रिम्स के 16 वार्डों में ऑक्सीजन सिस्टम तैयार कर रही एनटीपीसी

रिम्स के 16 वार्डों में ऑक्सीजन सिस्टम तैयार कर रही एनटीपीसी। जागरण

एनटीपीसी (नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन) की पकरी बरवाडीह कोयला खनन परियोजना ने रिम्स को 45 लाख रुपए की मदद दी है। इस रकम से अस्पताल के 16 वार्डों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। 332 बेड पर ऑक्सीजन पाइपलाइन बिछाई जा रही है।

Vikram GiriThu, 06 May 2021 12:25 PM (IST)

रांची, जासं । एनटीपीसी (नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन) की पकरी बरवाडीह कोयला खनन परियोजना ने रिम्स  को  45 लाख रुपए की मदद दी है। इस रकम से अस्पताल के 16 वार्डों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। 332 बेड पर ऑक्सीजन पाइपलाइन बिछाई जा रही है। रिम्स में चार मंजिला इमारत में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए एनटीपीसी ने यह कदम उठाया है।

वर्तमान में 150 बेड को मरीजों की भर्ती के लिए इस सप्ताह के अंत तक तैयार कर लिया जाएगा। बाकी काम भी इस माह के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। इस सुविधा के आरंभ होने पर रिम्स अस्पताल में कोविड के मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा साथ ही झारखंड के आसपास के राज्यों को भी इस सुविधा से लाभ होगा।

शेख भिखारी अस्पताल में 84 वार्ड में उपलब्ध कराई गई ऑक्सीजन

हजारीबाग के शेख भिखारी अस्पताल में भी स्थानीय प्रशासन की पहल पर पकरी बरवाडीह परियोजना अस्पताल में उपलब्ध केंद्रीय ऑक्सीजन सिस्टम से जुड़े 84 वार्डों में यह सुविधा उपलब्ध करा रही है। ये काम युद्धस्तर पर किया गया और 17 अप्रैल को पूरा हुआ और कोविड रोगियों के इलाज के लिए स्थानीय प्रशासन को सौंप दिया गया ।इसके साथ ही अस्पताल में  80 ऑक्सीजन से लैस बिस्तरों को भी किसी आकस्मिक परिस्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त तौर पर तैयार किया जा रहा है।

इस कार्य पर रु.24 लाख रुपये का खर्च आएगा। ये रकम कंपनी द्वारा नैगम सामाजिक उत्तरदायित्व के अंतर्गत खर्च की जाएगी। प्रदेश में कोविड की विषम परिस्थितियों को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। इससे  अस्पतालों में अधिक से अधिक मरीजों को चिकित्सा सहायता उपलब्ध हो सके और बीमारी से लड़ने में अस्पताल और स्थानीय प्रशासन को सहयोग मिल सके।

छत्तीसगढ़ और उड़ीसा में भी मदद कर रही एनटीपीसी

इसके अतिरिक्त एनटीपीसी की छत्तीसगढ़ की तलाईपल्ली कोयला खनन परियोजना ने छत्तीसगढ द्वारा रायगढ़ जिला प्रशासन को कोविड-19 से निपटने के लिए 15 लाख रुपये की सहायता प्रदान की गई है। इस राशि से चिकित्सा उपकरण और अन्य सहायता पहुंचाई जा रही है।

एनटीपीसी की ओडिशा की दुलंगा कोयला खनन परियोजना द्वारा आस-पास के गांव में आर एंड आर के अंतर्गत 2 लाख रुपये की राशि से मास्क और सैनिटाइजर व खदान में काम करने वाले मजदूरों को 5 लाख रुपये की राशि के खाद्य पदार्थों के वितरण की योजना है। इस महामारी के कारण बाजार बंद कर दिए गए हैं, ऐसे में खदान क्षेत्र में ही उन्हें खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.