Puja Bharti Murder Case: मेडिकल छात्रा पूजा का फेसबुक अकाउंट डिलीट, हत्‍या का राज गहराया

Puja Bharti Murder Case: मेडिकल छात्रा पूजा भारती की हत्‍या पतरातू डैम में जिंदा डुबोकर कर दी गई।

Puja Bharti Murder Case हजारीबाग मेडिकल कॉलेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे की हत्या मामले में तीसरे दिन भी पुलिस की जांच अलग-अलग स्थानों पर चली। अब छात्रा के फेसबुक एकाउंट की भी जांच की जा रही है। हालांकि छात्रा का फेसबुक अकाउंट डिलीट किया हुआ है।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 12:26 AM (IST) Author: Alok Shahi

हजारीबाग, जासं। Puja Bharti Murder Case हजारीबाग के शेख भिखारी मेडिकल कॉलेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे की हत्या मामले में तीसरे दिन भी पुलिस की जांच अलग-अलग स्थानों पर चली। जांच का तकनीकी दायरा भी बढ़ता जा रहा है। अब छात्रा के फेसबुक एकाउंट की भी जांच की जा रही है। उसके डाटा के लिए फेसबुक को पत्र भी लिखा गया है। बताया जाता है कि छात्रा का फेसबुक अकाउंट भी डिलीट किया हुआ है। हालांकि इस संबध में किसी ने कोई अधिकारिक बयान नहीं दिया है।

इधर हजारीबाग में यह जांच मेडिकल कालेज हास्टल के अलावा सहपाठियों के साथ छात्रा के आचरण और स्वभाव को लेकर दिनभर पूछताछ हुई। छात्रा की  हत्या को लेकर मेडिकल कालेज में भी डर का माहौल है। शाम ढलते ही छात्रावास शांत हो जा रहा है। बता दें कि तीन दिन पहले पतरातू डैम में मेडिकल छात्रा पूजा का शव हाथ-पैर बंधा हुआ तैरता मिला था। जबकि पुलिस को शक है कि उसे जिंदा डुबोकर मार दिया गया।

मेडिकल छात्रा की हत्या का भेद नहीं खोल पाने पर भाजपा ने उठाए सवाल

हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा भारती की हत्या पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि इस राज्य में होनहार बेटियां भी अपराधियों के निशाने पर हैं। अपराधियों में कानून का डर समाप्त हो चुका है। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम से स्पष्ट हो रहा है कि मेडिकल छात्रा के हाथ-पैर बांधकर उसे ङ्क्षजदा ही डैम में फेंक दिया गया होगा। पुलिस यथाशीघ्र इस हत्याकांड में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार करे, नहीं तो भाजपा सड़क पर उतर कर आंदोलन करने को विवश होगी।

उन्होंने कहा कि हत्या की इस घटना के बाद पूरे राज्य में कांग्रेस व झामुमो सरकार के खिलाफ आक्रोश है। उन्होंने डीजीपी को निशाने पर लेते हुए कहा कि पुलिस के मुखिया सरकार के कार्यकर्ता बनकर जवाब देने के बजाय  कानून व्यवस्था पर लगाम लगाने का कार्य करें। राज्य की कानून व्यवस्था लगाम से बाहर है और डीजीपी बयानबाजी में लगे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.