पुलिस की वर्दी और जूता पहनकर पहुंचे अपराध‍ियों ने मजदूरों को भागा कर ठप कराया न‍िर्माण

यह घटना झारखंड के गुमला ज‍िले की है। बिशुनपुर प्रखंड क्षेत्र में अपराध‍ियों का दुस्‍साहस देख‍िए पुल‍िस की वर्दी और जूता पहन कर एक न‍िर्माण स्‍थल पर पहुंच गए। मजदूरों को भगा द‍िया। वहां न‍िर्माण कार्य ठप करा द‍िया।

M EkhlaqueSat, 04 Dec 2021 09:30 PM (IST)
गुमला ज‍िले में अपराध‍ियों द्वारा ठप कराया गया न‍िर्माण कार्य। जागरण

बिशुनपुर, गुमला (संवाद सूत्र) : गुमला ज‍िले के बिशुनपुर प्रखंड अंतर्गत गुरदरी थाना क्षेत्र के नरमा स्कूल के समीप कल्याण विभाग से करोड़ों रुपये की लागत से बन रहे बालिका आश्रम विद्यालय निर्माण कार्य में लगे मजदूरों को लगभग आधा दर्जन से अधिक संख्या में पहुंचे हथियारबंद अपराध‍ियों ने बंधक बनाकर प‍िटाई की। 

अपराध‍ियों ने मजदूरों से मोबाइल छीना कर काम बंद करा द‍िया। उन्‍हें वहां से भगा दिया। इधर मजदूर भगवान प्रधान चरण एवं महेश ने बताया कि शुक्रवार को बिल्डिंग में काम करने के बाद निर्माणाधीन भवन के कमरे में ही खाना खाने के उपरांत रात को सोने की तैयारी कर रहे थे। तभी अचानक रूम में दो अपराधी हथियार लेकर दाखिल हुए और कहा कि तुम लोग अभी काम छोड़कर भाग जाओ, वरना बेमौत मारे जाओगे।

मजदूरों ने कहा कि रात में कहां जाएंगे, सुबह होने पर चले जाएंगे

इसके बाद मजदूरों ने उनलोगों से कहा कि रात में कहां जाएंगे, सुबह होने पर चले जाएंगे। इसके बाद अपराध‍ियों ने मजदूरों के चार स्क्रीन टच मोबाइल एवं दो छोटे मोबाइल ले लिए। बाहर निकले तो देखा की नाइट ड्यूटी कर रहे गांव के प्रमोद कुमार टोप्पो के भी पास छह से सात की संख्या में अपराधी खड़े थे। उसके साथ मारपीट कर रहे थे। रूम में जो लोग दाखिल हुए थे उनके पास हथियार व भुजाली था वे लोग पुलिस का जूता व पुलिस का वर्दी पहने हुए थे। बाकी अपराधी बड़े हथियार लेकर बाहर खड़े थे। उन लोगों के चले जाने के बाद नाइट गार्ड ने बताया कि उन लोगों ने उसके साथ भी मारपीट की। वे लोग राइफल ल‍िए थे। उसका भी मोबाइल छीन कर ले गए। हालांकि, इस दौरान मजदूरों के पास नकद रुपये भी थे, लेकिन उनलोगों ने रुपये नहीं लिए।

घटना के बाद मजदूर व गांव के लोगों में भय का माहौल

घटना के बाद मजदूरों में भी भय का माहौल व्याप्त है। वहीं घटना की सूचना से गांव के लोग भी डरे हुए हैं। विगत दिनों जेजेएमपी के बागी साथी द्वारा सुकरा उरांव की हत्या कर भारी मात्रा में बड़े हथियार लेकर अपने संगठन बनाए जाने के बाद लोग यह कयास लगा रहे हैं। संभवत उसी संगठन द्वारा घटना को अंजाम दिया गया होगा। बालिका आश्रम विद्यालय के निर्माण कार्य के ठेकेदार विकास कुमार ने कहा कि उसके पास अब तक किसी भी संगठन ने लेवी के लिए फोन नहीं किया है। इंस्पेक्टर श्यामानंद मंडल ने कहा कि यह नक्सली संगठन का कार्य नहीं लगता है। किसी अपराधी व असामाजिक तत्वों द्वारा मजदूरों को धमकी दी गई है। पुलिस मामले की तमाम बिंदुओं पर जांच कर रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.