Eye Fatigue Tips: आंखों की ड्राइनेस और थकना फौरन दूर करेंगे ये आसान टिप्स!

Eye Fatigue Tips लंबे समय तक स्क्रीन पर ध्यान केंद्रित करने बहुत लंबे समय तक गाड़ी चलाने लिखने और पढ़ने जैसे कामों के लंबे समय तक चलने से आंखों में थकान हो सकती है। इंटेंस फोकस का मतलब है कि आप बार-बार पलक नहीं झपका रहे हैं।

Ruhee ParvezThu, 16 Sep 2021 10:46 AM (IST)
क्या है आंखों का थकना? इन आसान टिप्स से दें इन्हें आराम

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Eye Fatigue Tips: स्क्रीन टाइम एक ऐसी चीज़ बन गई जिसे लेकर सभी लोग चिंतित थे। लेकिन महामारी ने न सिर्फ वयस्कों के लिए बल्कि बच्चों का भी स्क्रीन टाइम और बढ़ा दिया है। ऑफिस के काम से लेकर बर्थडे सेलीब्रेशन तक, हर चीज़ ऑनलाइन शिफ्ट हो गई है। जिसका ख़ामियाज़ा हमारी आंखों को उठाना पड़ रहा है।

आंखों की थकान क्या है?

लंबे समय तक स्क्रीन पर ध्यान केंद्रित करने, बहुत लंबे समय तक गाड़ी चलाने, लिखने और पढ़ने जैसे कामों के लंबे समय तक चलने से आंखों में थकान हो सकती है। इंटेंस फोकस का मतलब है कि आप बार-बार पलक नहीं झपका रहे हैं। डिजिटल स्क्रीन पर देखते वक्त आपकी पलकें कम झपकती हैं, जिससे आपकी पुतलियां शुष्क और उत्तेजित हो सकती हैं। इसका मतलब है कि आपकी आंखों को आराम चाहिए।

थकी हुई आंखों के लक्षण

यह पहचानना और बताना आसान नहीं है कि आपकी आंखें कब थकी हुई हैं क्योंकि कुछ मामलों में लक्षण अन्य चीज़ों के पीछे छिपे होते हैं। कुछ लोग सिर दर्द, गर्दन में दर्द या ऐंठन, या फिर ध्यान लगाने में असमर्थ महसूस कर सकते हैं। आपकी आंखों में पानी आ सकता है, दृष्टि धुंधली हो सकती है, आंखें जल सकती हैं या खुजली हो सकती है या आप प्रकाश के प्रति अधिक संवेदनशील महसूस कर सकते हैं। ये सभी लक्षण संकेत हैं कि आपकी आंखों को कुछ समय बंद करने की ज़रूरत है।

आंखों की थकान को कैसे रोकें

- अपने लैपटॉप और फोन पर फॉन्ट साइज़ बढ़ाएं। चकाचौंध और स्क्रीन से प्रतिबिंब आंखों पर अधिक दबाव डाल सकता है। ऐसे में फॉन्ट का साइज़ बढ़ाना मददगार साबित हो सकता है।

- स्क्रीन को दो फीट दूर रखने से यह सुनिश्चित हो जाएगा कि आपकी आंखों की निगाह थोड़ी नीचे की ओर है।

- स्क्रीन की ब्राइटनेस कम करें और बीच-बीच में पलक झपकाना न भूलें। आप खुद को बार-बार पलक झपकने की याद दिलाने के लिए फोन पर अलार्म या अपनी स्क्रीन पर एक नोट भी लगा सकते हैं।

- 20-20-20 रूल का पालन करें। हर 20 मिनट बाद एक ऐसी चीज़ को 20 सेकेंड तक देखें जो दूर रखी हो। इससे आपकी आंखों को ज़रूर ब्रेक मिल जाएगा।

​आंखों की थकान दूर करने के उपाय

- जब तक आप बेहतर महसूस न करने लगें तब तक किसी भी स्क्रीन को देखना बंद कर दें।

- साल में एक बार अपनी आंखों की जांच जरूर कराएं।

- मायोपिया जैसी अंतर्निहित आंखों की समस्याओं के कारण आंखों की थकान खराब हो सकती है।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.