School Safety Tips: स्कूल गोइंग बच्चों की कोविड-19 से कैसे करें हिफ़ाज़त, जानिए खास टिप्स

Prevent to covid -19 in school जब तक बच्चों की वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक बच्चों के प्रति सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है। स्कूल में बच्चों के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जाना जरूरी है।

Shahina NoorTue, 21 Sep 2021 01:58 PM (IST)
बच्चों की क्लास में फिज़िकल डिस्टेंसिक के नियमों का पालन होना है जरूरी

नई दिल्ली,लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोनावायरस देश और दुनियां के लोगों के लिए तबाही बन कर आया है, इस वायरस ने ना सिर्फ सेहत को नुकसान पहुंचाया है, बल्कि आर्थिक और मानसिक क्षति भी पहुंचाई है। इस वायरस का खामियाज़ा सबसे ज्यादा बच्चों ने भुगता है। पिछले दो सालों से बच्चों की एजुकेशन सिर्फ मोबाइलों में सिमट कर रह गई है। उनका शारीरिक और बौद्धिक विकास बेहद प्रभावित हुआ है। कोरोना की वैक्सीन ने लोगों को कुछ हद तक राहत दी है, लेकिन बच्चे अभी भी डेंजर ज़ोन में है।

जब तक बच्चों की वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक बच्चों के प्रति सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है। कोरोना के बीच में ही कुछ राज्यों में बच्चों के लिए स्कूलों को खोल दिया गया है, ताकि बच्चों की रूकी हुई पढ़ाई को कुछ रफ्तार मिल सके। हालांकि कोरोना के बीच स्कूल भेजने से पैरेंट्स संतुष्ट नहीं है फिर भी भेज रहे हैं। ऐसे में बच्चों की स्कूल में हिफ़ाज़त करना बेहद जरूरी है। हाल में ही अमेरिका में बच्चे स्कूल जाने से कोरोना से संक्रमित हुए है जिसे देखते हुए मेडिकल न्यूज टूडे वेबसाइट ने एक्सपर्ट और संक्रामक रोग विशेषज्ञों की राय के आधार पर बच्चों को स्कूल में कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए आवश्यक उपाय सुझाए हैं।

स्कूल में बच्चों के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जाना जरूरी है। बच्चों की वैक्सीन नहीं आई है लेकिन घर के बड़े और बुजुर्ग लोग सबसे पहले वैक्सीन लगवाएं। स्कूल में पढ़ाने वाली टीचर के लिए वैक्सीनेशन अनिवार्य होना जरुरी है। वैक्सीन लेने के बावजूद स्कूल में छात्र, शिक्षक और स्टाफ के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होना चाहिए। बच्चों की क्लास में फिज़िकल डिस्टेंसिक के नियमों का पालन होना है जरूरी। अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल प्रिवेंशन ने स्कूलों में बच्चों को मास्क पहनना अनिवार्य किया है। आप भी अपने बच्चे की सुरक्षा को लेकर परेशान हैं तो हम आपको बताते हैं कि किन टिप्स के सहारे स्कूल में आपका बच्चा वायरस से महफ़ूज़ रहेगा।चाहिए। बच्चों के डेस्क की दूरी तीन फुट से कम नहीं होनी चाहिए। बच्चों को हाथ अच्छी तरह वॉश करना चाहिए। बच्चों को साथ में सेनिटाइज़र जरूर दें। बच्चे हाईजीन का ख्याल रखें। टीचर्स को चाहिए कि बच्चों को छोटे-छोटे ग्रुप में पढ़ाएं ताकि ज्यादा गैदरिंग बच्चों को नुकसान नहीं पहुंचाए। स्कूल में छुट्टी या प्रेयर के दौरान भीड़ का ध्यान रखें। पिक-अप और ड्रॉप के समय इस बात का खास ख्याल रखा जाना चाहिए। जहां तक संभव हो आउटडोर क्लास की व्यवस्था करनी चाहिए, अगर नहीं है, तो क्लासरूम में पर्याप्त वेंटिलेशन की व्यवस्था करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.