एजेंट पत्नी के लिए शिक्षकों पर दबाव डालकर बीमा कराते थे प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, बर्खास्त...

प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी राजेंद्र प्रसाद शर्मा को बर्खास्त कर दिया गया है।

झारखंड से चौंकाने वाली खबर है। यहां एक सरकारी पदाधिकारी ने अपनी पत्‍नी बीमा एजेंट का धंधा चमकाने के लिए अपने विभाग से जुड़े लोगों पर दबाव बनाकर जबरन बीमा कराया। मामला राजधानी रांची के समीपवर्ती पतरातू का है।

Publish Date:Thu, 14 Jan 2021 04:28 AM (IST) Author: Alok Shahi

रांची, राज्य ब्यूरो। झारखंड से चौंकाने वाली खबर है। यहां एक सरकारी पदाधिकारी ने अपनी पत्‍नी, बीमा एजेंट का धंधा चमकाने के लिए अपने विभाग से जुड़े लोगों पर दबाव बनाकर जबरन बीमा कराया। मामला राजधानी रांची के समीपवर्ती पतरातू का है। जहां शिक्षा विभाग के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने शिक्षकों पर नाहक दबाव डालकर अपनी एजेंट पत्‍नी के लिए बीमा करवाया। मामाले की जानकारी होने के बाद मुख्‍यालय में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में जांच कराई गई। अब मामले की पुष्टि होने के बाद सरकारी अफसर को बर्खास्‍त कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक पतरातू के प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी राजेंद्र प्रसाद शर्मा को बर्खास्त कर दिया गया है। राजेंद्र प्रसाद अपनी एजेंट पत्नी के लिए शिक्षकों पर दबाव डालकर बीमा कराते थे। जांच में पुष्टि होने के बाद उन्हें बर्खास्त किया गया। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्राथमिक शिक्षा निदेशालय के स्तर से जारी आदेश में कहा गया कि राजेंद्र प्रसाद द्वारा लालचवश एवं पद का दुरुपयोग किए जाने संबंधी प्रमाणित आरोपों को देखते हुए उन्हें सेवा से बर्खास्त किया जाता है।

सिसई के दिलेश्वर लोहरा को जीतराम वेदिया कला संस्कृति सेवा सम्मान

रांची के आड्रे हाउस में संपन्न दस दिवसीय जनजातीय पेंटिंग कार्यशाला के समापन पर गुमला जिले के सिसई निवासी मूर्तिकार व चित्रकार दिलेश्वर लोहरा को जीतराम वेदिया कला संस्कृति सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया। सिसई के पहामू निवासी दिलेश्वर लोहरा ने वर्ष 1990 में कला एवं शिल्प महाविद्यालय पटना में दाखिला लिया। मूर्ति कला में स्नातक करने के बाद बोकारो में आसस विद्यालय में आदिवासी छात्र एवं छात्राओं को कला एवं शिल्प विषय पर प्रशिक्षण दिया करता थे।

झारखंड राज्य गठन के बाद बोकारो सेक्टर 12 में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय कर्पूरी ठाकुर, आदिवासी आश्रम में बिरसा मुंडा की प्रतिमा, लोहरदगा में स्वतंत्रता सेनानी बुधन ङ्क्षसह, शिवशंकर राम आर्य स्वर्गीय छेदीलाल आजाद की मूर्ति बनाई है। दिलेश्वर कहते हैं कि वे अपने दादा के पारंपरिक लोहा के कार्य को देखते थे और उन्हीं से उन्हें मूर्ति कला की प्रेरणा मिली।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.