Ranchi Municipal Corporation: डोर टू डोर कचरा उठाव के लिए नगर निगम बांटेगा 10000 डस्टबिन

Ranchi Municipal Corporationरांची नगर निगम डोर टू डोर कचरा उठाव(Door To Door Garbage Collection) व्यवस्था को मजबूत करने के लिए 10 हजार डस्टबिन(Dustbins) का वितरण करने जा रहा है। इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण में रांची(Ranchi) आठ पायदान नीचे सरक गई है।

Sanjay KumarWed, 01 Dec 2021 02:32 PM (IST)
Ranchi Municipal Corporation: डोर टू डोर कचरा उठाव के लिए नगर निगम बांटेगा 10000 डस्टबिन

रांची जासं। Ranchi Municipal Corporation: रांची नगर निगम डोर टू डोर कचरा उठाव(Door To Door Garbage Collection) व्यवस्था को मजबूत करने के लिए 10 हजार डस्टबिन(Dustbins) का वितरण करने जा रहा है। यह डस्टबिन डोर टू डोर कचरा उठाव व्यवस्था करने वाली एजेंसी सीडीसी(CDC) के जरिए बांटी जाएगी। डस्टबिन बांटने का काम दिसंबर के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। रांची नगर निगम(Ranchi Municipal Corporation) ने एजेंसी को निर्देश दिया है कि वह 15 दिसंबर से डस्टबिन बांटने का काम शुरू कर दे।

लोग सूखा कचरा और गीला कचरा अलग-अलग करें इकट्ठा:

अभी डोर टू डोर कचरा उठाव की गाड़ी जब राजधानी के विभिन्न मोहल्लों में जाती है तो बहुत से लोग प्लास्टिक की थैलियों में कचरा लाकर गाड़ी में डालते हैं। सारा कचरा एक ही जगह होता है। जो लोग डस्टबिन में लाकर डालते हैं, उनमें से भी कुछ लोगों के पास एक ही डस्टबिन है। ये लोग सूखा और गीला कचरा एक ही डस्टबिन में जमा करते हैं। जबकि, सूखा और गीला कचरा(Dry And Wet Waste) अलग-अलग डस्टबिन में जमा करना है। इसके लिए प्रत्येक घर में दो डस्टबिन होनी चाहिए। इसीलिए रांची नगर निगम ने अब लोगों को डस्टबिन बांटने की योजना बनाई है। एक घर को दो डस्टबिन दी जाएगी। एक सूखे कचरे के लिए और एक गीले कचरे के लिए। ताकि, लोग सूखा कचरा और गीला कचरा अलग-अलग इकट्ठा करें और डोर टू डोर कचरा उठाव करने वाली गाड़ी को दें।

स्वच्छ सर्वेक्षण में राजधानी रांची आठ पायदान नीचे:

इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण में राजधानी रांची आठ पायदान नीचे सरक गई है। अगले स्वच्छ सर्वेक्षण में राजधानी को अच्छे अंक मिलें। इसके लिए नगर निगम ने अभी से ही कोशिश शुरू कर दी है। इसी के चलते डोर टू डोर कचरा उठाव व्यवस्था को मजबूत किया जा रहा है। रांची नगर निगम 100 छोटी गाड़ियां भी खरीद कर डोर टू डोर कचरा उठाव एजेंसी को देगी। अभी घर घर से कचरा उठाव 203 छोटी गाड़ियों से हो रहा है। 100 गाड़ियां खरीदने के बाद 303 गाड़ियां हो जाएंगी। साथ ही 15 दिसंबर तक सभी घरों में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन चिप लगाने का भी का काम पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.