डायबिटीज, अस्थमा और दिल के मरीजों के लिए रामबाण औषधि है फालसे

डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर कंट्रोल करना आसान नहीं होता है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर कंट्रोल करना आसान नहीं होता है। इसके लिए मरीजों को अपनी डाइट पर पैनी नजर रखनी पड़ती है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और ब्लड शुगर कंट्रोल करना चाहते हैं तो फालसे का सेवन कर सकते हैं।

Publish Date:Mon, 25 Jan 2021 03:59 PM (IST) Author: Umanath Singh

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। फालसा भारत सहित दुनियाभर के कई देशों में पाया जाता है। इसकी खेती उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में की जाती है। फालसा लता की तरह होती है। फालसा गर्मी के दिनों में फलता है। इसका स्वाद रसभरी खट्टा मीठा होता है। आयुर्वेद में फालसा का उल्लेख है। इसका इस्तेमाल फल और दवा दोनों रूप में किया जाता है। इसमें कई गुणकारी औषधि पाए जाते हैं जो डायबिटीज, अस्थमा और दिल के मरीजों के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। आजकल लोग एकसाथ कई बीमारियों के शिकार हैं। कई शोध में फालसे को सेहत के लिए गुणकारी बताया गया है। आइए जानते हैं कि कैसे फालसे इन रोगों में फायदेमंद होते हैं-

डायबिटीज में फायदेमंद

डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर कंट्रोल करना आसान नहीं होता है। इसके लिए मरीजों को अपनी डाइट पर पैनी नजर रखनी पड़ती है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और ब्लड शुगर कंट्रोल करना चाहते हैं, तो फालसे का सेवन कर सकते हैं। इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स मापने की वह प्रक्रिया है, जिससे यह पता चलता है कि कार्बोहाइड्रेट से कितने समय में ग्लूकोज़ बनता है। इसके सेवन से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है।

अस्थमा के लिए भी गुणकारी

विशेषज्ञों की मानें तो अस्थमा के मरीजों के लिए फालसा गुणकारी होता है। इसमें फाइटोकेमिकल्स पाया जाता है, जिससे अस्थमा में आराम मिलता है। इसके लिए रोजाना फालसा के जूस का सेवन करें। साथ ही फालसे के सेवन से भी सांस संबंधी बीमारियों में आराम मिलता है।

दिल के लिए लाभकारी

फालसे में कई ऐसे गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो कई रोगों में फायदेमंद होते हैं। जैसा कि हम सब जानते हैं कि फालसा में ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है। अतः इसके सेवन से वजन नियंत्रित रहता है। चूंकि मोटापे के चलते दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। फालसे दिल के लिए लाभकारी होता है। इसके सेवन से दिल स्वस्थ रहता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.