सरायकेला शहर के बीचोबीच डाला रही था कचरा, लोगों ने विरोध तो एजेंसी ने बंद किया फेंकना

सरायकेला शहर के बीचोबीच डाला रही था कचरा, लोगों ने विरोध तो एजेंसी ने बंद किया फेंकना

सरायकेला नगर क्षेत्र में कचरे का उठाव कर रही एजेंसी एमएसडब्ल्यू द्वारा शहर के बीचो बीच वार्ड नंबर पांच के इंद्रटांडी मोहल्ले में कचरा डंप किया जा रहा था।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 11:33 PM (IST) Author: Jagran

जासं, सरायकेला : सरायकेला नगर क्षेत्र में कचरे का उठाव कर रही एजेंसी एमएसडब्ल्यू द्वारा शहर के बीचो बीच वार्ड नंबर पांच के इंद्रटांडी मोहल्ले में कचरा डंप किया जा रहा था। जिससे लगातार उठ रही दुर्गंध से परेशान स्थानीय लोगों ने सोमवार की सुबह इसका जमकर विरोध किया। हालांकि स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बाद मौके पर पहुंचे एजेंसी के साइड हेड ने कचरा डंपिग का कार्य रुकवा दिया। जब तक स्थान उपलब्ध होता तबतक नगर पंचायत क्षेत्र से कचरा उठाव को भी ठप करा दिया गया। स्थानीय लोगों ने बताया कि दुर्गंध के कारण घरों में रहना से लेकर खाना पीना तक मुहाल हो गया है। वहीं पर्यावरण प्रदूषण के इस गंभीर मामले में जनप्रतिनिधि से लेकर अधिकारी पूरे मामले में अपनी अनभिज्ञता और पल्ला झाड़ते हुए देखे गए।

यहां हो रहा था कचरे का डंप :- वार्ड नंबर 5 के इंद्रटांडी मोहल्ला स्थित पुराने पोस्टमार्टम हाउस के पीछे कचरे का डंपिग कराया जा रहा था। जहां आसपास तकरीबन 100 से 150 आवासीय घर है।

----------- किसने क्या कहा -

दुर्गंध के कारण खाना खाना तक मुश्किल हो गया है। खाने के दौरान गंध से उल्टियां जैसी स्थिति बन रही है।''

-- मुनिया राय, स्थानीय निवासी कचरे के कारण घर में रहना मुहाल हो गया है। समूचे परिवार के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है।

-- भारत मुखी, स्थानीय निवासी- पिछले तीन महीने से बिना पूछे यहां कचरा डंप किया जा रहा है। जिससे क्षेत्र का पर्यावरण बुरी तरह से प्रदूषित हो रहा है। एक सप्ताह के भीतर विशेष व्यवस्था नहीं होने से आंदोलन किया जाएगा।''

-- टुलु आचार्य, स्थानीय निवासी इस विषय पर किसी भी प्रकार की राय नहीं ली गई। मना किए जाने पर भी एजेंसी द्वारा कचरा डंपिग का कार्य किया जा रहा है। स्थानीय जन भावना के साथ इसका विरोध किया जाएगा।''

-- गौतम नायक, स्थानीय वार्ड पार्षद बिना किसी लिखित आदेश के एमएसडब्ल्यू एजेंसी द्वारा इंद्रटांडी मोहल्ले के उक्त स्थान पर कचरे का डंपिग किया जा रहा है। एजेंसी को दवाई छिड़कने और प्रदूषण नियंत्रण करने के लिए निर्देश दिया गया है। ऐसा नहीं करने की स्थिति में जांच कर एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।''

-- महेश जारिका ( सिटी मैनेजर)- '' कार्यपालक पदाधिकारी राजीव रंजन सिंह एवं सिटी मैनेजर महेश जारिका के आदेश के बाद उक्त स्थान पर कचरा डंपिग किया जा रहा था। लोगों के विरोध के बाद अगले आदेश और स्थान उपलब्ध होने तक नगर पंचायत क्षेत्र से कचरा उठाव भी ठप रखा जाएगा।''

-- सौरभ अधिकारी, एमएसडब्ल्यू साइड हेड वार्ड के स्थानीय लोगों के विरोध के बाद कचरा डंपिग का कार्य बंद कराया जा रहा है। वैकल्पिक व्यवस्था होने तक कूड़ा कचरा उठाव भी स्थगित रहेगा। मंगलवार को उपायुक्त से मिलकर समस्या का समाधान निकाला जाएगा।''

-- राजीव रंजन सिंह, कार्यपालक पदाधिकारी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.