top menutop menutop menu

पी चिदंबरम का भाजपा पर तंज, हरियाणा में डेंट-महाराष्‍ट्र में डिनाई, झारखंड में डिफीट करेंगे Jharkhand Election 2019

रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 आइएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में जमानत पर छूटे पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने भाजपा के उस आरोप पर पलटवार किया है जिसमें उनके जमानत के आदेश पर सवाल उठाए गए हैैं। यहां कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के लिए शुक्रवार को वोट की अपील करने पहुंचे चिदंबरम ने कहा कि भाजपा के नेताओं को आरोप लगाने के पहले सुप्रीम कोर्ट के जमानत आदेश को ठीक से पढ़ लेना चाहिए। चिदंबरम ने हैदराबाद में दुष्कर्मियों के मुठभेड़ में मारे जाने की घटना को जांच का मसला बताया। कहा कि मुठभेड़ असली है या फर्जी, यह तो तफ्तीश से ही पता चलेगा।

लगे हाथों उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार पर निशाना साधा और कांग्रेस के घोषणापत्र के कुछ बिंदुओं को उठाते हुए वोट की अपील की। देश की अर्थव्यवस्था को उन्होंने खतरे में करार दिया और यह भी दावा किया कि केंद्र की मोदी सरकार और झारखंड में मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व वाली सरकार नाकाबिल है। कांग्रेस मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन के दौरान पी चिदंबरम कई सवालों से पीछा छुड़ाते भी नजर आए। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस को चुनाव के इर्दगिर्द ही रखने का आग्रह किया।

चिदंबरम ने दावा किया कि कांग्रेस अपने सहयोगी दलों झारखंड मुक्ति मोर्चा और राजद के साथ मिलकर झारखंड में एक काबिल सरकार देगी, लेकिन इस सवाल का जवाब नहीं दे पाए कि आखिरकार कैसे कांग्रेस जेल में बंद लालू प्रसाद और कभी भाजपा की सहयोगी रही झारखंड मुक्ति मोर्चा के साथ काबिल सरकार का दावा कर रहे हैैं। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा द्वारा कांग्रेसियों 'बेल-गाड़ी' पर सवार बताए जाने पर उन्होंने कहा कि भाजपा को जवाब देना चाहिए कि झारखंड में कितने रोजगार पैदा किए। सरकारी नौकरियां खाली पड़ी हैं। सरकार ने 4000 से ज्यादा स्कूल बंद कर दिए हैं। 

हरियाणा में डेंट किया, झारखंड में डिफीट करेंगे

हरियाणा-महाराष्ट्र के हालिया विधानसभा चुनाव के नतीजों से पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम उत्साहित दिखे। उन्होंने दावा किया कि हरियाणा में हमने भाजपा को डेंट किया (नुकसान पहुंचाया), महाराष्ट्र में डिनाई किया (रास्ता रोका) और अब झारखंड में भाजपा को डिफीट कर सत्ता से बाहर करेंगे। उन्होंने झारखंड के मुद्दों पर प्रहार करते हुए यह दावा भी कर डाला कि यहां 20 हजार से ज्यादा भुखमरी के मामले सामने आए हैैं। हालांकि इसके पक्ष में वे कोई ठोस तर्क और तथ्य नहीं दे पाए।

आगे कहा, जिस देश में अनाज की इतनी पैदावार होती है वहां लोगो का भुखमरी का शिकार होना शर्मनाक है। कहा, झारखंड की रघुवर दास सरकार नाकाबिल और भयंकर कुप्रबंधन की शिकार है। झारखंड की प्रति व्यक्ति आय देश भर में 28वें पायदान पर है। यहां गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। 2014-15 में राज्य का कर्ज 43 हजार करोड़ था जो वर्ष 2018-2019 में बढ़कर 85 हजार करोड़ हो गया है। झारखंड की विकास दर दो फीसद नीचे गिर गई है। 

विकास दर पांच प्रतिशत के नीचे जाएगी

मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए पी चिदंबरम ने कहा कि उसकी नीतियों से देश की अर्थव्यवस्था भारी संकट में है। उन्होंने इस संकट को काफी गहरा करार दिया और राष्ट्रीय विकास दर पांच प्रतिशत के भी नीचे जाने की आशंका जताई। कहा कि रिजर्व बैंक ने इसी वर्ष फरवरी में देश का विकास दर 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था और सिर्फ दस माह बाद दिसंबर में पांच प्रतिशत विकास दर की बात कही है। 10 माह के भीतर इतनी अधिक गिरावट विकास दर में कभी नहीं देखी गई। देश की अर्थव्यवस्था नाकाबिल लोगों के हाथ में है। यह भी कहा कि सकल घरेलू उत्पाद का विकास दर पांच प्रतिशत से नीचे खिसक गया है। यह देश के लिए गंभीर स्थिति है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.