Yoga For Posture Correction: पॉश्चर करेक्शन के लिए यह एक योगासन करती हैं मलाइका अरोड़ा

Yoga For Posture Correction मलाइका फिटनेस को लेकर उत्साहित रहती हैं इसलिए वह नए-नए वर्कआउट रूटीन को आज़माकर अपनी सीमा का परीक्षण करती रहती हैं और यहां तक ​​कि अपने सोशल मीडिया हैंडल पर अपने फैन्स के लिए इसकी एक झलक भी शेयर करती हैं।

Ruhee ParvezTue, 03 Aug 2021 01:33 PM (IST)
पॉश्चर करेक्शन के लिए यह एक योगासन करती हैं मलाइका अरोड़ा

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Yoga For Posture Correction: मलाइका अरोड़ा बॉलीवुड की सबसे फिट अदाकाराओं में से एक हैं। उनकी अनुशासित जीवनशैली और वर्कआउट रूटीन उन सभी के लिए एक प्रेरणा है, जो फिट और स्वस्थ रहना चाहते हैं। मलाइका फिटनेस को लेकर उत्साहित रहती हैं, इसलिए वह नए-नए वर्कआउट रूटीन को आज़माकर अपनी सीमा का परीक्षण करती रहती हैं और यहां तक ​​कि अपने सोशल मीडिया हैंडल पर अपने फैन्स के लिए इसकी एक झलक भी शेयर करती हैं। हाल ही में 45 साल की इस एक्ट्रेस ने परिवृत उत्कटासन आसन करते हुए अपनी एक तस्वीर शेयर की।

इस आसन की खूबियों के बारे में बताते हुए, "यह मुद्रा लचीलेपन को बढ़ाने में मदद करती है और रीढ़ को मज़बूत करके आपके पॉश्चर को सही करती है। साथ ही डिटॉक्स के लिए काफी लाभदायक है।"

​परिवृत उत्कटासन आसन

इसका नाम संस्कृत मूल के शब्दों, परिव्रत-घुमावदार और उत्कट-खूंखार से लिया गया है। इस आसन को खड़े होकर या कुर्सी पर बैठकर भी किया जा सकता है। मलाइका ने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट में इस आसन को कुर्सी और योगा ब्लॉक्स की मदद से किया।

इस आसन को कैसे किया जाए?

पहला स्टेप: अपने दोनों पैरों और हिप के बीच दूरी कर कुर्सी पर सीधा बैठें, हाथों को अपनी जांघों पर रखें। योगा ब्लॉक्स को आपने सामने रखें।

दूसर स्टेप: अपने पैरों को अच्छी तरह से योगा ब्लॉक्स पर रखें। आपके पैर और घुटने बराबरी पर साधे होने चाहिए।

तीसरा स्टेप: सांस अंदर लें और नमस्कार मुद्रा में अपने हाथों को जोड़ें।

चौथा स्टेप: सांस बाहर छोड़ते हुए, अपने शरीर को बाईं ओर मोड़ें और अपनी दाहिनी कोहनी को अपने बाएं घुटने के पास रखें।

पांचवां स्टेप: आपकी जुड़ी हुई हथेलियां आपकी छाती के सामने होनी चाहिए।

छठा स्टेप: 10 से 15 सेकेंड तक इस मुद्रा में रहते हुए सांस लें और छोड़ते रहें।

सातवां स्टेप: इसे शरीर की दूसरी तरफ भी दोहराएं।

इस आसन को करने के फायदे

योग सिर्फ लचीलापन और ताकत बढ़ाने के बारे में नहीं है। रोज़ाना योग करना आपके मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। आइए जानें आपके इस आसन को अपने फिटनेस रुटीन में क्यों शामिल करना चाहिए।

- इस आसन को करने से कंधों, रीढ़ और गर्दन की अकड़न दूर होती है।

- यह पिंडली की मांसपेशियों को स्ट्रेच करता है और मज़बूती देता है।

- यह आपके कंधों, सीने और पीठ के ऊपरी हिस्से को खोलता है।

- यह आपकी टखनों की मूवमेंट में सुधार करता है।

- ये शरीर को डिटॉक्स करता है और सेहत में सुधार लाता है।

- सांस लेने की प्रक्रिया को सुधारता है।

- आपका आत्मविश्वास को बढ़ावा मिलता है।

इसे करने से पहले किन लोगों को सावधान रहना चाहिए?

इस आसन को करने से भले ही कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं, लेकिन कुछ लोगों को इसे अपने वर्कआउट रूटीन में शामिल करते समय बेहद सतर्क रहना चाहिए।

अनिद्रा, लो ब्लड प्रेशर, सिर दर्द, टखने या घुटने की चोट से जूझ रहे लोगों को इस आसन को करने से बचना चाहिए क्योंकि यह आपकी तकलीफ को बढ़ा सकता है। यहां तक कि प्रेग्नेंट महिलाओं को इस आसन को करने से बचना चाहिए, क्योंकि शरीर को मोड़ना इस समय मुमकिन नहीं होगा। साथ ही इस आसन को करते समय खुद पर ज़्यादा ज़ोर न डालें।

आसन से जुड़े कुछ ज़रूरी टिप्स

इस आसन को करना आसान लगता है, लेकिन फिर भी कई लोग इसे करते हुए कुछ गलतियां कर बैठते हैं, जिसकी वजह से इस आसन से मिलने वाले फायदे कम हो जाते हैं। तो इसे करने से पहले इस आसन से जुड़े कुछ टिप्स जान लें।

- इस आसन को करते समय अपनी पीठ को नैचुरल रखें, इसे आसामान्य तरीके से न सीधा करें।

- जांघों को सीधा रखें।

- आसन को करते समय सांस अच्छी तरह लें।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.