सर्दी, खांसी और तेज बुखार आ रहा है तो कोविड-19 की जांच जरूर करायें : डा. सेनगुप्ता

सर्दी, खांसी और तेज बुखार आ रहा है तो कोविड-19 की जांच जरूर करायें : डा. सेनगुप्ता

अभी भीषण गर्मी का मौसम है। इस मौसम में अमूमन वायरल फीवर नहीं होता है।

JagranMon, 19 Apr 2021 08:12 PM (IST)

जागरण संवाददाता, चाईबासा : अभी भीषण गर्मी का मौसम है। इस मौसम में अमूमन वायरल फीवर नहीं होता है। अभी के मौसम में अगर आपको सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार हो रहा है तो सावधानी बरतने की सख्त जरूरत है। इन लक्षण वाले मरीजों को कोविड जांच करानी चाहिए। जांच के बाद ही चिकित्सीय परामर्श के अनुसार दवाएं चालू करें। रोग की छिपाने से संक्रमण ज्यादा फैल सकता है और स्थिति गंभीर हो सकती है। यह बातें सोमवार को चाईबासा के मधुमेह रोग विशेषज्ञ सह चिकित्सकीय सलाहकार डा. सौम्य सेनगुप्ता ने दैनिक जागरण के प्रश्न प्रहर कार्यक्रम के दौरान लोगों द्वारा ऑनलाइन पूछे गये सवालों के जवाब में कहीं। दैनिक जागरण के चाईबासा कार्यालय में दोपहर 12 बजे से 1 बजे तक चले कार्यक्रम के दौरान दर्जनों पाठकों ने कोरोना वायरस से बचने, होम आइसोलेशन के दौरान चलने वाले इलाज, मधुमेह से जुड़ी परेशानियों के बारे में डाक्टर सेनगुप्ता से फोन के जरिये सवाल किये। डा. सेनगुप्ता ने सभी के सवालों का बड़ी ही सरलता से जवाब दिया। उन्होंने सभी को चिकित्सीय परामर्श देने के साथ-साथ यह भी कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में मानसिक मजबूती बनाये रखना सबसे जरूरी है। सभी कम से कम 8 घंटा अच्छी नींद जरूर लें।

----------------------------------

प्रश्न : कोविड-19 महामारी के इस दौर में साधारण सर्दी, खांसी और बुखार आ जाने पर भी मन में कोरोना के संक्रमण का भय समा जाता है, तनाव से बचने का उपाय बताएं।

- कमल लाठ, अमलाटोला, चाईबासा।

उत्तर : अगर घर में किसी को सर्दी, खांसी या बुखार है और परेशानी हो रही है तो कोविड-19 की जांच जरूर करायें। मर्ज की पहचान होने के बाद ही उसका सही तरीके से इलाज किया जा सकता है। अगर पाजिटिव हो भी जाएं तो बिल्कुल भी तनाव न लें। चिकित्सीय परामर्श के अनुसार दवाएं लेकर बड़ी संख्या में लोग स्वस्थ्य हो रहे हैं।

-----------

प्रश्न : मुझे दो साल से शुगर है। हाई ब्लड प्रेशर की भी शिकायत है। अभी दवा चालू नहीं की है। चावल-आलू का परहेज कर शुगर व बीपी नियंत्रित करने की कोशिश कर रहा हूं।

- मनोज कुमार प्रसाद, बड़ाजामदा।

उत्तर : डायबिटीज और ब्लड प्रेशर का घर बैठे इलाज नहीं होता है। खुद से चिकित्सक न बनें। शुगर और बीपी अनियंत्रित रहने से हृदय, किडनी समेत अन्य अंगों पर सीधा असर पड़ता है। नियमित चिकित्सक को दिखाएं और चावल-आलू नहीं खाने से शुगर नियंत्रित नहीं होता। संतुलित आहार जरूरी है।

-------------------------

प्रश्न : मैं मधुमेह का रोगी हूं। उच्च रक्तचाप की भी समस्या है। चिकित्सक के बताये अनुसार लंबे समय से एक ही दवा ले रहा हूं। क्या दवा हमेशा लेनी पड़ेगी?

- सुशील कुमार सिंह, चाईबासा

उत्तर : जीवनकाल में किसी भी मर्ज के लिए एक ही दवा जीवन भर नहीं चलता। समय-समय पर चिकित्सक को दिखाते रहना चाहिए। बीमारी के लक्षण के अनुसार दवा का डोज घटाया या बढ़ाया जाता है। मधुमेह व ब्लड प्रेशर को हल्के में न लें।

-------------------

प्रश्न : गले में खस-खस कर रहा है। हल्का बुखार भी है। शरीर में दर्द हो रहा है। उचित चिकित्सीय सलाह दें।

- श्रेया, चाईबासा।

उत्तर : प्रथम ²ष्टया यह साधारण वायरल के लक्षण हैं। दिन भर में 5-5 मिनट के लिए तीन-चार बार भाप लें। गुनगुने पानी में बिटाडीन डालकर गार्गल करें। बुखार रहने पर वजन अनुसार 650 एमजी की पेरासिटामोल की दवा लें। डोक्सीसाइक्लिन 100 एमजी की दवा सुबह-शाम 5 दिन तक लें। आराम नहीं मिलने पर कोविड टेस्ट करायें।

----------------

प्रश्न : मैं मधुमेह से ग्रसित हूं। क्या मैं कोविड-19 की वैक्सीन ले सकती हूं। इससे किसी तरह का कोई नुकसान तो नहीं होगा?

-अंजनी देवगम, कुमारडुंगी।

उत्तर : मधुमेह, बीपी समेत अन्य किसी रोग से भी अगर कोई ग्रसित है तो भी उसे कोविड-19 का टीका लगवाना चाहिए। अगर कोई कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हो चुका है तो उसे दो माह के बाद टीका लगवा लेना चाहिए। इससे इम्युनिटी बढ़ेगी। टीका से कोई नुकसान नहीं होगा।

------------------------

प्रश्न : बहुत दिन से मधुमेह की दवा खा रहा हूं। किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है। कोरोना वायरस से बचाव कैसे करुं?

- रामचंद्र गोप, नोवामुंडी।

उत्तर : दवाएं नियमित लेते रहें। आहार संतुलित रखें। घर से बाहर निकलें तो मास्क पहनें। दो गज की शारीरिक दूरी का पालन करें। भीड़ वाली जगह में न जाएं। मांसाहारी भोजन से इस मौसम में परहेज करें। कोविड-19 वैक्सीन जरूर लगाएं।

-------------------

प्रश्न : कोविड-19 की इस महामारी के दौर में खान-पान क्या रखना चाहिए?

-वरुण शर्मा, चाईबासा।

उत्तर : दिन भर में 4-5 लीटर पानी जरूर पीयें। भोजन में मसालेदार खाने से परहेज करें। केला, संतरा, सेब आदि फल का सेवन करें। कम से कम 8 घंटा की नींद जरूर लें। कोरोना से जुड़ी खबरों को बार-बार न पढ़ें और न चर्चा करें। सोशल मीडिया से दूरी बनाएं।

-------------------

प्रश्न : साधारण सर्दी-खांसी में भी क्या कोरोना की जांच करानी चाहिए?

- रोशन हेंब्रम, कुमारडुंगी।

उत्तर : अगर सर्दी-खांसी है तो अभी के समय में अपने आपको स्वयं आइसोलेट कर लेना चाहिए। अगर इलाके में कोविड-19 की जांच की सुविधा है तो जांच कराने में कोई खराबी नहीं है। जांच कराने से तनाव दूर हो जायेगा। सही इलाज भी होगा।

(इन्होंने भी पूछे सवाल : अजय कुमार, धनंजय तिवारी, रमेश पुरती, वीरु देवगम, मालती हेंब्रम, नमन सिंह, मो. आबिद, सिकंदर, सुबल गोप, हरिहर गोप, विजय लकड़ा।)

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.