घर में चल रही थी शादी की तैयारी, ड्यूटी पर तैनात पुलिस जवान ने इंसास रायफल से खुद को उड़ाया

ड्यूटी के दौरान इंसास रायफल से खुद को गोली मारने वाले देवेश की फाइल फोटो। जागरण

रांची के बुढ़मू थाने में तैनात पुलिस जवान ने ड्यूटी के दौरान खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। घटना सुबह 4 से 6 बजे के बीच की है। संतरी ने अपने इंसास रायफल से गर्दन में सटा कर गोली मारी जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 11:05 AM (IST) Author: Vikram Giri

रांची, जासं । रांची के बुढ़मू थाने में तैनात पुलिस जवान ने ड्यूटी के दौरान खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। बुढमू थाने में संतरी के पथ में पदस्थापित देवेश प्रसाद ने खुद को अपने इंसास राइफल से गर्दन मे सटा कर गोली मार ली, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। 2018 बैच के सिपाही देवेश बुढ़मू थाने में ही पदस्थापित थे। थाना प्रभारी सिद्धेशवर महथा ने बताया कि रविवार सुबह चार बजे से उनकी डयूटी थी। इधर, देर शाम चार बजे तक पुलिस मामले की छानबीन करती रही। इसी बीच देवेश के परिजनों व स्थानीय ग्रामीणों ने करीब आधे घंटे बुढ़मू मुख्य पथ पर प्रदर्शन किया व सड़क जाम कर दिया।

दरअसल, जांच के दौरान थाना प्रभारी ने गोली चलने की अवाज नही सुनाई देने की बात कही। इसी पर वे उग्र हो गए व थाना के समीप बुढमू राय रोड को जाम कर दिया। और थाना प्रभारी को सस्पेंड करने की मांग ग्रामीण एसपी से करने लगे। हालांकि बाद में ग्रामीण एसपी नौसाद आलम के समझने के बाद जाम खत्म हुआ।

गौरतलब है कि इससे पहले सुबह मार्निंग वॉक से लौटने के बाद अन्य साथियों ने देवेश की खोजबीन शुरू की। कुछ पता नहीं चलने पर  छत में आकर देखा तो देवेश मृत पड़ा हुआ था। घटना की सूचना मिलने पर खलारी डीएसपी मनोज कुमार थाना पहुंचें और छानबीन में जुट गए। मृतक रातू थाना के हिसरी गांव का निवासी है। मृतक के बडे़ भाई नंद किशोर प्रसाद ने बताया कि 21 मई को उसकी शादी होने वाली थी। घर में जोर-शोर से शादी की तैयारियां चल रही है।

भाई ने यह भी बताया कि कल देवेश ने घर वालों से बातचीत भी की थी। उसने बताया था कि कल उसे घर जाना था। इधर, ग्रामीण एसपी भी बुढ़मू थाना पहुंच कर मामले की छानबीन कर रहे हैं। एफएसीएल की टीम रांची से आने के बाद शव को उतारा जाएगा।

परिजन आत्महत्या पर कर रहे सवाल खड़े

जिस प्रकार जवान का शव कुर्सी पर पड़ा था परिजन उसपर सवाल खड़े कर रहे हैं व थाना में डीजीपी को बुलाने की मांग कर रहे थे।परिजनों की मानें तो जवान की शादी तय थी व घर मे किसी प्रकार का कोई तनाव नहीं था ऐसे में जिस प्रकार उसकी रायफल हाथ में था और वह कुर्सी में बैठा था वह आत्महत्या नहीं हत्या को दर्शाता है। उन्होंने निष्पक्ष जांच की मांग किया है। रांची से एफएसीएल की टीम रांची से आने के बाद शव को उतारा जाएगा।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.