top menutop menutop menu

अपने बच्चों की भावनाओं को समझें अभिभावक : अंजनी

अपने बच्चों की भावनाओं को समझें अभिभावक : अंजनी
Publish Date:Mon, 21 Oct 2019 09:48 PM (IST) Author: Jagran

सिमडेगा : पेरेंट्स टीचर मीट कार्यक्रम के अंतर्गत सेवई में संकुल स्तर पर पेरेंटिग विषय पर सेमिनार सह कार्यशाला का आयोजन जोनाथन मेमोरियल स्कूल सेवई में किया गया। कार्यक्रम पूर्णत: पेरेंटिग पर केंद्रित रहा। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सह वक्ता की भूमिका अंजनी कुमार सिंह ने निभाया। विशिष्ट अतिथि के रूप में सेवई पंचायत के मुखिया शंकर महली उपस्थित थे। इस समारोह को और भी खास बनाने के लिए पूर्व प्रमुख दिव्या बरला, विभिन्न जनप्रतिनिधि के अतिरिक्त शिक्षा प्रेमी, गणमान्य लोग एवं संकुल विभिन्न क्षेत्रों से आये सैकड़ो माता पिता एवं अभिभावकों ने भागीदारी की। पेरेंटिग पर सेमिनार काफी रोचक रहा। माता पिता के साथ साथ अन्य लोगो एवं जन प्रतिनिधियों द्वारा अनेक प्रश्न किये गए जिसका सटीक एवं रोचक जवाब अंजनी के द्वारा दिया गया। लोगो ने जवाब सुनकर काफी अभिभूत हुए एवं ऐसे कार्यक्रम को दुबारा कराने की इच्छा जाहिर किया। मुखिया ने बताया कि पंचायत और संकुल स्तर पर पेरेंटिग पर इतना बड़ा और व्यापक कार्यक्रम पहले कभी नही हुआ।

उन्होंने रोक- टोक-ठोक की रूढि़वादी परम्परा से बाहर निकलने को कहा। साथ ही 4टी ( टैलेंट, टेक्नोलॉजी, ट्रेंड और टोलरेंस) से संबंधित बातें बच्चो और पेरेंट्स के संदर्भ में समझाया। उन्होने कहा कि हम जो कहते है बच्चे उसे नही करते पर जो हम करते है बच्चे उसे करते है। उन्होंने बच्चों के व्यवहार, बिलीफ और इमोशन के बारे में कई उदाहरण के साथ समझाया। उन्होंने बताया कि अगर बच्चों के इमोशन का ख्याल रखा जाय तब बेहतर पेरेंटिग देने में आसानी होगी। किसी भी बच्चा को दूसरे बच्चो से तुलना को भी गलत बताया। बच्चों को रात में सोते वक्त एक लघुकथा एवं उसके सीख बताने पर जोर दिया। मुखिया एवं पूर्व प्रमुख के द्वारा भी इसपर अपना विचार रखा। कार्यक्रम का आयोजन में जोनाथन मेमोरियल स्कूल के प्राचार्य दीपक बरला एवं उनकी पत्नी का भी बहुमूल्य योगदान रहा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.