ओरमांझी हत्याकांड: आरोपित शेख बेलाल को फास्टट्रैक कोर्ट से सजा दिलाएगी रांची पुलिस

आरोपित शेख बेलाल को फास्टट्रैक कोर्ट से सजा दिलाएगी रांची पुलिस। जागरण

रांची के ओरमांझी में गला काटकर की गई सुफिया की हत्या मामले में पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। अब पुलिस हत्या के आरोपियों को सजा दिलाने की दिशा में काम कर रही है।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 12:05 PM (IST) Author: Vikram Giri

रांची, जासं । रांची के ओरमांझी में गला काटकर की गई सुफिया की हत्या मामले में पुलिस ने  खुलासा करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। अब पुलिस  हत्या के आरोपियों को सजा दिलाने की दिशा में काम कर रही है।  ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने कहा है कि  पुलिस और मजबूत साक्ष्य कोर्ट को उपलब्ध कराएगी। इसके अलावा फास्ट ट्रेक कोर्ट से सुनवाई के लिए कोर्ट से  अनुरोध करेगी।  इस मामले में अनुसंधान की हर बारीकियों को ध्यान में रखकर अनुसंधान किया जा रहा है। पुलिस ने गुरुवार को ही बेलाल को दबोच लिया, जब वह एक ऑटो में सवार होकर भाग रहा था।

उसी दौरान पुलिस ने घेरकर सिकिदिरी के कुटे गांव से दबोच लिया। बेलाल के अलावा एक अन्य आराेपित को भी हिरासत में लिया गया है। इस हत्या में उसकी भूमिका का पता लगाया जा रहा है। पकड़े जाने के बाद बेलाल ने बताया कि सुफिया को बदले की भावना से हत्या की थी। चूंकि वह पहली साबो खातून पत्नी को तलाक देने का दबाव बना रही थी। इससे पहले दहेज प्रताड़ना का केस और आर्म्स एक्ट के केस में जेल भिजवा दी थी। जेल से छूटने के बाद फिर वह पहली पत्नी को छोड़ने का दबाव दे रहा था। इसी वजह से सुफिया को प्लानिंग के साथ जंगल ले गया, जहां गला काटकर हत्या कर दी और सिर को धड़ से अलग कर दिया था।

आरोपित बेलाल सुफिया को यह कहकर पतरा जंगल ले गया कि वहां पहली पत्नी की हत्या कर देगा, लेकिन उल्टे सुफिया का पहले गला घोंटकर मार डाला फिर धारदार दाउली से गला रेतकर उसका सिर धड़ से अलग कर दिया था। इसके बाद सिर को प्लास्टिक के बैग में भरकर अपने घर से कुछ दूरी पर एक खेत में सिर को गाड़ दिया था। सुफिया के निर्वस्त्र करने के बाद कपड़े भी अपने साथ ले गया था। जिसे वह जला डाला था। पुलिस ने बेलाल के घर से कपड़ों का जला हुआ अवशेष और घटना में इस्तेमाल की गई धारदार दाउली को भी बरामद कर लिया है। पुलिस ने दाउली और कपड़ों के जले हुए अवशेष को को एफएसएल जांच के लिए भेजेगी। इधर, पुलिस ने आरोपित बेलाल से पूरी घटना का सीन रीक्रिएट करवाया। आरोपित को पुलिस वहां लेकर गई, जहां सुफिया की हत्या की गई थी। वहां से सिर को गाड़ने वाले जगह पर भी लेकर पुलिस गई। घटना के हर स्टेप का पुलिस ने सीन रीक्रिएशन करवाई। सीन रीक्रिएट करवाने ग्रामीण एसपी नौशाद आलम, डीएसपी मुख्यालय वन नीरज कुमार, डीएसपी चंद्रशेखर आजाद सहित अन्य एसआईटी में शामिल अन्य पुलिसकर्मी और अधिकारी शामिल थे।

बेलाल और पत्नी को एक साथ रखकर की जा रही पूछताछ

जघन्य हत्या का आरोपित शेख बेलाल और उसकी पत्नी साबो खातून को एक साथ रखकर अब पुलिस पूछताछ कर रही है। ताकि दोनों से अलग अलग हुई पूछताछ में सामने आए तथ्य आमने-सामने से भी स्पष्ट हो सके। गौरतलब हो की तीन जनवरी को अज्ञात युवती की लाश मिलने के बाद 12 जनवरी को युवती का सिर रांची के पिठौरिया थाना क्षेत्र के चंदवे बस्ती स्थित खेत से बरामद किया था। सिर को खेत में दफना दिया गया था, उसमें नमक डाला था ताकि सिर पूरी तरह गल जाए।

आज आ सकती है डीएनए रिपोर्ट

बीते तीन जनवरी को जिराबेड़ा पलाश पतरा जंगल में युवती की सिर कटी निर्वस्त्र लाश मिली थी। सिर को नमक डालकर नष्ट करने की तैयारी थी। इधर, चान्हो के चटवल में रहने वाले सुफिया के माता-पिता से डीएनए मैच कराने की प्रक्रिया जारी है। आज शुक्रवार को यह रिपोर्ट जारी की जा सकती है। रिपोर्ट आने के बाद ही सुफिया की स्पष्ट पहचान होगी। इसके बाद उसका शव परिजनों को सौंपा जाएगा। खून से सना युवती का सिर कटा शव मिलने के बाद पुलिस ने सिर खोजने के लिए अथक प्रयास किए।

इसके लिए 400 पुलिसकर्मियों को जंगल में सिर ढूंढने के लिए लगाया गया था। पुलिस मुख्यालय की ओर से पुलिस को मात्र 15 दिन का ही समय मिला था, लेकिन पुलिस ने 12 दिनों के भीतर ही पूरे मामले का उदभेदन करते हुए आराेपित को भी दबोच लिया। युवती की लाश मिलने के बाद लोग आक्रोशित हो गए थे। इसी मामले में रांची के किशोरगंज चौक पर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन का काफिला रोकने की कोशिश की। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ पुलिस की झड़प हुई। इसमें पुलिस को भी चोटें आई थी। गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई थी।

पुलिस ने की थी इनाम की घोषणा

युवती की सिर कटी लाश मिलने के बाद सिर खोजने वाले को 5 लाख का इनाम देने की घोषणा की थी। अब सूचना देने वालों को पुलिस घोषणा के मुताबिक ईनाम भी देगी। बीते तीन जनवरी को ओरमांझी के जंगल में युवती की सिर कटी लाश मिली थी। काफी जद्दोजहद के बाद पुलिस ने युवती के सिर को बरामद किया था। घटनास्‍थल पर स्निफर डॉग को भी ले जाया गया था।

अबतक की घटनाक्रम

3 जनवरी : ओरमांझी थाना क्षेत्र के जीराबार पलाश पतरा जंगल सिर कटा युवती का शव बरामद हुआ था।

4 जनवरी : एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने युवती और अपराधियो की सूचना देने वाले को 25 हजार ईनाम देने की घोषणा की थी।

5 जनवरी : आईजी अखिलेश कुमार झा ने ईनाम राशि बढ़ाकर 50 हजार रुपया कर दिया था।

6 जनवरी : पुलिस ने युवती के स्वाब और नाखून को एफएसएल के लिए भेजा था।

7 जनवरी : पुलिस ने घटनास्थल की जांच एफएसएल टीम से कराई और युवती की सिर खोजने के लिए सर्च अभियान चलाया।

8 जनवरी : एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने युवती के कटे हुए सिर की तलाश के लिए सर्च अभियान चलाया और इनाम राशि 50 हजार से बढ़ाकर पांच लाख कर दिया गया।

10 जनवरी : चान्हाे थाना क्षेत्र के चटवल गांव के रहने वाले एक दंपती ने युवती को अपनी बेटी बताकर दावा किया।

11 जनवरी: रांची पुलिस ने मुख्य आरोपित शेख बिलाल को हत्या का आरोपित बताकर उसकी तस्वीर जारी की।

12 जनवरी : शेख बेलाल के खेत से रांची पुलिस ने युवती का कटा हुआ सिर बरामद किया।

14 जनवरी : आरोपित शेख बेलाल को पुलिस ने सिकिदरी रोड में ऑटो से किया गिरफ्तार।

14 जनवरी : आरोपित शेख बेलाल को लेकर पुलिस घटनास्थल पर गई, जहां पूरी क्राइम सीन रीक्रिएट करवाया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.