top menutop menutop menu

प्रोटीन-इंडेक्स : कोविड अवधि के दौरान प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) बढ़ाने के लिए प्रोटीन जरूरी

कोविड-19 महामारी एक वैश्विक महामारी बन गयी है, जिसे द्वितीय विश्व युद्ध के समय से दुनिया की सबसे बड़ी चुनौती माना जा रहा है। भारत अब दुनिया के सबसे ज्यादा प्रभावित कोविड-19 देशों में से एक है।  हालांकि सरकार और नागरिक सक्रिय रूप से इस बीमारी के फैलाव को रोकने के लिए सावधानी बरत रहे हैं, लेकिन भारत प्रत्येक दिन कोरोना वायरस के मामलों में एक प्रचंड लड़ाई जारी रखे हुए हैं। अब देश के विभिन्न हिस्सों में अनलॉक की प्रक्रिया जारी कर दी गई है, इसमें धीरे-धीरे नियमित संचालन फिर से शुरू किया जा रहा है, जिसमें सामाजिक दूरी और स्वच्छता उपायों के साथ और अधिक सुरक्षा उपायों का आह्वान किया गया है। जिनमें से एक अच्छा स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है।

ऐसी अवधि के दौरान मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) एक अहम भूमिका निभाती है। प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जाना जाता है या अच्छा पोषण एक अच्छी प्रतिरक्षा प्रणाली का एक महत्वपूर्ण कारक है सामान्य चीजों की तरह, प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) भी तभी बेहतर कार्य करती है, जब यह अच्छी तरह से पोषित होती है। यदि शरीर में पर्याप्त निर्माण नहीं हैं, तो प्रतिरक्षा की एक महत्वपूर्ण हानि होने की संभावना अधिक है।

प्रोटीन किसी भी व्यक्ति के पोषण और प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का एक निर्धारक होता है, इसलिए इस समय में, प्रोटीन युक्त भोजन लेना अत्यंत प्राथमिकता बन गया है, जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) को बढ़ाने और लोगों में एक वायरस से लडऩे का सबसे अच्छा मौका दे रही है। राइट टू प्रोटीन, एक राष्ट्रीय जन स्वास्थ्य जागरूकता पहल, समग्र और बेहतर स्वास्थ्य व पोषण हेतु पर्याप्त प्रोटीन खपत के बारे में जागरूकता बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है, जबकि भारत में प्रोटीन की खपत के विषय मे कई मिथकों पर चर्चा की जा चुकी है। राइट टू प्रोटीन पहल के प्रयासों में से एक प्रोटीन इंडेक्स (सूचकांक) साझा करना शामिल है, जिसमें प्रोटीन समृद्ध खाद्य स्रोतों के बारे में जानकारी शामिल है। यहां प्रोटीन समृद्ध खाद्य पदार्थों की शीर्ष 5 श्रेणियां दी गई हैं, जिन्हें दैनिक भारतीय आहार में शामिल किया जाना चाहिए : 

दालें - प्रोटीन इंडेक्स (सूचकांक) में कई प्रोटीन युक्त दालें जैसे मूंग, राजमा,चना, काली सेम आदि शामिल हैं। इस सूची में सबसे अधिक प्रोटीन सामग्री के साथ सोयाबीन भी है। प्रति 100 ग्राम सोयाबीन में 52 ग्राम प्रोटीन होता है। सोयाबीन सब्जी बनाने, करी, सलाद, डोसा बनाने और कई चीजों में इस्तेमाल किया जा सकता है। 

नट्स - इस श्रेणी में प्रोटीन इंडेक्स (सूचकांक) में अखरोट, बादाम, काजू और पिस्ता जैसे तत्व शामिल हैं। मूंगफली में प्रति 100 ग्राम 25.8 ग्राम प्रोटीन होता है। मूंगफली का इस्तेमाल सलाद, दाल और नाश्ता बनाने की सामग्री के रूप में जैसे पोहा, इडली, उत्तपम और परांठे में इस्तेमाल किया जा सकता है। मूंगफली का इस्तेमाल घर पर मूंगफली का मक्खन बनाने के लिए भी किया जा सकता है, जिसका सेवन कई तरह से किया जा सकता है।

सी फूड - समुद्री खाद्य पदार्थ की सूची में, इस प्रोटीन-इंडेक्स (सूचकांक) में पोम्फ्रेट, केकड़ों, लॉबस्टर, विद्रुप, मैकेरल आदि शामिल हैं। सबसे ज्यादा प्रोटीन की मात्रा वाला भोजन टूना है - 29 ग्राम प्रोटीन प्रति 100 ग्राम टूना में होता है। टूना को भारतीय आहारों में शामिल करने के लिए कई नए तरीके हैं, कुछ में टूना खीमा मसाला, टूना स्टिर फ्राई, टूना फिश वेजिटेबल,  कोल्ड सलाद में टूना, सैंडविच आदि डिशों को तैयार करने में शामिल किया जा सकता हैं।   

पोल्ट्री एंड मीट- चिकन के अलावा प्रोटीन इंडेक्स में बतख, टर्की, पोर्क, मटन और मेमने जैसे कई प्रोटीन रिच मीट की सुविधा है। इन खाद्य पदार्थों में आसानी से 100 ग्राम मांस के लिए लगभग 20 ग्राम प्रोटीन होता है। इन्हें हेवी मील्स जैसे करी व रोस्ट और लाइटर मील्स जैसे सैंडविच व सलाद में शामिल किया जा सकता है।  

बीज - प्रोटीन इंडेक्स (सूचकांक) से बीज श्रेणी में शीर्ष प्रोटीन समृद्ध खाद्य बीज जैसे सूरजमुखी के बीज, अलसी के बीज, कद्दू के बीज, खसखस आदि शामिल हैं। सूची में शीर्ष पर हेम्प बीज (Hemp Seeds) है, जिसमें 100 ग्राम की मात्रा में 30 ग्राम प्रोटीन होता है। हेम्प के बीज (Hemp Seeds) प्रोटीन के पूर्ण स्रोत हैं और प्रोटीन के लिए आवश्यक सभी 9 अमीनो एसिड प्रदान करते हैं। हेम्प बीजों (Hemp Seeds) का उपयोग अनाज, सलाद, कुकीज़, हलवा आदि में किया जा सकता है।

इस महामारी में केवल वायरस को अनुबंधित करने से जुड़े जोखिमों के शिकार होने से बचने हेतु उसके डर से निपटने के लिए तैयार होने के लिए जागरूता को बढाया है। डब्ल्यूएचओ और सीडीसी ने कीटाणुनाशक का उपयोग करने के लिए, मास्क पहनने, हाथ धोने और सामाजिक दूरी को प्रयोग में लाने के अलावा कोविड-19 के खिलाफ सबसे अच्छा सुरक्षा में से एक अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए है। 

बेहतर स्वास्थ्य एवं जीवनशैली प्रबंध के लिए मानव शरीर की बुनियादी आवश्यकता मजबूत रक्षा तंत्र प्रणाली है, जिसके लिए कई अन्य पौषिक खाद्या पदार्थें के साथ प्रत्येक भोजन में कम से कम 25 प्रतिशत प्रोटीन का सेवन आवश्यक है। प्रोटीन के विषय में अधिक जानने के लिए www.righttoprotein.com पर लॉग ऑन करें।

यह आर्टिकल ब्रांड डेस्‍क द्वारा लिखा गया है

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.