कोरोना काल में सेहतमंद रहने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें

दाल को पोषक तत्वों का पॉवर हाउस कहा जाता है।

दही में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। साथ ही इसमें गुड बैक्टीरिया होता है। इन सब के अलावा दही में कैल्शियम विटामिन बी2 विटामिन बी12 पोटैशियम मैग्नीशियम पाए जाते हैं। इसे आसानी से घर पर तैयार किया जाता है। रोजाना दही का करना चाहिए।

Umanath SinghSun, 11 Apr 2021 12:46 PM (IST)

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोना काल में सेहत लोगों की प्राथमिकता है। इसके लोग अपनी सेहत पर विशेष ध्यान देने लगे हैं। डॉक्टर्स भी सेहतमंद रहने के लिए सही दिनचर्या, उचित खानपान और रोजाना एक्सरसाइज करने की सलाह देते हैं। साथ ही तनाव और अवसाद से दूर रहने के लिए कहते हैं। बड़े-बुजुर्ग भी सेहतमंद रहने के लिए देसी खाना (घर का खाना) खाने की सलाह देते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं है कि सेहतमंद रहने के लिए किसी विशेष प्रयोजन की जरूरत नहीं है। इसके लिए डाइट में पोषक तत्वों से भरपूर चीजों को शामिल करना चाहिए। अगर आपको पता नहीं है, तो आइए जानते हैं-

दही

दही में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। साथ ही इसमें गुड बैक्टीरिया होता है। इन सब के अलावा, दही में कैल्शियम, विटामिन बी2, विटामिन बी12, पोटैशियम, मैग्नीशियम पाए जाते हैं। इसे आसानी से घर पर तैयार किया जाता है। रोजाना दही का करना चाहिए। इससे पाचन  तंत्र मजबूत होता है। इसके अलावा, तनाव और पुराने रोगों का जोखिम कम हो जाता है।

दाल

दाल को पोषक तत्वों का पॉवर हाउस कहा जाता है। दाल के हर एक दाने में पोषक तत्व मौजूद होता है। इसके सेवन से शरीर को ऊर्जा की प्राप्ति होती है। इसमें प्रोटीन और फाइबर पाए जाते हैं, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ और मजबूत करने में सहायक होते हैं। साथ ही नए सेल्स का निर्माण करते हैं। दाल में विटामिन-ए, बी, सी, ई, मैग्नीशियम, आयरन और जिंक पाए जाते हैं।

बाजरा

अक्सर लोग रोटी और चावल पर ज्यादा ध्यान देते हैं। वहीं, बाजरे को भूल जाते हैं। बाजरा ग्लूटेन फ्री होता है, जो गेंहू और रागी की तुलना में ज्यादा हेल्दी होता है। इसमें डायटरी फाइबर पाया जाता है। साथ ही बाजरा प्रोबायोटिक के लिए जाना जाता है। इससे कब्ज, कोलन कैंसर में आराम मिलता है। साथ ही फाइबर वजन घटाने में मदद करता है।

मसालें

भारत मसालों के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। मसालों में औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं। मसालों से सूजन में आराम मिलता है, इम्युनिटी बूस्ट होती है और कई घातक बीमारियों में आराम मिलता है। हल्दी, दालचीनी, मेथी, काली मिर्च आदि मसालों का सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद साबित होता है। इसके लिए डाइट में मसालों को जरूर शामिल करें।

लहसुन

आयुर्वेद में लहसुन का इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो सेहत और सुंदरता दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं। खासकर सर्दियों में लहसुन के सेवन से सर्दी, खांसी और जुकाम में बड़ी जल्दी आराम मिलता है। साथ ही यह रक्तचाप, कब्ज, संक्रमण और दांतों के दर्द में भी फायदेमंद है। इसमें गंधक पाया जाता है, जिससे स्वाद तीखा हो जाता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.