मनोहरपुर में बालू के अवैध कारोबार पर नहीं लग रही लगाम

मनोहरपुर में बालू के अवैध कारोबार पर नहीं लग रही लगाम

बालू के अवैध कारोबार पर रोक लगाने को लेकर प्रशासन भले ही लाख दावे कर ले परंतु मनोहरपुर में बालू की तस्करी पर लगाम लगाने के मामले में प्रशासन पूरी तह फेल साबित हो रहा है।

Publish Date:Wed, 25 Nov 2020 08:10 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, मनोहरपुर : बालू के अवैध कारोबार पर रोक लगाने को लेकर प्रशासन भले ही लाख दावे कर ले, परंतु मनोहरपुर में बालू की तस्करी पर लगाम लगाने के मामले में प्रशासन पूरी तह फेल साबित हो रहा है। मनोहरपुर में बालू के अवैध कारोबार पर लगाम नहीं लग रही है। बालू के अवैध कारोबार पर रोक लगाने की दिशा में प्रशासन सुस्त नजर आ रहा है, वहीं अवैध बालू कारोबारी मस्त हैं। प्रशासन की नाक के नीचे वह अपने अवैध कारोबार को खुलेआम अंजाम दे विभाग व सरकार को लाखों के राजस्व का चूना लगा रहे हैं। बालू के अवैध कारोबार को रोकने को लेकर जिले में भले ही कई तरह की रणनीतियां बनाई जाती हैं। टास्क फोर्स का गठन भी किया गया, पर मनोहरपुर में इसका कोई असर नहीं दिख रहा। लिहाजा यहां धड़ल्ले से बालू की तस्करी जारी है। दर्जनों की संख्या में वाहन डंफर व ट्रैक्टर बालू ढुलाई में दिन-रात लगे हुए हैं। बताते चलें कि लगभग डेढ़ माह पहले एसडीओ अभिजीत सिन्हा ने मनोहरपुर प्रखंड क्षेत्र के तीन बालू घाट के रास्ते में चेकपोस्ट लगाने की बात कही थी। इसके डेढ़ माह बाद भी यहां के तीन घाटों में अभी तक चेकपोस्ट का निर्माण नहीं किया जा सका है। ज्ञात हो कि यहां के गोपीपुर, सिमेरता, तिरला, अभयपुर, बिपलकुदर आदि कोयल नदी घाटों से रोजाना डंपरों व ट्रैक्टरों के माध्यम से बालू की तस्करी की जा रही है। जिससे अवैध बालू कारोबारियों की चांदी कट रही है, वहीं सरकार को रोजाना राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है। बड़ी बात तो यह है कि प्राय: गाड़ियां मनोहरपुर शहर के बीच से होकर गुजरती हैं। इसके बावजूद प्रशासन की ओर से अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। जिससे प्रशासन की भूमिका पर भी सवाल उठने लगे हैं। दूसरी ओर डेढ़ माह पहले एसडीओ अभिजीत सिन्हा ने मनोहरपुर के बालू घाटों के निरीक्षण के बाद पत्रकारों से कहा था कि गोपीपुर, डोमलाई व अभयपुर के घाट के पास चेकपोस्ट का निर्माण किया जाएगा। परंतु इस दिशा में अभी तक कोई कार्य नहीं हुआ है। इधर इसे लेकर एसडीओ अभिजीत सिन्हा ने कहा कि वे जल्द ही मनोहरपुर का दौरा कर बालू घाटों का जायजा लेकर आवश्यक कार्रवाई करेंगे। साथ ही अवैध बालू कारोबारियों के खिलाफ भी ठोस कार्रवाई की जाएगी। अवैध बालू उठाव को लेकर पूर्व से ही स्थानीय स्तर पर सक्षम पदाधिकारी को निरंतर कार्रवाई के लिए निर्देश दिया गया है। चूंकि जिले में मैंने हाल ही में प्रभार लिया है, मामला मेरे संज्ञान में आने पर निश्चित कारवाई होगी।

— निशांत कुमार, जिला खनन पदाधिकारी, प. सिंहभूम।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.