छह महीने भी नहीं टिकती पीसीसी सड़़क

छह महीने भी नहीं टिकती पीसीसी सड़़क

बाटम छावनी परिषद क्षेत्र में बनने वाली सड़कों का हाल है बुरा संवाद सहयोगी रामगढ़ किसी भ

JagranFri, 16 Apr 2021 10:11 PM (IST)

बाटम

छावनी परिषद क्षेत्र में बनने वाली सड़कों का हाल है बुरा

संवाद सहयोगी, रामगढ़ : किसी भी क्षेत्र में विकास का पैमाना होती है उस क्षेत्र की अच्छी सड़क। शहरी इलाके में पेयजलापूर्ति सहित विकास योजनाओं को क्रियान्वित करने का दायित्व छावनी परिषद के जिम्मे है। शहर की सड़क से पूरे जिले का आकलन किया जा सकता है। वैसे भी जिले का आइना भी शहरी क्षेत्र है। लेकिन यहां बनी पीसीसी सड़क छह महीने भी नहीं टिक पाती है। सड़क निर्माण में गुणवत्ता को हासिए पर डाल दिया जाता है। इसका ताजा उदाहरण शहर से गुजरी एनएच 23 से वैष्णो देवी मंदिर की ओर जाने वाली पीसीसी सड़क है। यह सड़क निर्माण के बाद छह महीने भी नहीं चल पाई। जगह-जगह से सड़क उखड़ गई। ऐसा नहीं है कि इस सड़क का निर्माण पहली बार हुआ है सडक बनती है और पुन: उसे बनाने की प्रक्रिया शुरू होती है। आज फिर से उसी स्थिति में सड़क पहुंच गई है। इस संबंध में स्थानीय समाजसेवी गोपी प्रजापति कहते हैं कि छावनी परिषद में सड़क निर्माण के दौरान गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा जाता है। इसके कारण ही पीसीसी सड़क छह माह भी नहीं चल पाती है। एनएच 23 से वैष्णो देवी की ओर जाने वाली सड़क निर्माण के कुछ ही महीने में खस्ता हाल हो गई। उन्होंने छावनी परिषद के मुख्य अधिशासी अधिकारी से सड़क निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ख्याल रखने की अपील की। व्यवसायी भरत चौरसिया ने भी कहा कि सड़क निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल रखा जाना चाहिए। गुणवत्ता की कमी के कारण ही एनएच 23 से नेहरू रोड की ओर सिद्धेश्वरधाम मंदिर तक बनी पीसीसी सड़क जगह-जगह उखड़ गई। ऐसे में छावनी परिषद को जवाबदेही तय करनी चाहिए। ताकि बेहतर सड़क निर्माण शहर में हो।

--------------------

कोट---

सड़क की गुणवत्ता को ठीक रखने का निर्देश संवेदकों को दिया गया है। अगर किसी भी तरह की कोताही बरती जाती है तो ऐसे संवेदकों को ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई की जाएगी।

सरदार अनमोल सिंह

उपाध्यक्ष

छावनी परिषद, रामगढ़।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.