खाने में बेहद स्वादिष्ट लगने वाली ये चीज़ें बन सकती हैं कैंसर की वजहें

बर्गर ऑर्डर करते वक्त ज्यादातर लोग फ्रेंच फ्राईज़ और कोल्ड ड्रिंक भी लेना पसंद करते हैं। नो डाउट ये कॉम्बिनेशन खाने में बहुत अच्छा लगता है लेकिन सेहत के मद्देनजर ये बिल्कुल भी सही ऑप्शन नहीं होता। तो आज कैंसर रिस्क बढ़ाने वाले कुछ फूड आइटम्स के बारे में जानेंगे।

Priyanka SinghWed, 01 Dec 2021 07:00 AM (IST)
खाने के लिए सर्व किए गए फ्रेंच फ्राइज और सॉस

बहुत ज्यादा सिगरेट, एल्कोहल और तंबाकू का सेवन कैंसर की वजह बन सकता है इसके बारे में आप जानते ही होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ फूड आइटम्स भी कैंसर सेल्स के पनपने और बढ़ने की वजह बन सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में।

मीठी चीज़ें और बेकरी प्रोडक्ट्स

ऐसी फूड आइटम्स जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत ज्यादा होता है उन्हें खाना कैंसर के रिस्क को बढ़ा सकता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स को ऐसे समझा जा सकता है जो बॉडी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं। जैसे बेकरी प्रोडक्ट्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स, सोडा, व्हाइट ब्रेड, मिठाइयां जैसी चीज़ें। तो इन्हें पूरी तरह से अवॉयड करें क्योंकि कैंसर सेल्स बढ़ने के लिए फ्यूल के रूप में शुगर का ही इस्तेमाल करते हैं।

मैदा

आटे से दूसरी चीज़ें खासतौर से मैदा बनाने के लिए जब उसकी प्रोसेसिंग की जाती है जो उसे सफेद करने के लिए क्लोरीन गैस का इस्तेमाल किया जाता है जो कैंसर सेल्स के बढ़ने की वजह हो सकते हैं। मीठी चीज़ों के अलावा मैदे का भी ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत ज्यादा होता है जो एकदम से शुगर का लेवल बढ़ा देता है। जिससे होने वाले खतरे से आप वाकिफ हैं ही।

रेड मीट

रेड मीट जिसमें बीफ से लेकर लैंब, पोर्क और गोट मीट शामिल होता है। प्रोसेस्ड मीट के स्वाद और लंबे समय तक फ्रेशनेस को बनाए रखने के लिए नमक, फर्मेंटेशन, स्मोक जैसी कई प्रक्रियाओं का इस्तेमाल किया जाता है। जो सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक है। इनके सेवन से कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है।

कैन फूड्स

कैन की कोटिंग के लिए बहुत ही खतरनाक केमिकल जिसे BPA कहा जाता है का इस्तेमाल होता है जो हॉर्मोन्स को स्तर को तो बिगाड़ता ही है साथ ही कैंसर के रिस्क को भी बढा़ने का काम करता है।

पोटैटो चिप्स/ फ्रेंच फ्राइज़

आप जानते ही होंगे फ्रेंच फ्राइज और आलू के चिप्स को बनाने की प्रक्रिया जिसमें बहुत सारे तेल और नमक का इस्तेमाल होता है। नो डाउट ये खाने में बेहद स्वादिष्ट लगते हैं। बच्चों तो बड़े ही शौक से इसे खाते हैं लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि ये नमक, अस्वास्थ्यकर वसा के साथ-साथ एक्रिलामाइड नामक एक रसायन से भरपूर होते हैं, जो बहुत ज्यादा तापमान पर पकाने से होता है। एक्रिलामाइड बॉडी में कैंसर कोशिकाओं को बढ़ावा देने की संभावना बढ़ाता है।

Pic credit- pexels

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.