसे हेल्दी रखने के कुछ टिप्स।

Priyanka SinghWed, 19 May 2021 07:00 AM (IST)
लिवर फंक्शन को ठीक करते डॉक्टर्स का इलस्ट्रेशन

लिवर हमारी बॉडी के अहम पार्ट्स में से एक है, ऐसे में हमें अपने लिवर का बेहद अच्छे से ख्याल रखना चाहिए, जिससे हमारा स्वास्थ्य हमेशा अच्छा रहे। पर इसके लिए यह भी जरूरी है कि हमें अपनी बॉडी में लिवर की अहमियत और उसको हेल्दी रखने के बारे में भी सबकुछ मालूम हो। आइए जानें इससे जुड़ी कुछ अहम बातें यहां...

लिवर का काम

- यह कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन व वसा के मेटाबॉलिज्म में इंपॉर्टेंट रोल प्ले करता है।

-  यह बाइल का निर्माण करता है, जो डाइजेशन के लिए बहुत जरूरी है।

-  यह खासतौर पर वसा के अतिरिक्त ग्लूकोज या शुगर को अपनी कोशिकाओं में ग्लाइकोजन के रूप में संग्रहीत करता है।

- लिवर अमीनो एसिड्स बनाता है, जो प्रोटीन का निर्माण करने और संक्रमण से लड़ने के लिए जरूरी है।

- यह लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण के लिए आवश्यक आयरन का स्टोरेज करता है।

-  लिवर का कार्य कोलेस्ट्रॉल और दूसरे रसायनों का निर्माण करना भी है।

- लिवर शरीर में बनने वाले व्यर्थ पदार्थों को यूरिया में बदलता है, जो यूरिन द्वारा बाहर निकल जाती है।

- यह रक्त से बैक्टीरिया और टॉक्सिंस को बाहर करता है।

- यह विटामिंस, वसा, कोलेस्ट्रॉल और बाइल को स्टोर करता है।

ऐसे हो सकती है लिवर से जुड़ी प्रॉब्लम्स

लिवर की बीमारियों को हेपेटिक डिजीज भी कहते हैं, इसमें लिवर से जुड़ी सभी समस्याओं को सम्मिलित किया जाता है। लिवर की प्रमुख बीमारियों को..

-  हेपेटाइटिस

-  फैटी लिवर

- पीलिया

- लिवर कैंसर 

- लिवर सिरोसिस

- लिवर फेलियर के नाम से जानते हैं।

अनहेल्दी लिवर को इन लक्षणों से पहचानें

थकान का एहसास होना

लगातार वेट लॉस होना

जी मिचलाना

चक्कर आना

ब्लड में बिलीरुबिन की मात्रा बढ़ने के कारण स्किन का कलर पीला हो जाना

पेट के दाईं ओर ऊपरी भाग में दर्द होना

ध्यान रखें इन बातों का

* एल्कोहल व स्मोकिंग से दूर रहें।

* बॉडी के मिड पार्ट में चर्बी न बढ़ने दें।

* ऐसी चीज़ों का सेवन करें, जिनमें फाइबर, विटामिंस, एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स की मात्रा ज्यादा हो।

* समय-समय पर ब्लड टेस्ट कराते रहें, जिससे रक्त में वसा, कोलेस्ट्रॉल और ग्लूकोज के स्तर का पता चलता रहे।

* हेपेटाइटिस ए औ बी का वैक्सीनेशन जरूर करवाएं।

Pic credit- freepik

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.