Cabbage Side Effects: पत्ता गोभी खाना हो सकता है ख़तरनाक, जानें क्यों इससे डरते हैं कुछ लोग!

Cabbage Side Effects पत्ता गोभी को सेहत के लिए फायदेमंद इसमें मौजद पोषक तत्वों की वजह से माना जाता है। पत्ता गोभी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों की वजह से यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से जुड़ी तकलीफों में फायदा पहुंचा सकती है।

Ruhee ParvezTue, 28 Sep 2021 03:37 PM (IST)
पत्ता गोभी खाना हो सकता है ख़तरनाक, जानें क्यों इससे डरते हैं कुछ लोग!

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Cabbage Side Effects: डाइट एक्सपर्ट्स खाने में ज़्यादा से ज़्यादा सब्ज़ियों को शामिल करने की सलाह देते हैं। ऐसा इसलिए कि सब्ज़ियां शरीर को कई तरह के पोषक तत्व देती हैं, जिससे आपकी सेहत अच्छी रहती है। सब्ज़ियां सिर्फ आपका पेट भरने का काम नहीं करतीं बल्कि अपने मज़ेदार स्वाद से दिल भी खुश करती हैं। ऐसी ही एक सब्ज़ी है पत्ता गोभी, जो कई रंगों और आकार में आती है। दुनियाभर में इसका इस्तेमाल कई तरह के लज़ीज़ व्यंजन बनाने के लिए किया जाता है। पत्ता गोभी स्वादिष्ट होने के साथ कई शारीरिक समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकती है।

सेहत के लिए कैसे अच्छी है पत्ता गोभी?

पत्ता गोभी को सेहत के लिए फायदेमंद इसमें मौजद पोषक तत्वों की वजह से माना जाता है। पत्ता गोभी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों की वजह से यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से जुड़ी तकलीफों में फायदा पहुंचा सकती है। साथी ही पत्ता गोभी में विटामिन, मिनरल और फाइटोन्यूट्रिएंट्स जैसे गुण भी होते हैं। इस सब्ज़ी में फाइबर ज़्यादा और कैलोरी कम पाई जाती है। लेकिन फिर भी लोग इसे खाने से क्यों डरते हैं?

पत्ता गोभी खाने से क्यों डरते हैं लोग

कई लोग बाहर खाते वक्त बर्गर, चाऊमीन, मोमोज़, स्प्रिंग रोल्स आदि से पत्ता गोभी को हटाने को कहते हैं। कई लोग ऐसे भी होते हैं, जो पत्ता गोभी के नाम से ही डर जाते हैं। दरअसल, पत्ता गोभी के ज़रिए शरीर में टेपवर्म के पहुंचने के कई मामले सामने आते ही रहते हैं। ये आंतों में विकसित होने के बाद रक्त प्रवाह के साथ शरीर के अन्य हिस्सों में भी पहुंच जाते हैं। कई बार आंखों में, तो कई बार दिमाग़ में भी पहुंच जाता है। ऐसे में इन्हें नज़रअंदाज करना जानलेवा साबित हो सकता है।

पत्ता गोभी को लेकर ऐसे तमाम लोगों के डर की वजह इसमें मौजूद कीड़ा है, जो पत्ता गोभी खाने से शरीर में पहुंच जाता है और फिर दिमाग में भी पहुंच सकता है। दिमाग़ में पहुंचने पर यह जानलेवा साबित हो सकता है। इस कीड़े को टेपवर्म कहते हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.