CBD Oil For Damaged Lungs: कोरोना वायरस से फेफड़ों को होने वाले नुकसान को कम कर सकता है CBD ऑयल

CBD ऑयल शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाता है, कोरोना के मरीजों के लिए मददगार साबित हो सकता है।
Publish Date:Mon, 26 Oct 2020 12:12 PM (IST) Author: Shilpa Srivastava

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना संक्रमण से कैसे बचाव किया जाए हर शख्स के लिए ये बड़ा सवाल है। कोरोना काल में वैज्ञानिक इसी तलाश में जुटे हैं कि कोरोना से शरीर में होने वाले प्रभाव को कैसे कम किया जाएं। कोरोना दिल से लेकर फेफड़ों तक को नुकसान पहुंचा रहा है । कोरोना का फेफड़ों पर प्रभाव कैसे कम किया जाए इसके लिए वैज्ञानिकों ने एक असरदार उपचार खोज लिया है। डेंटल कॉलेज ऑफ जॉर्जिया और मेडिकल कॉलेज ऑफ जॉर्जिया द्वारा किए गए अध्ययन में पाया गया कि CBD ऑयल अपेलिन नामक नेचुरल पेप्टाइड का स्तर बढ़ाता है। यह इंफ्लामेशन कम करता है। कोविड-19 के मरीजों में अपेलिन का स्तर संक्रमण की वजह से अत्यधिक कम पाया गया है।

आइए जानते हैं कि CBD ऑयल क्या है?

सीबीडी ऑयल भांग के पौधे से निकाला गया तेल है। यह कैनबिस पौधे का 40% अर्क होता है। इस ऑयल की मदद से पुराने दर्द और मानसिक तनाव और चिंता को कम किया जा सकता है। भारत के साथ-साथ दुनिया के कई देशों में CBD ऑयल की बिक्री वैध है, फिर भी इस ऑयल का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है।

CBD फेफड़ों की सूजन को कम करता है:

शोधकर्ताओं के मुताबिक CBD ऑयल फेफड़ों की सूजन को कम करता है। ये ऑयल शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाता है। अध्ययन के मुताबिक कोविड-19 के मरीजों में संक्रमण के बाद अपेलिन का स्तर अचानक से गिरने लगता है। CBD ऑयल इस स्तर को सामान्य कर फेफड़ों की स्थिति को सुधार लाता है।

DCG इम्यूनोलॉजिस्ट और इस रिसर्च के एसोसिएट डीन डॉ बाबक बाबन कहते हैं कि अपेलिन का बढ़ता और घटता स्तर, दोनों ही बहुत हैरान करने वाले थे। CBD ऑयल के इस्तेमाल के बाद यह स्तर 20 गुना बढ़ जाता है।

बॉडी में अपेलिन की भूमिका: 

अपेलिन एक पेप्टाइड है जिसे दिल, फेफड़े, मस्तिष्क, फैट टिश्यू और खून के सेल्स बनाते हैं। यह ब्लड प्रेशर और इंफ्लामेशन दोनों को नियंत्रित करने में आवश्यक कारक होता है। जब ब्लड प्रेशर बढ़ता है, तो अपेलिन लेवल को ऊपर बढ़ना चाहिए। ताकि ब्लड वेसल्स की इंडोथेलियल सेल को चौड़ा कर के ब्लड प्रेशर को कम कर सकें। अपेलिन को फेफड़ों में वायरस के कारण सूजन आने पर भी ऐसा ही करना चाहिए। संक्रमण होते ही अपेलिन का स्तर फेफड़ो और खून में कम होता रहता है ।

जर्नल कैनाबिस एंड कैंनबिनोइडल रिसर्च में यह प्रकाशित हुआ है कि CBD से इलाज करने पर फेफड़ों से सूजन कम हुई, फेफड़े बेहतर काम करने में सक्षम हुए और ARDS के कारण होने वाले नुकसान को भी कुछ हद तक कम किया जा सका है।

 CBD ऑयल के फायदे: 

CBD ऑयल हड्डियों में होने वाले गंभीर दर्द को कम कर सकता है। ये शरीर के किसी भी हिस्से में बिना साइड इफैक्ट के सूजन को कम करता है। इसके साथ ही CBD एंग्जायटी और अन्य मानसिक रोग जैसे PTSD और ओसीडी के लक्षण कम करने में भी मददगार है। सीबीडी ऑयल दिल और संचार प्रणाली के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। इस ऑयल में ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने की क्षमता होती है, जो दिल के लिए काफी अच्छा साबित होता है। डॉयबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है CBD ऑयल। इसके इस्तेमाल से डाडबिटीज का स्तर कम रहता है। 

                       Written By: Shahina Noor

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.