Monsoon Baby Care: मॉनसून में इन 5 चीज़ों का रखेंगे ख़्याल, तो बच्चों को नहीं होगा स्किन इंफेक्शन

Monsoon Baby Care मॉनसून के दौरान सिर्फ बड़ों को ही नहीं बल्कि बच्चों को भी कई तरह के इंफेक्शन होने का ख़तरा बढ़ जाता है। ख़ासतौर से त्वचा से जुड़े इंफेक्शन्स। इससे बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए इन 5 चीज़ो का ध्यान रखना ज़रूरी है।

Ruhee ParvezWed, 15 Sep 2021 12:10 PM (IST)
मॉनसून में इन 5 चीज़ों का रखेंगे ख़्याल, तो बच्चों को नहीं होगा स्किन इंफेक्शन

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Monsoon Baby Care: बच्चों और ख़ासतौर पर नवजात शिशुओं की त्वचा काफी नाज़ुक होती है। यही वजह है कि वे त्वचा से जुड़े इंफेक्शन्स का शिकार भी आसानी से हो जाते हैं। इसलिए बारिश के मौसम में बच्चों का खास ध्यान रखने की ज़रूरत होती है। इस मौसम में होने वाली बीमारियों और इंफेक्शन दोनों से ही बच्चों को बचाने के लिए आपको कई सावधानी बरतनी होती हैं।

मॉनसून में बच्चों की त्वचा को इंफेक्शन से सुरक्षित रखने के लिए सही बेबी केयर प्रोडक्ट्स के साथ इन 5 चीज़ो का ध्यान रखने की भी ज़रूरत होती है।

1. इस मौसम में सिर में खुजली और इंफेक्शन के आसार बढ़ जाते हैं। इसके लिए आप उनके सिर की नियमित रूप से सफाई करें। डॉक्टर की सलाह लेकर बच्चों के लिए आने वाले मेडिकेटेड शैम्पू यूज करें।

2. बच्चों को नहलाते समय माइल्ड साबुन का उपयोग करें। नहलाने के बाद उनके शरीर को मुलायम और साफ तौलिए से पोछें। इसके बाद ऑलिव ऑयल और बादाम तेल मिलाकर मॉइश्चराइज़र की तरह लगाएं।

3. बारिश के इस मौसम में रैशेज़ भी आसानी से हो जाते हैं। बेबी को इससे बचाने के लिए ध्यान रखें कि उनकी त्वचा अच्छी तरह हाईड्रेट रहे। साथ ही, पैराबेन, आर्टिफिशियल कलर, सुगंध और अल्कोहल वाले प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचे।

4. बच्चे के लिए लोशन खरीदते वक्त ध्यान दें कि उसमें एलोवेरा और सरसों के तेल जैसी सामग्री भी शामिल हो। इससे त्वचा को पूरी नमी तो मिलेगी ही साथ ही इंफेक्शन का जोखिम भी कम होगा।

5. अक्सर डायपर के लगातार इस्तेमाल की वजह से बच्चों में रैशेज़ और इंफेक्शन की दिक्कत रहती है। इसके लिए नया डायपर पहनाने स पहले त्वचा को साफ करें और गीला होने से बचाकर रखें। नहलाने के बाद उस हिस्से में बादाम तेल लगाकर मालिश करें। नियमित अंतराल पर डायपर बदलें।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.