Air Pollution: दिल्‍ली के प्रदूषण से फेफड़ों को बचाने के लिए खाइए गुड़, ये दों चीजें भी खाईं तो स्‍वस्‍थ रहेगा ह्रदय

नई दिल्‍ली, जेएनएन। Eat Jaggery Walnut And Milk To Protect Yourself From Air Pollution: इन दिनों दिल्‍ली एनसीआर में प्रदूषण ने लोगों का सांस लेना मुश्किल कर रखा है। अस्‍थमा के पेशेंट और बच्‍चों के लिए मुसीबत बनी हुई है। ऐसे में अगर आप खुद को और अपने परिवार के लोगों को प्रदूषण से होने वाले नुकसान से बचाना चाहते हैं तो देसी गुड़ खाना आज से ही शुरू कर दें। इसके अलावा गुड़ के साथ दो अन्‍य खाद्य पदार्थों का सेवन किया तो आपकी सेहत सुधरने के साथ लाइफ बढ़ जाएगी।

दिल्‍ली सरकार ने प्रदूषण से लोगों को बचाने के लिए वाहन चालकों के लिए ऑड इवन सेवा लागू कर रखी है, बावजूद प्रदूषण में कोई कमी नहीं दिखाई दे रही है। एनसीआर क्षेत्र में आने वाले आद्योगिक नगर नोएडा, ओखला, फरीदाबाद, गुरुग्राम की तमाम फैक्ट्रियों का उत्‍पादन पहले ही बंद किया जा चुका है। इसके आलावा एनसीआर में कंस्‍ट्रंक्‍शन वर्क पर भी पाबंदी लगाई गई है।

इन सब प्रयासों के बावजूद वातावरण में जहरीली हवा का घुलना बंद नहीं हो रहा है। नतीजतन सांस और हृदय के रोगियों की संख्‍या लगातार बढ़ती जा रही है। जानकार इस पॉल्‍यूशन से बचने के लिए और एनसीआर में रहते हुए लंबे समय तक जिंदा रहने के लिए खाने में तीन चीजों के सेवन की बात कह रहे हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक एनसीआर में पॉल्‍युशन के चलते 10 सिगरेट के बराबर कार्बन हर व्‍यक्ति के फेफड़ों में प्रवेश कर रहा है। चिकित्‍सकों और जानकारों के मुताबिक रात में भोजन के बाद 50 ग्राम देसी गुड़ और 250 ग्राम शुद्ध गुनगुना दूध पीने से फेफड़ों को बीमारी से बचाया जा सकता है। पॉल्‍यूशन से फेफड़ों को बचाने के लिए गुड़ को रामबाण बताया गया है।

इसके अलावा भी पॉल्‍यूशन से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए प्रचुर मात्रा में विटामिन सी और ओमेगा 3 मात्रा लेने की सलाह चिकित्‍सक दे रहे हैं। इसके अलावा दिन भर में कम से कम 6 लीटर पानी जरूर पिएं। गुड़ के अलावा रात में सोने से पहले हल्‍दी और अखरोट के नियमित सेवन से भी हृदय की बीमारियों से बचा जा सकता है।  

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.