चाईबासा में दोपहर दो बजे तक नहीं उठे दुकानों के शटर

जागरण संवाददाता, चाईबासा : राजधानी रांची में गहना घर के मालिक राहुल खिरवाल एवं रोहित खिरवाल पर हुए गोलीबारी के विरोध में एफजेसीसीआइ की ओर से सोमवार को आहूत राज्यव्यापी बंदी चाईबासा में सफल रही। इस दौरान चाईबासा एवं चक्रधरपुर के व्यवसायी बंधुओं ने स्वेच्छा से अपने-अपने प्रतिष्ठानों को दोपहर दो बजे तक बंद रखकर घटना में संलिप्त अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की। बंदी को सफल बनाने के लिए सुबह आठ बजे से ही चाईबासा चैंबर और पश्चिमी सिंहभूम चैंबर के सभी पदाधिकारी एवं सदस्य बाजार में घूमकर सभी व्यवसायियों से मिलते रहे तथा व्यापारियों के मन की बात सुनी। मौके पर व्यापारियों ने कहा कि अगर व्यवसायी अपने प्रतिष्ठान में ही सुरक्षित नहीं हैं तो फिर वह कहां सुरक्षित हैं। यह बात सरकार हम लोगों को बताएं व्यवसाई मेहनत एवं लगन से कार्य करता है एवं सरकार को विभिन्न करो का भुगतान करता है। इस कारण सरकार को व्यवसायी की सुरक्षा हेतु कड़े से कड़े कदम उठाने चाहिए। व्यापारियों की सुरक्षा के लिए मुख्यमंत्री रघुवर दास के नाम नौ सूत्री मांग पत्र पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहथा एवं उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन को चाईबासा चैंबर की ओर से सौंपा गया। मौके पर चाईबासा चैंबर अध्यक्ष नितिन प्रकाश, सचिव संजय चौबे, विनोद कुमार दाहिमा, ललित शर्मा, मधुसूदन अग्रवाल, जितेंद्र मदेशिया, नितिन अग्रवाल, अमित जायसवाल एवं पश्चिमी सिंहभूम चैंबर अध्यक्ष निरंजन गोयल, सचिव कुणाल सर्राफ, सह सचिव अमित अग्रवाल, कार्यकारिणी सदस्य पारस जैन, छोटे लाल गुप्ता, अजय गुप्ता, प्रभात दोदराजका, मोहित चिरानिया, संजय गर्ग, पंकज अग्रवाल शामिल थे।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.