top menutop menutop menu

झारखंड में अब वर्चुअल राजनीति पर भी ब्रेक, कोरोना के खौफ से नेताओं ने बनाई दूरियां

झारखंड में अब वर्चुअल राजनीति पर भी ब्रेक, कोरोना के खौफ से नेताओं ने बनाई दूरियां
Publish Date:Fri, 10 Jul 2020 11:23 AM (IST) Author: Sujeet Kumar Suman

रांची, राज्य ब्यूरो। झारखंड में कोरोना का खौफ तमाम राजनीतिक दलों के सिर चढ़कर बोल रहा है। इससे विभिन्न राजनीतिक दलों की राजनीति पर ब्रेक लग गया है। हालांकि अनलॉक की घोषणा के बाद सतर्कता बरतते हुए प्रमुख दलों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग समेत अन्य वर्चुअल माध्यमों से राजनीतिक अभियान तेज किया था। भारतीय जनता पार्टी ने इसका अधिकाधिक उपयोग करते हुए कई वर्चुअल रैलियां की।

भाजपा की सहयोगी आजसू पार्टी ने संगठन का स्थापना दिवस ऑनलाइन मनाया। आजसू प्रमुख सुदेश महतो ने इसी माध्यम का उपयोग संदेश देने के लिए किया। सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा की सांगठनिक गतिविधियां शिथिल पड़ गई थीं। इसे गति देने के लिए मोर्चा की केंद्रीय समिति ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तमाम 24 जिला कमेटियों से बैठक की योजना बनाई।

इसकी शुरूआत भी हुई, लेकिन हाल के दिनों में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी को देखते हुए फिलहाल बैठक रद कर दिया गया है। झामुमो महासचिव विनोद पांडेय के मुताबिक जल्द ही नए सिरे से वीडियो कांफ्रेंसिंग की तिथि तय की जाएगी। दरअसल, राज्य सरकार के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर और टुंडी के विधायक मथुरा प्रसाद महतो के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद राजनीतिक दलों में हड़कंप मचा हुआ है।

एहतियातन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और कई विधायक व सांसद भी होम क्वारंटाइन हो गए हैं। झामुमो, भाजपा और कांग्रेस ने अपने आगामी कार्यक्रमों को स्थगित करते हुए कार्यालयों को बंद कर दिया है। सभी दफ्तरों में नो एंट्री लगा दी गई है।

टल चुका है दुमका उपचुनाव

कोरोना संक्रमण की वजह से राज्य विधानसभा का बजट सत्र समय के पहले स्थगित करना पड़ा। इसके अलावा दुमका विधानसभा उपचुनाव भी टल गया है। नियमानुसार पांच जुलाई तक यहां उपचुनाव होना चाहिए था, लेकिन कोरोना संक्रमण की भयावहता को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने चुनाव की घोषणा नहीं की है।

गौरतलब है कि दो सीटों से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका विधानसभा क्षेत्र से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि झामुमो ने निर्वाचन आयोग के समक्ष गुहार लगाई थी कि चुनाव नियत समय पर कराया जाए। संभावना जताई जा रही है कि दुमका और बेरमो विधानसभा क्षेत्र का उपचुनाव एक साथ कराया जाएगा। राजेंद्र प्रसाद सिंह के असामयिक निधन के कारण बेरमो में उपचुनाव की नौबत आई है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.