रिम्स में शासी परिषद की बैठक कल, नई नियुक्ति सहित कई अहम एजेंडों पर बन सकती है सहमति

नई नियुक्ति सहित कई अहम एजेंडों पर बन सकती है सहमति। जागरण

रिम्स में गवर्निंग बॉडी की इमरजेंसी बैठक गुरुवार को निर्धारित की गई है। इस बैठक में पांच मुख्य एजेंडा में चर्चा होगी। दो दिन पूर्व तिथि निर्धारित कर शासी परिषद के सभी सदस्यों को एजेंडा भेज दी गई है। बैठक के दौरान सदस्यों से इन्हीं एजेंडों पर सहमति ली जाएगी।

Publish Date:Wed, 27 Jan 2021 09:09 AM (IST) Author: Vikram Giri

रांची, जासं । रिम्स में गवर्निंग बॉडी की इमरजेंसी बैठक गुरुवार को निर्धारित की गई है। इस बैठक में पांच मुख्य एजेंडा में चर्चा होगी। दो दिन पूर्व तिथि निर्धारित कर रिम्स शासी परिषद के सभी सदस्यों को एजेंडा भेज दी गई है। बैठक के दौरान सदस्यों से इन्हीं एजेंडों पर सहमति ली जाएगी। इसमें जीबी के अध्यक्ष स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और स्वास्थ्य सचिव केके सोन भी शामिल होंगे। बैठक की मुख्य एजेंडा डेंटल कॉलेज से संबंधित है। पूर्व में डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया ने डेंटल कॉलेज का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान कई खामियां पाई गई थी, जिसके सुधार के लिए रिम्स को समय भी दी गई थी।

दो साल के बाद भी रिम्स प्रबंधन उक्त खामियों को दूर नहीं कर सकी। अब डीसीआई ने डेंटल कॉलेज की मान्यता खत्म करने जा रही है। रिम्स प्रबंधन को 31 जनवरी का अल्टिमेटम दिया गया है। जीबी की बैठक के दौरान इसपर चर्चा होगी कि डीसीआई से किस तरह समय अवधि बढ़ाने और डेंटल कॉलेज की खामियां जल्द दूर की जाए। दूसरा एजेंडा, डेंटल में ही रीडर्स के पद रिक्त है इसपर भी डीसीआई ने सवाल उठाए थे। इसका भी निराकरण करने के लिए इसे एजेंडा में शामिल किया गया। पूर्व में भी रीडर्स के पद में नियुक्ति के लिए दो बार विज्ञापन निकाला गया था। इस बार रोस्टर बदलकर विज्ञापन निकालने को लेकर चर्चा होगी।

इधर, तीसरा सबसे महत्वपूर्ण एजेंडा नर्सिंग स्टाफ की कमी है। पूर्व में भी 362 स्टाफ नर्स की बहाली को लेकर विज्ञापन निकाली गई थी, जिसपर अनियमितता के आरोप भी लगे थे। इस बैठक में नर्सिंग स्टाफ के लिए नए सिरे से विज्ञापन निकालने का प्रस्ताव रखा गया है। इस बार 362 की जगह 370 नर्सो की बहाली की बात है। जल्द से जल्द नर्सिंग स्टाफ की नियुक्ति का लक्ष्य रखा गया है।

सुपरस्पेशलिटी और मेटर्नल एंड चाइल्ड ओपीडी की होगी शुरुआत, एजेंडा में शामिल

जीबी के चौथे एजेंडे में सुपरस्पेशलिटी और मेटर्नल एंड चाइल्ड ओपीडी की शुरुआत करने को लेकर चर्चा होगी। बेहतर ढंग से ओपीडी संचालन के लिए इसे एजेंडे में शामिल किया गया है। इसके अलावा एक अन्य एजेंडा रिम्स में ई ओपीडी की शुरुआत करना है। बताते चले कि रिम्स में कोविड के शुरुआत से ही ई ओपीडी की सेवा शुरू की गई थी। अब इसे नियमित रूप से शुरू किया जाएगा। हर दिन ई ओपीडी के संचालन से अस्पताल नहीं आने वाले मरीजों को इसका भरपूर लाभ मिलेगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.