दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

रांची के बाल सुधार गृह में चारदीवारी लांघकर गांजा, सिगरेट, खैनी पहुंचाता था दुकानदार FIR

Ranchi News, Jharkhand News: रांची के बाल सुधार गृह में गांजा, सिगरेट, खैनी पहुंचाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।

Ranchi News Jharkhand News रांची के डुमरदगा बाल सुधार गृह में चारदीवारी के ऊपर से फेंककर गांजा सिगरेट खैनी पहुंचाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस मामले में रांची पुलिस ने एक दुकानदार पर प्राथमिकी दर्ज की है।

Alok ShahiMon, 17 May 2021 04:45 AM (IST)

रांची, राज्य ब्यूरो। Ranchi News, Jharkhand News पूरे राज्य में स्वास्थ्य जागरूकता सप्ताह पर सख्ती बरती जा रही है। अनिवार्य सेवाओं से संबंधित दुकानों को छोड़कर अन्य दुकानें बंद हैं। इसके बावजूद रांची के सदर थाना क्षेत्र में डुमरदगा स्थित बाल सुधार गृह (संप्रेषण गृह) में एक दुकानदार चारदीवारी के बाहर से नाबालिगों तक गांजा, सिगरेट, खैनी आदि फेंककर पहुंचाता था।

गत 10 मई की शाम पौने छह बजे भी दुकानदार ने जैसे ही गांजा, सिगरेट, खैनी आदि पहुंचाने की कोशिश की, वहां सुरक्षा में तैनात सैप के जवानों ने उसे देख लिया। जब तक वह जवान उसे पकड़ते, वह भाग निकला था। इस मामले में बाल सुधार गृह के समादेशक के बयान पर रांची के सदर थाने में आरोपित सुगरी पान दुकान के संचालक रामजी के विरुद्ध 14 मई को प्राथमिकी दर्ज की गई है। रामजी बाल सुधार गृह के बगल में ही गुमटी चलाता है।

दर्ज प्राथमिकी में बताया गया है कि सैप के दो जवानों ने रामजी को सामान फेंकते हुए देखा था। जब जवानों ने जब्त सामान को देखा तो वे दंग रह गए। उक्त सामान में दो पॉकेट गांजा, 40 पॉकेट खैनी, 40 पॉकेट बीड़ी, 58 पीस गुटखा, 86 पीस रोज सुपारी, दो पैकेट सरसो तेल, 32 पाउच सैंपू, 12 पैकेट बिस्कुट, 20 पीस मिक्सचर शामिल था। समादेशक ने सदर थानेदार से उक्त दुकान को हटाने का अनुरोध किया है।

गौरतलब है के पूर्व में कई बार बाल सुधार गृह के बंदी चारदीवारी फांदकर भाग चुके हैं। इसे देखते हुए ही बाल सुधार गृह प्रबंधन ने बाल सुधार गृह के छत पर दो निगरानी पोस्ट बनाया है, जिसपर सैप के दो जवान लगातार निगरानी करते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.