रांची का कुख्यात अपराधी कृष्णा नायक को पुलिस ने दबोचा, नक्‍सलियों से सांठ-गांठ, बना रखी है गुंडों की फौज

Ranchi News: होटल कृष्णा प्रेसिडेंसी का मालिक कृष्णा नायक पिठोरिया इलाके से दबोचा गया।

Ranchi News होटल कृष्णा प्रेसिडेंसी को कृष्णा नायक द्वारा बनवाया गया है। उसमें उग्रवादियों का पैसा भी इन्वेस्ट हुआ है। विशेष तौर पर पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप का पैसा इन्वेस्ट किए जाने की बात पुलिस को पता चली है। कृष्णा नायक पिठोरिया इलाके से दबोचा गया।

Alok ShahiFri, 07 May 2021 09:07 PM (IST)

रांची, जासं। Ranchi News रांची पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पिठोरिया थाने की पुलिस ने हत्या के मामले में फरार कुख्यात अपराधी कृष्णा नायक को दबोच लिया है। वह करीब तीन महीने से फरार चल रहा था। इस बीच रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को सूचना मिली कि कृष्णा नायक पिठोरिया इलाके में घूम रहा है। इस सूचना के आधार पर ग्रामीण एसपी नौशाद आलम के मार्गदर्शन में पिठोरिया थाना प्रभारी रवि शंकर के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। पुलिस की टीम उसकी तलाश में जुटी थी। 

इस बीच पिठोरिया थाना प्रभारी रविशंकर को जानकारी मिली कि कृष्णा नायक पिठोरिया बाजार के पीछे स्थित अपने निर्माणाधीन मकान पर पहुंचा हुआ है। इसकी जानकारी मिलते ही पिठोरिया थाना प्रभारी खुद उसे पकड़ने के लिए सादे लिबास में निकल पड़े। बाद में पिठोरिया थाने के अन्य सबइंस्पेक्टरों को बुलाया। जहां, कृष्णा पहुंचा था, वहां चारों ओर से घेराबंदी कर कृष्णा को दबोच लिया। पुलिस को देखकर कृष्णा ने भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने खदेड़ कर उसे दबोच लिया। फिलहाल पुलिस कृष्णा नायक से पूछताछ कर रही है।

पुलिस के अनुसार कृष्णा नायक में बीते 17 फरवरी 2021 को सरस्वती पूजा विसर्जन जुलूस के दौरान पारसनाथ बेदिया नाम के अधेड़ व्यक्ति की हत्या करा दी थी। अपनी पिस्टल अपने राइट हैंड मिथुन नायक हो देकर पारसनाथ की हत्या करने के लिए भेजा था। इसके बाद मिथुन ने विसर्जन जुलूस की आड़ में  पूरी प्लानिंग के साथ पारसनाथ की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

पारसनाथ के कान के पास सटाकर गोली मारी गई थी। जबकि पिस्टल की बट से मारकर उसका सिर भी फाड़ दिया था। इस मामले में मिथुन नायक को पुलिस ने दबोच लिया था। पकड़े जाने के बाद मिथुन ने खुलासा किया था कि उसने कृष्णा नायक के इशारे पर ही पारसनाथ की गोली मारकर हत्या की थी। फिलहाल मिथुन नायक जेल में बंद है। कृष्णा नायक का उग्रवादी संगठन पीएलएफआई से भी कनेक्शन है। इस बिंदु पर भी पुलिस जांच कर रही है।

गिरफ्तार नहीं कर पा रहे थे पूर्व थानेदार, नए थानेदार ने आते ही पकड़ा

17 फरवरी 2021 को पारसनाथ बेदिया की हत्या के बाद से ही कुख्यात कृष्णा अंडरग्राउंड हो गया था। उसे पिठोरिया के पूर्व थाना प्रभारी गिरफ्तार नहीं कर पा रहे थे। उसकी गिरफ्तारी नहीं होने पर कई तरह की चर्चा हो रही थी। पुलिस की छवि भी धूमिल हो रही थी। इस बीच नए थाना प्रभारी रविशंकर ने ज्वाइन करते ही इस हत्याकांड को प्राथमिकता पर रखा और अपने योगदान के 20 दिनों के भीतर कृष्णा नायक को दबोच लिया।

होटल कृष्णा रेसिडेंसी में उग्रवादियों का पैसा इन्वेस्ट होने की बात आ रही सामने

पुलिस को जानकारी मिली है कि जिस होटल कृष्णा प्रेसिडेंसी को कृष्णा नायक द्वारा बनवाया गया है। उसमें उग्रवादियों का पैसा भी इन्वेस्ट हुआ है। विशेष तौर पर पीएलएफआइ सुप्रीमो दिनेश गोप का पैसा इन्वेस्ट किये जाने की बात पुलिस का पता चली है। इस बिंदु पर पुलिस जांच कर रही है। इसके अलावा पुलिस को यह भी इनपुट मिला है कि कृष्णा नायक हथियारों का सप्लायर है। वह पिठौरिया सहित कई इलाकों में हथियारों की सप्लाई भी करता रहा है। पुलिस इन बिंदुओं पर गहनता से पूछताछ कर रही है। पुलिस के अनुसार वह इलाके में विवादित जमीन पर कब्जा दिलाने का भी काम करता है। इसके लिए अवैध हथियार और कुख्यात लोगों की टीम लेकर काम करता रहा है।

जमीन के लिए कराई थी पारसनाथ की हत्या

पुलिस के अनुसार पारसनाथ की हत्या की योजना कृष्णा नायक ने हीं बनाया था। क्योंकि कृष्णा नायक द्वारा पिठोरिया थाने से कुछ ही दूरी पर कृष्णा रेजिडेंसी नाम का एक होटल बनाया गया है। उस होटल से पीछे एक बेशकीमती जमीन है, उस जमीन पर कृष्णा कब्जा करना चाहता था। इस कब्जा का पारसनाथ बेदिया सहित अन्य लोग विरोध करते थे। इसी वजह से कृष्णा ने उसे रास्ते से हटाने का प्लान किया और मिथुन नायक को सरस्वती पूजा की आड़ में घटना को अंजाम देने की जिम्मेवारी दे दी थी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.