उच्च रक्तचाप को कंट्रोल करने में कारगर साबित होता है क्लोरेला, ऐसे करें इस्तेमाल

क्लोरेला एक प्रकार का शैवाल है। इसमें क्लोरोफिल पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। सामान्यतः शैवाल हरे रंग का होता है लेकिन कुछ शैवाल का रंग अन्य रंगों की तरह होता है। इसमें प्रोटीन और मिनरल पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है।

Pravin KumarFri, 23 Jul 2021 08:20 PM (IST)
जानकारों की मानें तो आने वाले समय में शैवाल खाद्य की कमी को पूरी कर सकता है।

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। उच्च रक्तचाप को अंग्रेजी में हाइपरटेंशन भी कहा जाता है। इस स्थिति में धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ने लगता है। इसके चलते दिल को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। उच्च रक्तचाप सिस्टोलिक और डायस्टोलिक दो प्रकार से मापी जाती है। इससे यह पता चलता है कि धड़कनों के बीच तनाव या संकुचन है। सामान्य रक्तचाप 100-140 mmHg सिस्टोलिक और 60-90 mmHg डायस्टोलिक होता है। उच्च रक्तचाप में रीडिंग 90/140 mmHg या इसके ऊपर रहता है। विशेषज्ञों की मानें तो खराब दिनचर्या, गलत खानपान और तनाव के चलते उच्च रक्तचाप की समस्या होती है। खासकर तनाव मुख्य कारण है। इसके लिए तनाव से दूर रहें। अगर आप भी उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं और कंट्रोल करना चाहते हैं, तो क्लोरेला का सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से उच्च रक्तचाप को कंट्रोल किया जा सकता है। आइए जानते हैं-

क्लोरेला क्या है

क्लोरेला एक प्रकार का शैवाल है। इसमें क्लोरोफिल पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। सामान्यतः शैवाल हरे रंग का होता है, लेकिन कुछ शैवाल का रंग अन्य रंगों की तरह होता है। इसमें प्रोटीन और मिनरल पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है। इसके लिए शैवाल को सुपरफूड भी कहा जाता है। जानकारों की मानें तो आने वाले समय में शैवाल खाद्य की कमी को पूरी कर सकता है। वर्तमान समय में क्लोरेला पर कई शोध किए जा रहे हैं। इसके उपयोग पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। इन शोधों के जरिए खुलासा हुआ है कि क्लोरेला के सेवन से मधुमेह, उच्च रक्तचाप, मोटापा आदि समस्या का निदान किया जा सकता है।

ncbi.nlm.nih.gov पर छपी एक शोध में क्लोरेला पर गहन विचार विमर्श किया गया है। इस शोध की मानें तो क्लोरेला के सेवन से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है। यह शोध 36 लोगों पर किया गया था। इनमें 16 पुरुषों और 20 महिलाओं को शामिल किया गया था। इन्हें रोजाना 4.5 ग्राम क्लोरेला सेवन करने की सलाह दी गई है। इसका परिणाम बेहद संतोषजनक रहा है। इस शोध में पाया गया कि क्लोरेला के सेवन से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

वजन कम करने में मददगार

क्लोरेला वजन कम करने में मददगार है, क्योंकि इसमें इसमें प्रोटीन, क्लोरोफिल समेत कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। अगर व्यक्ति वजन कम करने के लिए डाइटिंग अथवा वॉटर फास्टिंग करता है, तो इन दिनों में क्लोरेला का सेवन कर सकता है। इससे भूख कम लगती है। जबकि प्रोटीन बॉडी को कमजोर नहीं होने देता है। इस आधार पर विशेषज्ञ वजन कम करने वाले लोगों को डाइट में क्लोरेला को जोड़ने की सलाह देते हैं।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.