झारखंड-बिहार के दो लड़के पहुंच गए महाराष्‍ट्र के हुक्का बार, पुलिस ने खोज निकाला...

Jharkhand Police पुलिस के साथ बरामद दोनों बच्‍चे।

Jharkhand Police Ranchi News दोनों बच्चों को ढूंढ पाना पुलिस के लिए काफी मुश्किल था। बच्चों ने मोबाइल का इस्तेमाल नहीं किया था। इस कार्य के लिए रांची पुलिस ने केस के अनुसंधानकर्ता को पुरस्कृत किया गया है।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 12:05 PM (IST) Author: Sujeet Kumar Suman

रांची, जासं। रांची पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद एक 14 साल के किशोर को ढूंढने में सफलता प्राप्‍त की है। ग्रामीण एसपी नौशाद आलम के नेतृत्व में बच्चे को महाराष्ट्र के एक हुक्का बार से बरामद किया गया है। दरअसल, 14 साल का बच्चा रातू इलाके के रिंग रोड का रहने वाला है। वह घर से नाराज होकर निकल गया था। वह अपने साथ बिहार के एक अन्य किशोर को भी लेकर गया था। दोनों किशोर रांची से सीधे निकलकर महाराष्ट्र चले गए थे।

इन बच्चों को ढूंढ पाना पुलिस के लिए काफी मुश्किल था, क्योंकि बच्चों ने किसी भी तरह की तकनीक या मोबाइल का इस्तेमाल नहीं किया था। आखिर में पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और अन्य तकनीक का इस्तेमाल कर बच्चे का सुराग ढूंढ निकाला। इसके बाद बच्चे के पिता और रातू थाने के दारोगा रविशंकर सिंह को तत्काल महाराष्ट्र के लिए रवाना किया गया। टीम मुंबई गई और बच्चे को ढूंढ कर रेस्क्यू कर लिया गया। इस बेहतर कार्य के लिए रांची पुलिस की ओर से केस के अनुसंधानकर्ता को पुरस्कृत किया गया है।

ग्रामीण एसपी को दिया धन्यवाद, बच्चे को दिलाया आशीर्वाद

परेशान होकर बच्चे को ढूंढ रहे पिता ने बच्‍चे के मिलने के बाद ग्रामीण एसपी नौशाद आलम को धन्यवाद दिया है। वह रांची पुलिस के प्रति लगातार आभार व्यक्त करते नजर आए। इसके साथ ही बच्चे को रांची वापस लेकर आने के बाद ग्रामीण एसपी से आशीर्वाद दिलाने के लिए उनके चैंबर ले गए। इस दौरान बच्चे ने एक बेहतर इंसान बनने का भी संकल्प लिया है।

6 नवंबर 2020 को बच्चा हुआ था लापता

बच्चे के पिता के अनुसार 14 साल का किशोर 6 नवंबर 2020 को लापता हुआ था। दूसरे दिन 7 नवंबर को रातू थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अपहरण की धारा में मामला दर्ज किया गया था। इसमें पुलिस को कुछ भी हाथ नहीं लग पा रहा था। केस पूरी तरह से ब्लाइंड हो चुका था। इस बीच ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने अपनी निगरानी में एक टीम बनाई और बच्चे को ढूंढ निकाला। बच्चे को 20 जनवरी को मुंबई के महाराष्ट्र में बरामद कर लिया गया। बच्चे को सीडब्ल्यूसी के समक्ष बयान करवाने के बाद घर भेज दिया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.