डायबिटीज के मरीज अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ये 5 चीजें

डॉक्टर्स टाइप2 डायबिटीज के मरीजों को खानपान और वर्कआउट पर विशेष ध्यान देने की सलाह देते हैं।

विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज दो प्रकार के होते हैं। टाइप1 डायबिटीज़ में अग्नाशय से इंसुलिन (इंसुलिन एक हार्मोन है) का स्त्राव होता है। जबकि टाइप2 डायबिटीज में अग्नाशय से इंसुलिन बिल्कुल नहीं निकलता है। डॉक्टर्स टाइप2 डायबिटीज के मरीजों को खानपान पर विशेष ध्यान देने की सलाह देते हैं।

Publish Date:Mon, 26 Oct 2020 03:29 PM (IST) Author: Umanath Singh

दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। आधुनिक समय में डायबिटीज के लिए खराब दिनचर्या, गलत खानपान और तनाव जिम्मेवार हैं। यह बिमारी आनुवांशिकता की वजह से भी होती है। विशेषज्ञों की मानें तो डायबिटीज दो प्रकार के होते हैं। टाइप1 डायबिटीज़ में अग्नाशय से इंसुलिन (इंसुलिन एक हार्मोन है) का स्त्राव होता है। जबकि टाइप2 डायबिटीज में अग्नाशय से इंसुलिन बिल्कुल नहीं निकलता है। इसके लिए डॉक्टर्स टाइप2 डायबिटीज के मरीजों को खानपान और वर्कआउट पर विशेष ध्यान देने की सलाह देते हैं। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना चाहते हैं, तो आप अपनी डाइट में इन 5 चीजों को जरूर शामिल करें। इनके सेवन से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में बहुत मदद मिलती है। आइए जानते हैं-

खजूर खाएं

इसमें फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो इसे डायबिटीज फ्रेंडली बनाता है। एक शोध के अनुसार, खजूर में एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं जो एंटी डायबिटीक की तरह काम करते हैं।

दूध पिएं

कैल्शियम और विटामिन-डी का मुख्य स्त्रोत दूध है। यह डायबिटीज के लिए अमृत समान होता है। साथ ही आप डेयरी प्रोडक्ट्स भी ले सकते हैं। इसके लिए आप अपनी डाइट में पनीर और दही का भी सेवन कर सकते हैं। रोजाना सुबह में नाश्ते के समय एक गिलास दूध जरूर पिएं।

अलसी का सेवन करें

इसमें फाइबर और अल्फा लिनोलेनिक एसिड (अल्फा लिनोलेनिक एसिड को शरीर ओमेगा-3 में तब्दील करता है) पाए जाते हैं।  इसके सेवन से ब्लड शुगर लेवल और कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है। साथ ही अलसी को डाइट में जोड़ने से हार्ट अटैक का जोखिम भी कम जाता है। आप अलसी को पनीर अथवा ओटमील के साथ सेवन कर सकते हैं।

सेज जरूर जोड़ें

एक जर्मन शोध के अनुसार, खाली पेट सेज के सेवन से रक्त में शर्करा स्तर घटता है। आयुर्वेद में सेज दवा रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसे चाय में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है।

बीन्स खाएं

इसमें कैल्शियम और फाइबर पाया जाता है। इसके सेवन से आपका पेट हर समय भरा महसूस होता है। इससे ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल भी घटता है। इसमें पाया जाता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.