top menutop menutop menu

मुंह की एक्सरसाइज करने के साथ ही कई बीमारियों से बचाती है च्यूइंग गम

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कुछ लोगों को च्यूइंग गम खाने की आदत बहुत ज्यादा होती है। आपको पता है कि च्यूइंग गम खाने की आदत आपको सेहतमंद भी बना सकती है। ये आपका वजन कम करने के साथ ही आपके मुंह की एक्सरसाइज भी करती हैं। च्यूइंग गम केवल एक माउथ फ्रेशनर नहीं है, बल्कि इसको चबाने से सेहत को कई तरह के फायदे भी होते हैं। रिसर्च के मुताबिक, च्यूइंग गम खाने से स्वास्थ्य पर कई तरह के सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। इसको खाने से मोटापा कम होता है और दांतों की कई समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। आइये, जानते हैं च्यूइंग गम चबाने के फायदे।

वजन कम करने में सहायक: च्यूइंग गम वजन कम करने में मदद करती है। इसे खाने से आपकी भूख शांत रहती है और आप कम कैलोरी को लेते हैं। आप दिन में कम से कम एक बार च्यूइंग गम जरूर खाएं, इसे खाने से मीठा खाने की तीव्र इच्छा कम होती है। कम कैलोरी वाला च्यूइंग गम फैट फ्री होता है, जिससे फैट बर्न होता है। इसको चबाने से आपके जबड़े की मांसपेशियों पर असर पड़ता है। साथ ही च्यूइंग गम दिन भर में 11 कैलोरी प्रति घंटे कम करने की क्षमता रखता है।

पाचन शक्ति के लिए फायदेमंद: च्यूइंग गम आंत की गतिशीलता में सुधार करता है। जब आप इसे चबाते हैं, तो उस दौरान मुंह में ज्यादा स्लाइवा बनता है, जो डाइजेस्टिव एसिड को पेट से मुंह तक आने से रोकता है। इसलिए भोजन आराम से पच जाता है और पाचन शक्ति में सुधार होता है।

मुंह की बीमारियों से बचाव : जब भी आप च्यूइंग गम चबाते हैं, तो मुंह में ज्यादा स्लाइवा बनता है। स्लाइवा , मुंह की बीमारियों जैसे-दांत की सड़न, कैविटी आदि से बचाता है। हां, अगर आप सोच रहे हैं कि आप जो मन करे वह च्यूइंग गम खा सकते हैं, तो ऐसा नहीं है। आपके दांत न सड़ें, इसलिए आपको शुगर फ्री च्यूइंग गम ही खाना चाहिए। कृत्रिम मिठास वाले च्यूइंग गम मोटापे को बढ़ावा देने के अलावा दांतों को भी खराब कर सकते हैं।

डबल चिन दूर करने में कारगर: डबल चिन, यानी अगर आपके गर्दन के पास मोटापा दिखाई देना शुरू हो गया है, तो च्यूइंग गम चबाने से अच्छी एक्सरसाइज और कोई भी हो ही नहीं सकती। इसको चबाने से दांत पर लगे पीले दाग भी साफ हो जाते हैं और चमकने लगते हैं। अगर सांस में बदबू आती है, तो च्यूइंग गम चबाने से ठीक हो जायेगी।

मस्तिष्क के लिए लाभकारी : जब आप च्यूइंग गम चबाते हैं, तो हिप्पोकैम्पस अधिक सक्रिय हो जाता है। हिप्पोकैम्पस मस्तिष्क का वह हिस्सा है, जो यादद्दाश्त में गहरी भूमिका अदा करता है। स्मरण-शक्ति बढ़ाने के साथ ही च्यूइंग गम से मस्तिष्क में रक्त प्रवाह बढ़ाने में मदद करता है। जब आप च्यूइंग गम चबाते हैं, तो आपके दिल की धड़कन बढ़ जाती है और मस्तिष्क को अधिक ऑक्सीजन मिलती है।

तनाव होता है दूर: च्यूइंग गम तनाव और चिंता को दूर करने में मदद करता है। रिसर्च से पता चला हैं कि जिन बच्चों ने एग्जाम के दौरान च्यूइंग गम चबाया, वे अधिक सजग रहे। शायद च्यूइंग गम केवल तनाव को ही दूर करने में मददगार नहीं होता, बल्कि जब भी आप चिड़चिड़ापन महसूस करते हैं, तब भी आप च्यूइंग गम चबा सकते हैं। इससे आपका मूड जल्द ही बदल जायेगा। 

                 Written By Shahina Noor

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.