Railway News: अब जनरल डिब्बों में भी AC, रेलवे देने जा रहा ये महत्‍वपूर्ण सुविधा; जानें विस्‍तार से

Railway News, Indian Railways News: ट्रेनयात्रियों की यात्रा को सुखद बनाने के लिए भारतीय रेल बड़ा तोहफा दे सकता है।

इंडियन रेलवे (Indian Railways) की ओर से बड़ी खबर (Railway News) आ रही है। ट्रेन यात्रियों (Indian Railway Passengers) की यात्रा को सुखद और शानदार बनाने के लिए भारतीय रेल (Railway) जल्‍द ही एक बड़ा तोहफा देने की तैयारी में जुटा है। अब ट्रेनों के जनरल डिब्‍बे एसी होंगे।

Alok ShahiThu, 04 Mar 2021 11:08 PM (IST)

रांची, जेएनएन। Railway News, Indian Railways News: ट्रेन यात्रियों की यात्रा को सुखद बनाने के लिए भारतीय रेल जल्‍द ही एक बड़ा तोहफा दे सकता है। रेलवे की ओर से की जा रही प्‍लानिंग पर गौर करें तो इस साल जनरल डिब्‍बों में भी यात्री एसी का आनंद ले सकेंगे। इंडियन रेलवे (Indian Railways) की ओर से बड़ी खबर (Railway News) आ रही है। ट्रेन यात्रियों (Indian Railway Passengers) की यात्रा को सुखद और शानदार बनाने के लिए भारतीय रेल (Railway) जल्‍द ही एक बड़ा बदलाव करने की तैयारी में जुटा है। रेलवे की ओर से की जा रही प्‍लानिंग पर गौर करें तो इस साल सामान्‍य श्रेणी की टिकट (General Ticket) पर जनरल डिब्‍बों में सफर (Rail Journey) करने वाले यात्री भी एसी का आनंद ले सकेंगे।

इसके साथ ही गंतव्‍य तक पहुंचाने वाली एक्‍सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों की स्‍पीड भी 130 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ाई जा रही है। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक इस साल के अंत तक भारतीय रेल एयर कंडीशन वाला जनरल डिब्‍बा, सेकेंड क्‍लास कोच (AC General Second Class Coach) लांच कर देगा। इसके अलावा भी रेलवे कई नए बदलाव करने जा रहा है। जो यात्री सुविधाओं के लिहाज से हमारी यात्रा अनुभवों को और बेहतर बनाएगा।

बता दें कि रेलवे ने इससे पहले इकोनॉमी एसी 3 टीयर कोच लांच किए हैं। अब साल के अंत तक एयर कंडीशन वाला जनरल सेकेंड क्‍लास कोच (AC General Second Class Coach) भी पटरियों पर उतर आएगा। इससे आम आदमी को रेल यात्रा के दौरान सुकून का अनुभव होगा। बताया गया है कि नए एसी जनरल कोच (General Second Class Coach) कपूरथला रेल कोच फैक्‍ट्री में बनाए जा रहे हैं। रेलवे साल के अंत तक अनारक्षित जनरल डिब्‍बों को एयर कंडीशन बनाने की तैयारी में जोर-शोर से जुटा है।

कपूरथला के रेल कोच फैक्‍ट्री के मैनेजर आर गुप्‍ता के मुताबिक रेलवे का यह प्रोजेक्‍ट भारत में रेल यात्रा के अनुभवों को पूरी तरह बदल कर रख देगा। आम आदमी के लिए रेलवे में एसी कोच लग जाने के बाद सेकेंड क्‍लास जर्नी भी सुखद हो जाएगी। गर्मियों में लोग राहत का अनुभव करेंगे। उनकी यात्रा पहले के मुकाबले काफी आरामदायक हो जाएगी। इससे पहले वर्ष 2016 में सेकेंड क्‍लास जर्नी के लिए रेलवे ने दीन दयालु कोच पटरियों पर उतारे थे। उनमें लगेज रैक, पैडेड सीट से लेकर मोबाइल चार्जिंग प्‍वाइंट आदि सुविधाएं दी गई थीं।

रेल कोच फैक्ट्री, कपूरथला के जनरल मैनेजर रविंदर गुप्ता ने बताया कि जनरल सेकेंड क्लास एयर कंडीशन कोच का डिजाइन फाइनल कर लिया गया है। उम्मीद की जा रही है कि वर्ष 2021 के अंत तक एसी जनरल कोच पटरी पर उतर आएंगे। बताया कि अभी जरनल सेकेंड क्लास कोच में एक साथ 100 यात्री बैठ सकते हैं, जिसकी लागत दो करोड़ रुपये से अधिक आती है। नए एयर कंडीशन जनरल सेकेंड क्लास कोच में इससे भी पहले के मुकाबले अधिक क्षमता के साथ यात्री बैठ सकेंगे। इस तरह के कोच में यात्रियों के लिए बेहतर सुविधाएं भी उपलब्‍ध होंगी। 

रेल कोच फैक्‍ट्री, कपूरथला की ओर से बताया गया है कि नए एसी जनरल कोच शुरू में लंबी दूरी के मेल, एक्‍सप्रेस ट्रेनों में लगाए जाएंगे। ये ट्रेनें सामान्‍यत: 130 किलोमीटर प्रति घंटे की स्‍पीड से चलने में सक्षम होंगे। अीाी जनरल क्‍लास में लगे नॉन-एसी साधारण कोच 110 किमी प्रति घंटे की स्पीड से ज्‍यादा तेज नहीं चल सकते हैं। रेलवे आने वाले दिनों में अधिकतर ट्रेनों की स्पीड 130 किलोमीटर प्रति घंटा करने की तैयारी में है। ऐसे में जनरल डिब्‍बे, सेकेंड क्‍लास कोच में जरूरी बदलाव किया जा रहा है।

रेलवे की इस वृहत प्‍लानिंग के तहत तमाम स्लीपर और जनरल कोच काे एयरकंडीशन कोच से बदला जा रहा है। इससे पहले रेल कोच फैक्ट्री ने मेल-एक्‍सप्रेस ट्रेनों के लिए इकनॉमी एसी 3-टीयर कोच लांच किए हैं। इसे सभी ट्रेनों में स्‍लीपर क्‍लास की जगह पर लगाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इकनॉमी एसी कोच अधिकतम 180 किमी प्रति घंटे की स्पीड तक चल सकते हैं। अगले साल तक रेलवे ऐसे 248 इकनॉमी एसी कोच बनाने जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.