क्रिसमस में इस बार भी दिखेगा कोरोना का असर: आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो

कोरोना के बढ़ते मामले को देखकर चर्च से लेकर घर तक संयमित होकर मनाएं क्रिसमस का त्योहार।

JagranPublish:Mon, 06 Dec 2021 06:00 AM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 06:00 AM (IST)
क्रिसमस में इस बार भी दिखेगा कोरोना का असर: आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो
क्रिसमस में इस बार भी दिखेगा कोरोना का असर: आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो

जासं, रांची : कोरोना के बढ़ते मामले को देखकर चर्च से लेकर घर तक संयमित होकर क्रिसमस का त्योहार मनाया जाएगा। आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने रांची महाधर्मप्रांत के लोगों से अनुरोध करते हुए कहा कि संक्रमण का खतरा अब भी बरकरार है। इस बार भी विश्वासी क्रिसमस सादगी के साथ आध्यात्मिक होकर मनाएं। 24 दिसंबर की रात को विधि-विधान से प्रभु यीशु ºीस्त का जन्म होगा। साज-सजावट सामान्य रूप से की जाएगी। इस बार क्रिसमस आध्यत्मिक रूप से मनाई जाएगी। वहीं 25 दिसंबर को चर्च में प्रार्थना के बाद केक काटकर लोग एक दूसरे को केक खिलाकर क्रिसमस की बधाई देंगे। सभी कार्यक्रम संक्रमण को ध्यान में रखते हुए किए जाएंगे। आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने कहा कि संक्रमण का खतरा अब भी बरकरार है। इस बार भी विश्वासियों से अनुरोध करते हैं कि क्रिसमस सादगी के साथ आध्यात्मिक हो कर मनाएं। क्रिसमस मेल-मिलाप और संस्कारों को समय देने का वक्त हो। उन्होंने कहा कि 24 दिसंबर की रात को सभी विश्वासी एक साथ गाना गाएंगे। रात के 12 बजते ही आर्चबिशप द्वारा प्रभु यीशु के बाल रूप को चुंबन लेकर गोद में ले कर दुलार-पुचकार करते हुए चरनी में रखेंगे। इसके बाद मिस्सा पूजा होगी।

होस्तिया और दाखरस का प्रसाद खा, विश्वासी बोलेंगे हैप्पी क्रिसमस : निशा पूजा के दौरान रात को प्रभु यीशु के जन्म होने के बाद गीतों के द्वारा विश्वासयों को प्रभु यीशु से जुड़ी कहानियों को बताया जाता है। उस दौरान रोटी और अंगूर को प्रसाद के रूप में रखा जाता है। इस प्रसाद को प्रभु के शरीर के समान दर्जा दिया गया है। इसे प्रार्थना होने के बाद सभी विश्वासी प्रसाद खाकर प्रभु का आशीष लेते हैं और क्रिसमस मनाते हैं। क्रिसमस में काटते थे 70 केक, आते थे ट्रक से फूल :

आर्चबिशप फेलिक्स टोप्पो ने कहा कि कोविड से पहले चर्च को सजाने के लिए ट्रक से फूल आते थे क्रिसमस के दिन सेलिब्रेट करने के लिए 70 से 80 केक आते थे। लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण पड़ाव आध्यात्मिक रूप से उल्लास के साथ मनाई जाएगी। चेन्नई से आई छात्र करेगी क्रिसमस का लाइव प्रसारण :

अपने परिवार के साथ क्रिसमस मनाने इंजीनियरिग की छात्र मारिया एंजेल चेन्नई से आई है। मारिया ने बताया कि पिछले वर्ष कोरोना के कारण वह अपने परिवार के साथ क्रिसमस नहीं मना पाई थी। इस वर्ष वह क्रिसमस अपने परिवार के साथ साथ लाइव प्रसारण अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से भी करेंगी। इसके माध्यम से शहर के साथ अन्य राज्यों में भी विश्वासी और अन्य लोग विशेष प्रार्थना से प्रभु यीशु का आशीर्वाद और वचन सुन पाएंगे।